Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गांधी सागर का कोप चंबल में, तंवरघार के 30 गांवों में रेस्क्यू, सेना तैनात, करीब 3 हजार की जान खतरे में

मुरैना जिले के सबलगढ़ के 20 गांवों में अभी भी लोग घिरे हुए हैं, वहां अभी तक बचाव टीम नहीं पहुंच पाई है। बाढ़ के बाद 100 गांवों में बिजली गुलए 30 गांवों के रास्ते बंद।

गांधी सागर का कोप चंबल में, तंवरघार के 30 गांवों में रेस्क्यू, सेना तैनात, करीब 3 हजार की जान खतरे में
X

भोपाल। मंदसौर के गांधी सागर बांध का कोप अब चंबल के मुरैना-भिंड जिले झेल रहे हैं। सेना दो दिन से काम कर रही है, एनडीआरएफ समेत एसडीईआरएफ लगी है। जिसके बूते मंगलवार को चले रेस्क्यू में 30 से अधिक गांवों के 3 हजार से अधिक लोगों को सुरक्षित निकाला गया है। गंभीर ये भी है कि अभी 20 से अधिक गांवों में हजारों लोग फंसे हुए हैं। जो घरों की छतोंए ऊंचे टीलों पर शरण लिए हुए हैं।

मऊ के जानापाऊ पहाड़ से निकलने वाली नदी चंबल पर बने सबसे बड़े बांध गांधी सागर से चला पानी राजस्थान के राणा प्रताप सागरए जवाहर सागर बांध होते हुए कोटा बैराज में पहुंच रहा है। मंगलवार की सुबह कोटा बैराज से पानी छोड़ने की रफ्तार 2ण्50 लाख क्यूसेक कर दी गई। जिससे दोपहर 12 बजे चंबल नदी का जलस्तर कुछ नीचे उतराए वरना नदी तीन दिन से भयंकर उफान पर होकर राजघाट पुल पर खतरे के निशान 138 मीटर से ऊपर 144 मीटर पर बह रही है।

कोई तो आए मदद को

मुरैना जिले के सबलगढ़ तहसील के लक्ष्मणपुराए देवलाल का पुराए सीतापुराए रतियापुराए मदनपुराए रैमजा का पुराए कहारपुराए कोड़रे का पुराए जेहर गांव के रास्तों पर अभी भी बाढ़ का पानी भरा हुआ है। इन गांवों में 3 हजार से अधिक लोग फंसे हुए हैं।

तंवरघार के हालात कुछ ऐसे

मुरैना जिले के अंबाह.पोरसाए जो तंवरघार इलाका बोला जाता हैए के किसरौली गांव के पांच मजरे.टोले अभी भी बाढ़ के पानी से घिरे हैं। इन गांवों में तीन से चार हजार लोग घिरे हुए हैं। वहीं हर बार की तरह इस बार भी बाढ़ के पानी में घिरे सुखध्यान का पुराए रामगढ़ व इंद्रजीत का पुरा से केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमरए कलेक्टर प्रियंका दासए एसपी डॉण् असित यादव की मौजूदगी में रेस्क्यू टीम ने 50 से अधिक लोगों को देर शाम तक बाहर निकाल लिया था।

24 घंटे बाद गांव से निकले तो खिल गए चेहरे

अंबाह क्षेत्र के सुखध्यान का पुराए इंद्रजीत का पुरा व रामगढ़ में 700 से अधिक लोग बाढ़ के बीच फंसे हुए थे। मंगलवार दोपहर इन गांवों से फंसे लोगों को बाहर निकालने का काम शुरू हुआ।

चंबल की भंवर में फंसने से युवक की मौत

अंबाह क्षेत्र के महुआ निवासी सूरज (26) पुत्र भगवान सिंह सखवार मंगलवार की सुबह अपनी भैंस चराने के लिए गांव से एक किमी दूर चंबल नदी के किनारे गया हुआ था। वहां बनी पानी की भंवर में सूरज फंस गया और डूब गया।

रेस्क्यू कर हजारों ग्रामीणों को निकाला

मंगलवार को हमने अंबाह.पोरसा क्षेत्र के 30 से अधिक गांवों में रेस्क्यू अभियान चलाया। हजारों ग्रामीणों को निकालकर सुरक्षित जगह पहुंचाया गया है। वहीं सैकड़ों ग्रामीणों को पंचायत भवनए स्कूलोें में रखकर उनके खाने.पीने का इंतजाम किया गया है।

- प्रियंका दास, कलेक्टर मुरैना

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story