Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जानें कौन हैं सीएम शिवराज के कंप्यूटर बाबा, नर्मदा घोटाला यात्रा से आए थे चर्चा में

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने पांच संतों को राज्यमंत्री का पद दिया है। इन पांच मंत्री में से एक संत कंप्यूटर बाबा को भी शामिल किया गया है।

जानें कौन हैं सीएम शिवराज के कंप्यूटर बाबा, नर्मदा घोटाला यात्रा से आए थे चर्चा में
X

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने पांच संतों को राज्यमंत्री का पद दिया है। इन पांच मंत्री में से एक संत कंप्यूटर बाबा को भी शामिल किया गया है।

कंप्यूटर बाबा को राज्यमंभी बनाए जाने पर उन्होंने कहा कि सरकार ने साधु समुदाय पर विश्वास दिखाया है, हम लोग (संत समुदाय) समाज के कल्याण के लिए अच्छे से अच्छा काम करेंगे।

ये हैं वो पांच संत, जिन्हें मिला राज्यमंत्री का पद

मध्यप्रदेश के प्रशासन विभाग के अपर सचिव केके कतिया ने मंगलवार को नर्मदानंद महाराज, हरिहरानंद महाराज, कम्प्यूटर बाबा, भय्यू महाराज एवं पंडित योगेंद्र महंत को राज्य मंत्री बनाने आदेश जारी किया।
अब आपको बताते हैं कि इन पांच संतों में से सबसे ज्यादा सुर्खियों में रहने वाले स्‍वामी नामदेव त्‍यागी उर्फ कंप्‍यूटर बाबा क्यों सुर्खियों में हैं। बता दें कि ये वही कंप्‍यूटर बाबा हैं, जिन्होंने शिवराज सरकार के खिलाफ ‘नर्मदा घोटाला यात्रा’ निकालने का फैसला किया था। लेकिन बाद में बिना कारण बताए इसे रद भी कर दिया।

ये है बाबा का पूरा नाम

बता दें कि बाबा का असल नाम नामदेवदास त्यागी है। दिगंबर अखाड़ा से जुड़े श्री श्री 1008 महामंडलेश्वर नामदेव त्यागी का इंदौर के अहिल्या नगर में भव्य आश्रम बना हुआ है। जहां वो रहते हैं।

ऐसे मिला कंप्‍यूटर बाबा का नाम

एक महंत ने उनके कंप्‍यूटर बाबा के नाम का भी खुलासा किया है। उनका कहना है कि बाबा को तेज दिमाग, स्मार्ट वर्किंग और कार्यशैली के कारण यह नाम मिला है।
1998 के आसपास कम्प्यूटर का युग शुरु हुआ और एक कार्यक्रम के दौरान वरिष्ठ साधु-संतों ने नामदेवदास महाराज की तेज कार्यशैली को देखते हुए उनका नाम कम्प्यूटर बाबा रखा।

आधुनिक चीजों का है बाबा को शौक

महामंडलेश्वर कंप्यूटर बाबा लैपटॉप, फेसबुक और हेलीकॉप्टर का शौक रखते हैं। उन्हें हेलीकॉप्टर से सफर और फेसबुक पर भक्तों से चैटिंग काफी पसंद हैं। बता दें कि बाबा को हेलिकॉप्टर से ज्यादा लगाव है। बाबा के लिए एक बात मशहू है कि साल 2011 में मालवा महाकुंभ और 2012 में विदिशा में धार्मिक आयोजन के लिए हेलीकॉप्टर से लगातार कई दिनों तक पर्चे बांटे गए थे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story