Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

CM ना होकर भी CM के रोल में नजर आये शिवराज सिंह चौहान, बाढ़ पीड़ितों के लिए लगाई जन अदालत, कलेक्टर ने भी कर दी सभी मांगों को पूरा करने की घोषणा

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बीते शनिवार को सीएम ना होकर भी सीएम की भूमिका में नजर आये. कलेक्टर दफ्तर के बाहर शिवराज सिंह चौहान ने बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए जन अदालत लगा दी. जन अदालत लगाकर धरना प्रदर्शन करने लगे. इस बीच स्वयं कलेक्टर जन अदालत में पहुंचे और शिवराज सिंह चौहान की सभी मांगों को पूरा करने की घोषणा कर दी. मंदसौर में बाढ़ से बिगड़े हालातों पर जमकर सियासत हो रही है. शिवराज सिंह चौहान लगातार किसानों के हक़ में लड़ाई रहे हैं.

CM ना होकर भी CM के रोल में नजर आये शिवराज सिंह चौहान, बाढ़ पीड़ितों के लिए लगाई जन अदालत, कलेक्टर ने भी कर दी सभी मांगों को पूरा करने की घोषणा
X

भोपाल. पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बीते शनिवार को सीएम ना होकर भी सीएम की भूमिका में नजर आये. कलेक्टर दफ्तर के बाहर शिवराज सिंह चौहान ने बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए जन अदालत लगा दी. जन अदालत लगाकर धरना प्रदर्शन करने लगे. इस बीच स्वयं कलेक्टर जन अदालत में पहुंचे और शिवराज सिंह चौहान की सभी मांगों को पूरा करने की घोषणा कर दी. मंदसौर में बाढ़ से बिगड़े हालातों पर जमकर सियासत हो रही है. शिवराज सिंह चौहान लगातार किसानों के हक़ में लड़ाई रहे हैं.

शिवराज सिंह चौहान सरकार पर भी जमकर हमला बोल रहे हैं. जन अदालत में शिवराज सिंह ने कहा कि प्रशासन ने धारा 144 लगाई है, अब वो चाहे तो 288 भी लगा दे, पर बाढ़ पीड़ितों की लड़ाई पूरी लड़ूंगा. हंगामा खड़ा करना मेरा मकसद नहीं है. मैं तो बाढ़ पीड़ितों की मदद चाहता हूं. अगर मैं मुख्यमंत्री होता तो खाते में पैसा आ गया होता, सामान पहुंच गया होता. सरकार सो रही है. मैं जनता की लड़ाई लड़ता रहूंगा. कोई गाली दे इसकी मुझे फिक्र नहीं है. शिवराज ने मांग की किसान अब कर्ज़ वापस करने की स्थिति में नहीं हैं, इसलिए सरकार तत्काल कर्ज़माफी करे. बाढ़ग्रस्त इलाकों के नुकसान का तुरंत आँकलन हो और लोगों को मुआवज़ा मिले.

शिवराज सिंह ने आगे कहा कि जनता अपनी तकलीफ बताएं कि गांवों में कैसी तबाही हुई है. सरकार से कहेंगे कि जनता की सारी तकलीफें दूर करो. नहीं सुनेगी तो चैन की सांस नहीं लेने देंगे. धरना इसलिए किया कि सरकार जाग जाए. अन्याय पूर्ण मिल रही बिजली के खिलाफ हम सविनय अवज्ञा आंदोलन करेंगें. बिजली के बिल नही भरेंगें उनकी होली जलाएंगें.

शिवराज यही नही रुके उन्होने आगे कहा कि कांग्रेस के मेरे मित्र भोपाल में बैठे-बैठे मेरा मज़ाक उड़ा रहे हैं कि शिवराज बाढ़ पीड़ितों व किसानों के बीच जाकर नाटक कर रहा है. कांग्रेसियों, तुम क्या जानों दुःख और दर्द. मैं माताओं, बहनों, किसानों को न्याय मिलने तक लड़ूँगा. शत-प्रतिशत फसलें बर्बाद हो गई हैं. सरकार कह रही है कि सर्वे करायेंगे. सर्वे तो तब होता है, जब 25-50% फसल बर्बाद हो, यह तो 100% बर्बाद हो गई. इसलिए जनता की यह अदालत माँग करती है कि 40000 प्रति हेक्टेयर की दर से मुआवजा दे दो.

इस दौरान मंदसौर कलेक्टर ने मंच पर आकर शिवराज की मांगों को पूरा करने की घोषणा की. कलेक्टर ने कहा कि बच्चों की बाढ़ में बह गई और खराब हो गई पुस्तकों का प्रस्ताव सरकार को भेजा जा रहा है , जल्द ही बच्चो को नई पुस्तके मिलेगी. जो भी मांगे है उन्हें सीएम के सामने रखेंगें. इस दौरान भाजपा का आभार मानते हुए कलेक्टर ने कहा कि बीजेपी के जनप्रतिनिधियों और जनता का राहत कार्य में पूरा सहयोग मिल रहा है हम जल्द ही इस आपदा से निपटेंगें.

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story