Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

खूबसूरत एमबीए दुल्हन ने अपाहिज दूल्हे से रचाई शादी

गौरव कहते हैं,18 साल पहले 1998 में सविता से एक रांग नंबर लग गया, जो मेरे घर का था। फोन उठाकर जब बात की तो सविता ने पूछा कि कहां से बोल रहे हैं। मैंने मजाक में कह दिया चिडियाघर से। दोनों हंसे और फोन रख दिया। कुछ दिन बाद दोबारा फोन किया और इस तरह बातें शुरू हो गई। करीब तीन माह बाद साकेत नगर में एक दोस्त के घर के नीचे दोनों मिले। मिलने का सिलसिला बढ़ा। करीब सात साल तक ऐसे ही चलता रहा।

Next Story