Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

देखिए- राजगढ़ प्रदर्शनकारियों और अधिकारियों की झड़प का पूरा मामला, मामले में भाजपा और कांग्रेस का पक्ष

इस मामले को कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भाजपा की गुंडागर्दी करार देते हुए। अधिकारियों के बहादुरी की तारीफ की है।

देखिए- राजगढ़ प्रदर्शनकारियों और अधिकारियों की झड़प का पूरा मामला, मामले में भाजपा और कांग्रेस का पक्ष
X

राजगढ़। रविवार को जिला प्रशासन द्वारा धारा 144 लागू करने के बाद भी जिले के ब्यावरा में सीएए के पक्ष में रैली करने सैंकडों लोग पहुंचे। प्रशासन ने रैली की अनुमति भी नहीं दी थी और 1 दिन पहले पूरे शहर में मुनादीकरा दी थी। इसके बाद भी भाजपा के द्वारा सीएए के समर्थन में रैली निकाली गई। प्रशासन ने रैली को रोकने का प्रयास किया और इसी दौरान भाजपा के पूर्व विधायक अमर सिंह यादव को कलेक्टर ने रोकने का प्रयास किया वह नहीं माने तो उनकी कलेक्टर ने कालर पकड़ ली बस इसके बाद लोग भड़क उठे। प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया।

यहां से बढ़ा विवाद-

प्रदर्शनकारियों से पुलिस की सख्ती के बाद देखते ही देखते भगदड़ की स्थिति बन गई। रैली में पहुंचे लोगों ने प्रशासन का विरोध शुरू कर दिया तो महिला कलेक्टर निधि निवेदिता व ब्यावरा एसडीएम प्रिया वर्मा ने कई लोगों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, इस दौरान एसडीएम प्रिया वर्मा ने प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए थप्पड़ जड़ दिया। इसी दौरान कुछ लोगों ने डिप्टी कलेक्टर की बाल(चोंटी) खींचकर अभद्रता भी की। प्रदर्शनकारियों ने जमकर नारेबाजी की।

पुलिसकर्मियों में नजर आई समन्वय की कमी-

इस पूरे मामले में जहां महिला अधिकारी कलेक्टर एवं एसडीएम भीड़ को रोकने के लिए प्रदर्शनकारियों से भिड़ते नजर आई वहीं पुलिस अधिकारियों औऱ कर्मियों के बीच समन्वय में भारी कमी देखी गई और कई बार प्रर्दशनकारियों के बीच में भी चली गई लेकिन ऐसे में पुलिस के एक भी जिम्मेदार अधिकारी भीड़ में इन दोनों अधिकारियों को बचाते नजर नहीं आए। पुलिसकर्मियों ने जरूर इनकी मदद की, ऐसे में सबसे बड़ा सवाल आखिर भीड़ से इन महिला अधिकारी को क्यों जूझना पड़ा। पुलिस के आला अधिकारियों की भी जिम्मेदारी बनती है कि वे भी स्थिति को संभाले। दोनों महिला अधिकारियों के साथ यदि कोई घटना घटित हो जाती तो इसका जिम्मेदार कौन होता।



150 लोगों पर हुआ मामला दर्ज-

हालांकि इस मामले में राजगढ़ एसपी प्रदीप शर्मा का कहना है कि ये आज प्रदर्शनकारियों द्वारा sdm के साथ अभद्रता की गई थी। उसको लेकर एसडीएम की रिपोर्ट पर दो लोगों पर 353, 354 का मामला दर्ज किया गया है। वहीं जो लोग बिना अनुमति के रैली निकाल रहे थे। जिन्होंने कलेक्टर मेडम के निर्देशो का उल्लंघन किया हैं। भाजपा के पूर्व राज्यमंत्री बद्रीलाल यादव, पूर्व विधायक राजगढ़ अमर सिंह यादव, पूर्व विधायक नारायण सिंह पंवार सहित अन्य कुल 150 प्रदर्शनकारियों पर धारा 341,147,188 के तहत मामला दर्ज किया गया है। साथ ही इस पूरे मामले की वीडियो ग्राफी कराई गई है। वीडियोग्राफी के आधार पर भी कुछ लोगो को भी चिह्नित कर उनके खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा।

अब आगे क्या?

भाजपा कार्यकर्ताओँ के साथ हुई मारपीट के बाद पार्टी के बड़े नेता खुलकर सामने आ गए हैं। पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह सहित तमाम नेताओँ ने जिला प्रशासन के साथ साथ कमलनाथ सरकार को भी आड़े हाथों लिया। वहीं अब राजगढ़ मामले पर सरकार के खिलाफ भाजपा बड़े आंदोलन की तैयारी कर रही है। बीजेपी के प्रदेश के सभी बड़े नेता राजगढ़ पहुंचेंगे। प्रदेश अध्य्क्ष राकेश सिंह, शिवराज सिंह, कैलाश विजयवर्गीय, गोपाल भार्गव 22 जनवरी को राजगढ़ जाएंगे। कलेक्टर के खिलाफ FIR दर्ज करवाएंगे।

वहीं इस मामले को कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भाजपा की गुंडागर्दी करार देते हुए। अधिकारियों के बहादुरी की तारीफ की है।





Next Story