Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कमलनाथ जी, पीड़ित जनता का ये समुद्र कोई नाटक नहीं है, उसका गुस्सा है- शिवराज सिंह चौहान

चारों तरफ जनता का समुद्र इकट्ठा है, देख लो कमलनाथ जी। ये कोई नाटक नहीं है, जनता का गुस्सा है। कमलनाथ के मंत्री परेशान हैं कि मैं जनता के बीच क्यों घूम रहा हूं। शिवराज मुख्यमंत्री हो न हो, बहनों का भाई हमेशा रहेगा।

कमलनाथ जी, पीड़ित जनता का ये समुद्र कोई नाटक नहीं है, उसका गुस्सा है- शिवराज सिंह चौहान

भोपाल। चारों तरफ जनता का समुद्र इकट्ठा है, देख लो कमलनाथ जी। ये कोई नाटक नहीं है, जनता का गुस्सा है। कमलनाथ के मंत्री परेशान हैं कि मैं जनता के बीच क्यों घूम रहा हूं। शिवराज मुख्यमंत्री हो न हो, बहनों का भाई हमेशा रहेगा। प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता से दिल का रिश्ता बनाया है। जनता मेरी जिंदगी है और हर सांस जनता के लिए चलती है। यह बात पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को नसरूल्लागंज में आयोजित विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कही। पूर्व मुख्यमंत्री ने कमलनाथ सरकार पर 15 आरोप लगाये और स्थानीय तहसील कार्यालय के सामने धरना-प्रदर्शन भी किया।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बाढ़ पीड़ित जनता त्राहि त्राहि कर रही है, लेकिन सरकार के लोग और कांग्रेसी अपने झगड़े में मस्त है । उन्हें जनता की चिंता नहीं है। उन्होंने कहा कि मुझ पर आरोप लगाने वाले नेता एक बार मेरे साथ घूम लें तो उन्हें समझ में आ जाएगा। मैंने हर तरह की परेशानी उठाकर जनता का दुख महसूस किया है। बाढ़ में सब तबाह हो गया। उन्होंने कहा कि मैं मंदसौर गया तो प्रशासन सक्रिय हो गया और मुख्यमंत्री को मंदसौर जाने पर मजबूर होना पड़ा। कई दिन बीत जाने के बाद बाढ़ पीड़ितों की सुध लेने अब मुख्यमंत्री पहुंचे हैं।

Next Story
Top