Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शराब दुकान में पीने आने वाले व्यक्ति की उम्र 21 से कम नहीं होना चाहिए - DIG इरशाद वली

शराब के कारण अपराध ज्यादा होते हैं। जिसके मद्देनजर डीआईजी इरशाद वली ने शहर में सुरक्षा व्यवस्था और बेहतर बनाने के उद्देश्य से शराब दुकान, हुक्का बार, अहाते के मैनेजरों संचालकों की बैठक ली है।

शराब दुकान में पीने आने वाले व्यक्ति की उम्र 21 से कम नहीं होना चाहिए - DIG इरशाद वली
X

भोपाल। शराब के कारण अपराध ज्यादा होते हैं। जिसके मद्देनजर डीआईजी इरशाद वली ने शहर में सुरक्षा व्यवस्था और बेहतर बनाने के उद्देश्य से शराब दुकान, हुक्का बार, अहाते के मैनेजरों संचालकों की बैठक ली है। डीआईजी ने उन्हें ताकीद किया है कि वे अपने प्रतिष्ठानों को समय पर बंद किया करें। ध्यान रखें कि शराब दुकान में पीने आने वाले व्यक्ति की उम्र 21 वर्ष से कम नहीं होना चाहिए। वरना कड़ी कार्रवाई होगी।

डीआईजी वली ने सुरक्षा के मद्देनजर उक्त संस्थानो में अच्छी गुणवत्ता के सीसीटीवी कैमरे लगवाने व इमरजेंसी अलार्म आदि लगवाने के निर्देश सोमवार को देर शाम आयोजित बैठक में दिए। इसमें एएसपी अखिल पटेल व क्राइम ब्रांच के एएसपी निश्छल झारिया भी बैठे।

डीआईजी वली ने कहा कि अग्निशमन यंत्र एवं सुरक्षा गार्ड रखे जाएं। साथ ही कर्मचारियों का चरित्र सत्यापन आदि महत्वपूर्ण बिंदुओं को पूरा किया जाए। डीआईजी ने कहा कि न्यायालय की गाइड लाइन का पालन करें। उन्होंने कहा कि बिना पुलिस सत्यापन के शराब दुकानों एवं आहतों में कोई भी कर्मचारी को नौकरी पर नहीं रखा जाये। जिले से बाहर के जो भी कर्मचारी है उनका पुलिस सत्यापन संबंधित जिले के पुलिस थाने से कराया जाना उचित होगा।

यह सुझाव दिए डीआईजी ने

- रात्रि में शराब दुकानों एवं आहतों के बाहर एवं आस पास के क्षेत्रों में पर्याप्त लाईिटंग की व्यवस्था की जाये तो किसी प्रकार की घटना दुर्घटना से बचा जा सकता है।

- शराब दुकानों व आहतों के पास कोई भी दुकानों पानी का पाउच, पान ठेला, बर्फ का ठेला, अंडे का ठेला, नमकीन का ठेला इत्यादि का संचालन नहीं होना चाहिए। जिससे पार्किंग एंव यातायात में कोई व्यवधान उत्पन्न न हो और ना ही किसी प्रकार के संदिग्ध व्यक्तियों का जमावड़ा लगेगा।

- शराब दुकानों व आहतों से बैंक, घर या अन्य स्थान पर कैश ले जाते समय पर्याप्त सुरक्षा नियमों का पालन करें। टू-व्हीलर या पैदल या एक ही आदमी या एक ही समय पर रोज-रोज कैश लेकर ना जायें।

यह भी करें और ध्यान रखें शराब कारोबारी

- शराब दुकानों व आहतों के मुख्य द्वार के शटर मजबूत लोहे के हों व मल्टीलाकिंग वाले रहें। साथ ही खिड़कियों में मजबूत ग्रिल होनी चाहिए।

- अगर 21 वर्ष से कम उम्र के व्यक्ति को शराब दी जाती है या पिलाई जाती है तो यह नियम के विरूद्व होने से विधिनुसार कार्यवाही की जा सकेगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story