Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सेंट्रल जेल के 51 कैदियों ने जेल से पास की ITI

पिछले साल बहुत समझाने के बाद केवल 55 कैदियों ने ही प्रवेश लिया था।

सेंट्रल जेल के 51 कैदियों ने जेल से पास की ITI
X

मध्य प्रदेश की उज्जैन सेंट्रल जेल में बंद 51 कैदियों ने जेल परिसर में ही स्थित आईटीआई की विभिन्न ट्रेड में प्रथम श्रेणी तथा दो ने द्वितीय श्रेणी में परीक्षा पास की है।

वर्ष 2016 में मध्यप्रदेश में पहली बार जेल के अंदर आईटीआई सेंटर की स्थापना की गई थी। इसमें चार ऐसे ट्रेड्स दोपहिया वाहन मरम्मत, ट्रैक्टर मैकेनिक, वायरमैन तथा इलेक्ट्रॉनिक्स (घरेलू उपकरण मरम्मत) चुने गए, जिनमें ग्रामीण क्षेत्रों में आसानी से रोजगार के अवसर उपलब्ध हो सकें। साथ ही कम लागत में स्वयं का व्यवसाय प्रारम्भ किया जा सके।

हालांकि, आईटीआई में केवल पुरुष कैदियों को ही प्रवेश दिया जाता है। सेंट्रल जेल के सुपरिटेंडेंट गोपाल ताम्रकार ने बताया कि जेल में सीमित वित्तीय संसाधनों और कम समय में आईटीआई की स्थापना की गई। शिक्षण के लिए गेस्ट फेकल्टी की नियुक्ति की गई।

क्लास रूम्स तथा लैब भी बनाई गईं। निरूत्साहित, अवसादग्रस्त युवा कैदियों की लगातार काउंसलिंग कर उन्हें एडमिशन के लिए प्रेरित किया गया। छह महीने की मेहनत के बाद गत माह चारों ट्रेड्स के 55 सजायाफ्ता कैदियों ने जीवन में पहली बार ऑनलाइन परीक्षा दी।

इनमें अनेक कैदी ऐसे थे, जिन्होंने कभी कम्प्यूटर देखा भी नहीं था। दोपहिया वाहन मरम्मत, ट्रैक्टर मैकेनिक, वायरमैन तथा इलेक्ट्रॉनिक्स (घरेलू उपकरण मरम्मत) जैसे ट्रेड्स की परीक्षाओं में 51 कैदी प्रथम श्रेणी में तथा दो द्वितीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए। दो कैदियों का एक-एक विषय रूका है।

नए सत्र में 108 कैदियों ने किए प्रवेश के लिए आवेदन

इन कैदियों के रिजल्ट को देख नए सत्र के लिए 108 कैदियों ने आईटीआई में प्रवेश के लिए आवेदन किया है। हालांकि, सिर्फ 84 सीट ही उपलब्ध होने से कुछ कैदियों को अगले साल तक इंतजार करना पड़ सकता है। जबकि पिछले साल बहुत समझाने के बाद केवल 55 कैदियों ने ही प्रवेश लिया था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story