Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पुलिस की नाक के नीचे खुले घूम रहे फरारी आरोपी, नहीं पकड़ रही माढ़ोताल पुलिस

अपराधों को अंजाम देने के बाद आरोपी खुलेआम घूम रहे होते हैं। लेकिन पुलिस की नजर और जुबान पर ये फरार होते हैं। ऐसे एक नहीं कई मामलों में सामने आ चुका है। पुलिस आरोपियों को तलाश करने की बात जरूर कहती है।

पुलिस की नाक के नीचे खुले घूम रहे फरारी आरोपी, नहीं पकड़ रही माढ़ोताल पुलिस
X

जबलपुर। अपराधों को अंजाम देने के बाद आरोपी खुलेआम घूम रहे होते हैं। लेकिन पुलिस की नजर और जुबान पर ये फरार होते हैं। ऐसे एक नहीं कई मामलों में सामने आ चुका है। पुलिस आरोपियों को तलाश करने की बात जरूर कहती है। लेकिन किस अपराधी की किस हद तक तलाश की जाती है इसका प्रत्यक्ष उदाहरण तो खुलेआम घूमने वाले अपराधी होते हैं। इतना ही पुलिस कप्तान अमित सिंह फरार अराधियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार ईनाम घोषित कर रहे है ताकि उन्हें पकड़ा जा सके लेकिन कुछ पुलिस कर्मी ऐसे है जो फरार आरोपी की पूरी लोकेशन होने के बाद भी उसे पकडऩा तो दूर की बात है उन्हें संरक्षण दे रहे है जिसके कारण वह आराम से फरारी काट रहे है और उनका कोई कुछ नहीं कर पा रहा है। ऐसा ही एक मामला माढ़ोताल थाने का प्रकाश में आया है जहां धोखाधड़ी के आरोपियों को पुलिस बचा रही है। पीडि़त राईट टाउन निवासी 65 वर्षीय भगवान देवी पाण्डेय ने आरोप लगाया है कि माढ़ोताल थाने मेंं उनके द्वारा दी गई शिकायत पर चार आरोपियों के खिलाफ 420 सहित विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया गया था। पुलिस ने मामला दर्ज होने के बाद आज तक फरार आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया। जबकि पीडि़त पक्ष को लगातार जान से मारने की धमकी दी जा रही है।

24 प्लाटों को सुनियोजित तरीके से बेचा

पीडि़त के मुताबिक माढ़ोताल थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम टिमरीए मारूति नगर में उनकी भूमि के लाखों रूपये कीमत के 24 प्लाटों को सुनियोजित तरीके से आरोपियों द्वारा कूटरचित दस्तावेजों के माध्यम से धोखाधड़ी कर बेच दिया था। जिसकी शिकायत पर 2 अगस्त 2019 को आरोपियों के खिलाफ धोखधड़ी का मामला दर्ज किया गया था। पीडि़त ने बताया कि थाना पुलिस द्वारा आरोपियों के साथ सांठ गांठ कर उन्हें बचाया जा रहा है। अभी तक अन्य फरार आरोपियों की गिरफ्तार नहीं किया गया है।

आरोपियों की अग्रिम जमानत हुई थी खारिज

पीडि़त ने बताया कि आरोपियों द्वारा न्यायालय में भी अग्रिम जमान के लिए अर्जी दायर की गई थी लेकिन अपराध की गंभीरता को देखते हुए माननीय उच्च न्यायालय द्वारा आरोपियों की अग्रिम जमानत अर्जी को खारिज कर दिया गया था।

इनका कहना है

इस मामले में अभी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है। प्रकरण की जांच चल रही है जिसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएंगी।

- अनिल गुप्ता, माढ़ोताल थाना प्रभारी

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story