Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आज एक और रासुका लगेगी चंबल में सफेद जहर के कारोबारी पर, सिंथेटिक दूध माफिया हुए भूमिगत

मुरैना कलेक्टर प्रियंका दास ने हरिभूमि से चर्चा में स्पष्ट किया है कि मिलावट को टोटल क्रेक डाउन करने के लिए सिंथेटिक दूध-पनीर व मावा बनाने वालों के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जाएगी।

आज एक और रासुका लगेगी चंबल में सफेद जहर के कारोबारी पर, सिंथेटिक दूध माफिया हुए भूमिगत
X

भोपाल। सफेद जहर, यानि सिंथेटिक दूध-पनीर और मिलावटी मावा की देश की सबसे बड़ी मंडी चंबल में एक और अवैध कारोबारी पर रासुका लगने जा रही है। मुरैना कलेक्टर प्रियंका दास ने हरिभूमि से चर्चा में स्पष्ट किया है कि मिलावट को टोटल क्रेक डाउन करने के लिए सिंथेटिक दूध-पनीर व मावा बनाने वालों के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जाएगी। मुरैना के जो नौ सैंपल फेल हुए हैं, उन मामलों में कड़ा एक्शन होगा। उधर प्रशासनिक सख्ती देखकर दूध माफिया भूमिगत हो गए हैं।

याद रहे, नकली दूध मावा को लेकर सरकार सख्त है। सभी संभागों के कमिश्नरों को सीएम कमलनाथ और स्वास्थ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट के बीच गहन चर्चा हो चुकी है। जिसके बाद मध्यप्रदेश के 51 जिलों में स्वास्थ्य विभाग की छापेमार कार्रवाई चली। जिसमें ग्वालियर चंबल संभाग में कार्यवाही को लेकर सरकार ने आठ सदस्यीय एसआईटी का गठन किया था। साथ ही जबलपुर में अमानक खाद्य सामग्री मिलने पर बड़ी कार्यवाही की गई थी। जिसमें तीन बड़े व्यापारियों के लाइसेंस निरस्त किए गए। जिसमें घनश्याम साहू, संतोष साहू, कमल खरे के नाम शामिल थे। यहां बता दें कि रासुका के तहत कार्यवाही के निर्देश स्वास्थ्य मंत्री सिलावट ने दिए थे।

शादियों में भी सिंथेटिक दूध-पनीर, मावा :

सिंथेटिक दूध की तीन फैक्टरियों पर मुरैना-भिंड में 19 जुलाई को ग्वाालियर एसटीएफ ने जो छापे डाले थे, उसकी पूछताछ में पकडे़ गए दूध कारोबारियों ने खुलासा किया कि वे शादी पार्टी आदि बड़े आयोजन में पनीर सप्लाई करते थे। इससे स्पष्ट है कि मिलावट बडे़ स्तर पर चल रही है। लोगों को धीमा जहर परोसा जा रहा है।

भोपाल में नहीं होता यह काम :

- भोपाल दुग्ध संघ प्लांट पर रोजाना दूध के सैंपल लिए जाने चाहिए, लेकिन मिलावट की कोई जांच नहीं होती।

- क्वालिटी कंट्रोल ने जो रिपोर्ट दी, वही सही मानी जाती है, उसकी जांच फूड सेफ्टी की टीम नहीं करती।

इन सप्लाई सेंटरों पर भी पडे़ थे छापे :

- अग्रवाल लेबोरेटरी एवं सप्लायर अंबाह जिला मुरैना से रिफाइंड ऑइल 500 टिन (सोयाबीन ऑइल), रेंजी सैंपू 200 बोतलें व अन्य केमिकल जब्त हुए थे।

- नवीन सप्लायर सेंटर लहार जिला भिंड से 25 किग्रा की 91 बोरी ग्लूकोज (माल्टो डेक्सटिन पाउडर), 100 बोतल रेंजी सैंपू, 1000 लीटर रिफाइंड ऑइल पकड़ा था।

- 20 टैंकर और 11 पिकअप सिंथेटिक दूध से लोडेड जब्त किए थे एसटीएफ ने पहले छापे में। इन मामलों में भी रासुका के चांस हैं, लेकिन इनकी सैंपल जांच रिपोर्ट आना बाकी है।

सोमवार को लगाएंगे रासुका :

- मिलावट को टोटल क्रेक डाउन करने के लिए सिंथेटिक दूध-पनीर व मावा बनाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है। मुरैना के जो नौ सैंपल फेल हुए हैं, उन मामलों में कड़ा एक्शन होगा। सोमवार को एक और मिलावट करने वाले कारोबारी रासुका लगाई जाएगी।

- प्रियंका दास, कलेक्टर मुरैना

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story