Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नॉनवेज खाता है पति, पत्नी की शर्त गंगाजल से पवित्र होने के बाद ही मिलेगी घर में इंट्री, परिवार परामर्श केंद्र पहुंचा मामला

पति-पत्नी में झगड़े होना सामान्य बात हैं, लेकिन तब क्या हो जब नॉनवेज को लेकर पति की घर में एंट्री ही बंद जाए। ऐसा ही मामला इन दिनों परिवार परामर्श केंंद्र के सामने आया है।

नॉनवेज खाता है पति, पत्नी की शर्त गंगाजल से पवित्र होने के बाद ही मिलेगी घर में इंट्री, परिवार परामर्श केंद्र पहुंचा मामला
X

भोपाल। पति-पत्नी में झगड़े होना सामान्य बात हैं, लेकिन तब क्या हो जब नॉनवेज को लेकर पति की घर में एंट्री ही बंद जाए। ऐसा ही मामला इन दिनों परिवार परामर्श केंंद्र के सामने आया है। हालांकि इस मामले में दंपती में समझौता हो गया है, लेकिन समझौता जिन शर्तो पर हुआ है वह चौंका देने वाली हैं। क्योंकि पत्नि ने इस शर्त पर पति के साथ रहने की सहमति दी कि हैं वह नॉनवेज खाने के बाद स्नान और गंगा जल छिड़क कर ही घर में एंट्री करेगा।

दरअसल अशोका गार्डन की रहवासी मुस्कान (परिवर्तित नाम) बीते दिनों अपने पति के नॉनवेज खाने की शिकायत लेकर परिवार परामर्श केन्द्र पहुंची थी। काउंसलर के सामने रचना ने बताया कि उसकी शादी को तीन साल हो चुके हैं और एक साल का बेटा भी है। मुस्कान के मुताबिक उसने शादी से पहले पति से इस बात की पुष्टि की थी कि वह नॉनवेज तो नहीं खाते। उस वक्त पति ने नॉनवेज खाने की बात को साफ नकार दिया था। पत्नी के अनुसार, शादी की शुरूआत में तो उसे समझ नहीं आया, लेकिन कुछ ही दिन बाद पता लग गया कि पति नॉनवेज खाते हैं।

मुस्कान ने कहा कि यह नॉनवेज उसके सुखी दांपत्य जीवन में झगड़े की जड़ है, उसे सोच कर ही घिन आती है कि पति नॉनवेज खाकर आए होंगे। रचना ने काउंसलर से कहा कि पति की नॉनवेज खाने की आदत पर किसी भी तरह रोक लगवाए। दूसरी ओर रचना के पति सुयश के अनुसार शादी के बाद उसने नॉनवेज खाना बेहद कम कर दिया है, लेकिन जरा सी भनक भी लगने पर रचना उसे घर में आने नहीं देती। उसने बताया कि शादी के वक्त उसने ऐसा बिल्कुल नहीं सोचा था कि नॉनवेज की बात उन दोनों के बीच झगड़े का कारण बन जाएगी।

वैवाहिक जीवन में सामंजस्य जरूरी :

हालांकि इस मामले में दंपती के बीच समझौता हो गया है और वह दोनो साथ रहने के लिए राजी हो गए हैं। लेकिन हम फिर भी दंपति के संपर्क में हैं। पत्नी को अभी भी समझाईश दी जा रही है कि वैवाहिक जीवन में सामंजस्य जरूरी होता है। - मोहिब अहमद, काउंसलर, परिवार परामर्श केंद्र

शर्त पर हुआ समझौता :

काउंसलर ने इस मामले में लगातार दोनों की काउंसलिंग की और वह समझौता कराने में भी कामयाब रही। समझौते के लिए पत्नी ने पति के सामने शर्त रखी कि यदि वह नॉनवेज खाकर आता है तो पत्नी पहले घर के बाहर गंगाजल छिड़क कर उसका शुद्धिकरण करेंगी। पति घर के बाहर वाले गुसलखाने में नहाने के बाद ही घर में प्रवेश कर पाएगा। सर्दियों में रात के समय यह कैसे संभव होगा पति के इस प्रश्न पर पत्नी ने कहा कि सर्दियों में गंगाजल छिड़काव के बाद पति घर में प्रवेश कर पाएगा, लेकिन उसे किचन और बेडरूम में नहाने के बाद ही प्रवेश मिलेगा। पति ने पत्नी की यह शर्त मान ली जिसके बाद दोनों में समझौता हुआ।


और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story