Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डिजास्‍टर मैनेजमेंट इंस्‍टीट्यूट में नेशनल आपदा प्रबंधन का आयोजन, तबाही से निपटना होगा आसान

भारत विश्व का तीसरा सबसे बड़ा तेल एवं गैस का उपयोग करने वाला देश है।

डिजास्‍टर मैनेजमेंट इंस्‍टीट्यूट में नेशनल आपदा प्रबंधन का आयोजन, तबाही से निपटना होगा आसान
X

आपदा प्रबंध संस्थान, भोपाल द्वारा एन.डी.एम.ए., यूनिसेफ, यू.एन.डी.पी., म.प्र.एस.डी.आर.एफ, जी.आई.टी.एल. तथा पर्यावरण एवं वन मंत्रालय, भारत सरकार के सहयोग से चौथे राष्ट्रीय सेमीनार की शुरुआत होटल कोर्टयार्ट मेरियट में की गई।

यू.एन.डी.पी के जी. पद्मनाथन ने आपदा के समय प्रभावित लोगों के राहत एवं बचाव के बारे में विशेष जोर देते हुए एक विस्तृत कार्य योजना बनाने पर जोर दिया।
यूनिसेफ के राज्य प्रमुख माइकल जूम़ा ने राज्य आपदा संरक्षण के बारे में जानकारी प्रदान की साथ ही यूनिसेफ द्वारा प्रदेश में चलायी जा रही अन्य परियोजनाओं के बारे में बताते हुए कहा कि आपदा को लेकर महिलाएं और बच्चों में जागरुकता पैदा करने की ज्यादा जरूरत है।
मनीष शंकर शर्मा(ए.डी.जी. एम.पी.एस.डी.ई.आर.एफ.)ने बताया कि भारत विश्व का तीसरा सबसे बड़ा तेल एवं गैस का उपयोग करने वाला देश है और भविष्य में इसकी खपत ओर भी ज्यादा बड़ने की संभावना है इसलिए इससें जुड़ी हुई आपदाओं के बचाव के बारे मे ओर भी ज्यादा ध्यान देने की आवश्कता है।
इस मौके पर राष्ट्रीय संगोष्ठी में डी.एम.आई. तथा म.प्र.इनविस द्वारा चित्रकला प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वालें प्रतिभागी छात्रों को पुरस्कार राशि एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया साथ ही एस.डी.ई.आर.एफ, जी.आई.टी.एल. तथा डी.एम.आई की एक प्रदर्शनी भी लगाई गयी है।
जिसमें आपदा के समय प्रभावित लोगों के बचाव हेतु तथा विभिन्न आपदाओं में उपयोग होने वाले उपकरणों का प्रकरण किया गया है।
इस राष्ट्रीय संगोष्ठी में देश की गैस एवं तेल क्षेत्रों की कई कंपनियां के प्रतिनिधि सम्मिलित हुए। सभी अतिथियों का आभार प्रदर्शन आपदा प्रबंधन संस्थान के उप संचालक सुधीर द्विवेदी द्वारा किया गया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story