Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नर्मदा ने हजारों साल से हमें बचाया : पीएम

पीएम मोदी ने कहा, ''देश में कई नदियां हैं, लेकिन उनमें पानी नहीं है।''

नर्मदा ने हजारों साल से हमें बचाया : पीएम
X

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज नर्मदा यात्रा का समापन करने के लिए अमरकंटक पहुंचे। यहां उन्होंने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, देश में कई नदियां हैं, लेकिन उनमें पानी नहीं है। भारत की जीवनदायनी नदी नर्मदा ने अपने जल से भारत को सींचा है और भारत को जीवनदान दिया है।

मोदी ने कहा, 'नदी संरक्षण पुण्य का काम है और मां नर्मदा को बचाने के लिए पेड़ लगाने होंगे। हमें किसी भी तरह मां नर्मदा को बचाना होगा।'

नरेंद्र मोदी 11 दिसम्बर 2016 से शुरू हुई नमामि देवि नर्मदे सेवा यात्रा का 156 दिन बाद आज 15 मई को समापन कार्यक्रम में शामिल होने अमरकंटक पहुंचे हैं।

पीएम मोदी अमरकंटक में महज डेढ़ घंटे ही रहेंगे, लेकिन उनके लिए मंच के ठीक पीछे कार्यालय बनकर तैयार है। यहां पीएमओ के 22 कर्मचारी तैनात किए गए हैं। सुरक्षा के लिए लगभग 5 हजार जवान तैनात किए गए हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा कि पीएम के इस यात्रा के समापन कार्यक्रम में आने से आंदोलन का बल मिला है। यह संदेश पूरे विश्व में जाएगा। तीनों मौसम झेलते हुए लोग इस आंदोलन में शामिल हुए। जब यह यात्रा शुरू हुई तो पता नहीं था कि ऐसा जनसैलाब उमड़ेगा। व्यापक स्तर पर वृक्षारोपण जल्द शुरू होगा।

इस यात्रा में नशामुक्ति अभियान चला लोगों ने शराब छोड़ने का संकल्प लिया। नशामुक्ति से शराब बंदी का अभियान चलेगा। पीएम आज नर्मदा संरक्षण की कार्ययोजना जनता के सामने रिलीज करेंगे। 2 जुलाई को पूरे नर्मदा के तटों पर एक दिन में 6 करोड़ पेड लगाए जाएगे।

18 शहरों में ट्रीटमेंट प्लाट बनाए जाएंगे। दो साल के अंदर यह तैयार हो जाएगे। खुले में कोई भी शौच नहीं जाएगा। नर्मदा नदी तट के साफ स्वच्छ होगा। पीएम के स्वच्छ भारत के सपने केा हमने पूरा करके दिखाया हैं। इंदौर पहले और भोपाल दूसरे नंबर पर रहा है।

रेत के कारण नर्मदा मां की छाती छलनी नहीं होने दी जाएगी। अमरंकटक में खनन नहीं होगा। अवैध खनन नहीं होने दी जाएगा। हीरा भी निकले तो नर्मदा नदी से बडा कोई हीरा नहीं है। नर्मदा को बचाने के लिए कदम उठाए जाएगे। नदी कैसे सुरक्षित और संरक्षित रहे और पर्यावरण सुरक्षित रहे।

इसके लिए विवि में एक विभाग खोलेंगे। जो हमे बताएंगे कि पर्यावरण और नदी कैसे सुरक्षित रहे। नर्मदा को बचाने के लिए सरकार पीछे रहेगी और नर्मदा सेवक आगे रहेंगे। नर्मदा सेवा समिति बनेगी। एक साल बाद 15 मई को अगलेे वर्ष फिर एक बार रिपोर्ट कार्ड पेश करूंगा।

नर्मदा की जो कार्ययोजना मप्र सरकार ला रही है उसे अक्षरक्ष जमीन पर उतारेंगे। पीएम की सभा स्थल पर बाकी तैयारियों सहित भीड़ मैनेजमेंट का जिम्मा पार्टी ने मंत्रियों को सौंप रखा है। वहीं संगठन ने सभा के लिए 5 लाख की भीड जुटाने की तैयारी की है।

सीएम ने जिलों के नगर व ग्रामीण अध्यक्ष,स्थानीय संगठन महामंत्री व प्रदेश मोर्चा प्रभारियों की बैठक कर जिलों को भीड़ जुटाने का टारगेट दिया गया है। संगठन ने छोटे शहरों को नगर व ग्रामीण आबादी में से 3 से 5 हजार की संख्या में लोगों के जुटने की संभावना है।

वैसे भी इस क्षेत्र में प्रधानमंत्री की पहली यात्रा है इसीलिए भी प्रदेश के लोगों में इसको लेकर खासी कौतूहलता है। उम्मीद की जा रही है कि महानगरों व बड़े शहरों को 15 से 20 हजार लोग स्वत: अमरकंटक की ओर आएंगे। गर्मी की छुट्टी और अमरकंटक जैसे रमणीक स्थल पर जाने का बहाना भी प्रधानमंत्री की रैली को सफल बनाने को काफी होगा।

पार्टी ने सभी सांसदों और सरकार के मंत्रियों को कार्यक्रम में हर हाल में उपस्थित रहने का निर्देश जारी किया है। सभी सांसदों से अपने अपने संसदीय क्षेत्रों के लोगों को लाने के लिए कहा है। साफ निर्देश है कि दिसंबर से प्रदेशभर में निकल रही यह यात्रा समापन भव्य होना चाहिए।

पार्टी नामामि देवी नर्मदे यात्रा के सफल आयोजन के बहाने आगे की चुनावी तैयारी रोडमैप तैयार कर रही है। यहां आने वाले लोग खुले में शौच नहीं जाए इसके लिए 11 हजार बॉयो-टॉयलेट का इंतजाम किया गया है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story