Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जापान, चीन, हांगकांग, इटली, आदि देशों के लोगों को ठगने वाला रुपेश भेजा गया जेल, 8000 से अधिक लोगों से कर चुका है ठगी

नए जमाने का नटवरलाल। जी हां, ऑनलाइन ट्रेडिंग में निवेश के नाम पर ठगी करने वाला शातिर मास्टर माइंड रूपेश राय। इसने एक दर्जन से अधिक देशों के 8000 से ज्यादा लोगों से करोड़ों रुपए ठगे हैं।

पीएम केयर फंड के नाम पर बनायी फर्जी वेबसाइट, इतने लाख रुपये हड़पे
X
Delhi NGO worker arrested for cheating case

भोपाल। नए जमाने का नटवरलाल। जी हां, ऑनलाइन ट्रेडिंग में निवेश के नाम पर ठगी करने वाला शातिर मास्टर माइंड रूपेश राय। इसने एक दर्जन से अधिक देशों के 8000 से ज्यादा लोगों से करोड़ों रुपए ठगे हैं। यह तथ्य इस नटवरलाल यानी रूपेश से एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) की पूछताछ में उजागर हुआ है। जबलपुर निवासी यह नटवरलाल मप्र एसटीएफ के पास रिमांड पर 10 दिन रहा। जिसे सोमवार को अदालत में पेश किया गया। जहां से इसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया है। एसटीएफ के भोपाल एसपी राजेश सिंह भदौरिया का कहना है कि जरूरत पड़ने पर इसे अदालत से फिर रिमांड पर मांगा जा सकता है। खास बात है कि ये नटवरलाल उर्फ राय मात्र 10वीं पास है।

50 करोड़ रुपए की ठगी वाले मामले में एसटीएफ के स्पेशल डीजी पुरुषोत्तम शर्मा ने पहले आरोपी रूपेश पर 10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया था। तब इसने कोर्ट में सरेंडर किया। जहां से पुलिस ने इसकी विधिवत गिरफ्तारी की। इसके बाद अदालत में फिर पेश कर एसटीएफ ने इसे पूछताछ के लिए रिमांड पर मांगा। अदालत ने यह आरोपी 10 दिन के लिए एसटीएफ को रिमांड पर दे दिया। इस अवधि में इससे कड़ाई से पूछताछ की गई। तब इसने ठगी के राज उगले।

सूत्र बताते हैं कि आरोपी राय ने जापान, चाइना, हांगकांग, इटली, मलेशिया, पौलेंड, रूस, ऑस्ट्रेलिया, कोलंबिया, जर्मनी, बैंकॉक, हांगकांग, इंडोनेशिया, सिंगापुर, इंग्लैंड समेत एक दर्जन से अधिक देशों के 8000 से अधिक लोगों के साथ करोड़ों रुपए की ऑनलाइन ठगी की है। आरोपी राय ने ऑनलाइन ट्रेडिंग का एक नया सिस्टम तैयार किया था। बताते हैं कि उसने हांगकांग से ली गई तकनीक के आधार पर क्रिप्टो करेंसी के तहत गोल्ड यूनियन कॉइन तैयार किया था।

यहां बता दें कि क्रिप्टो करेंसी वर्चुअल करेंसी है। क्रिप्टो-करेंसी को डिजिटल वॉलेट में रखा जाता है। इससे पहले एसटीएफ ठगी के मामले में पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी थी। एसटीएफ को शिकायत मिल रही थी कि ऑनलाइन ट्रेडिंग में निवेश के नाम पर ठगी की जा रही है। इन शिकायतों की जांच के बाद नवंबर 2018 में इस पर एफआईआर दर्ज की गई। जांच में खुलासा हुआ कि ऑनलाइन ट्रेडिंग में लोगों को ज्यादा कमीशन देने का लालच देकर उनसे करोड़ों रुपये की ठगी की गई।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story