Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मां से दुश्मनी थी इसलिए पड़ोसी ने डेढ़ साल की मासूम का मुंह दबाकर कर दी हत्या, ऐसे हुआ मामले का खुलासा

हबीबगंज स्थित मीरा नगर, पीसी नगर गड्ढा में बुधवार को डेढ़ साल की बच्ची का अपहरण कर गला दबाकर हत्या करने की सनसनीखेज वारदात का खुलासा करते हुए पुलिस ने पड़ोस में रहने वाली महिला को गिरफ्तार किया है।

मां से दुश्मनी थी इसलिए पड़ोसी ने डेढ़ साल की मासूम का मुंह दबाकर कर दी हत्या, ऐसे हुआ मामले का खुलासा

भोपाल। हबीबगंज स्थित मीरा नगर, पीसी नगर गड्ढा में बुधवार को डेढ़ साल की बच्ची का अपहरण कर गला दबाकर हत्या करने की सनसनीखेज वारदात का खुलासा करते हुए पुलिस ने पड़ोस में रहने वाली महिला को गिरफ्तार किया है। महिला ने मासूम का गला दबाकर हत्या की थी फिर पानी के गड्ढे में डुबोकर रख दिया। जब मौत की पुष्टि हुई तो उसे पन्नी में भरकर झाड़ियों में फेक दिया था। हत्या की वजह मासूम की मां द्वारा उक्त महिला को भद्दे कमेंट्स करने की बात सामने आई है। एएसपी अखिल पटेल ने पत्रकारवार्ता में बताया कि मीरा नगर, निवासी मोहनी मालवीय पति लखन मालवीय (24) ब्लाक नं 65 में रहती हैं। उनकी डेढ़ साल की बच्ची हर्षिता उर्फ टकू घर से अचानक लापता हो गई थी। उन्होंने उसे कॉलोनी समेत आसपास में देखा, लेकिन कुछ पता नहीं लग सका। पुलिस ने उक्त मामले में अज्ञात व्यक्ति पर अहपरण का मामला दर्ज कर बच्ची की तलाश शुरू कर दी थी।

तीन बार की पूछताछ तो हुआ खुलासा

पुलिस ने अपने स्तर पर हर्षिता की तलाश की थी, लेकिन समय बीतने के साथ परिजनों और पुलिस की चिंता बढ़ गई थी। पुलिस ने कॉलोनी में रहने वाले अन्य लोगों से पूछताछ की गई थी और सभी के घर की तलाशी ली गई थी। इस दौरान लोगों ने पड़ोसी अनुषा पाल पर संदेह जताया था। पुलिस ने संदेह के आधार पर अनुषा से पूछताछ की थी, लेकिन वह पुलिस को गुमराह करती रही। हालांकि जब पुलिस को यह जानकारी मिली कि अनुषा को किसी ने घर से बाहर जाते हुए देखा था उस समय उसके हाव भाव ठीक नहीं थे और हाथ में थैला था तो पुलिस का संदेह गहरा गया। पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो अनुषा पाल ने सनसनीखेज वारदात को करना स्वीकार लिया।

इस तरह की थी वारदात

आरोपी अनुषा पाल ने बताया कि बुधवार सुबह 9 बजे वह मोनू की दुकान से दूध बिस्कुट लेकर आई थी। 12 बजे के आसपास हर्षिता उर्फ टकू कि मां मोहनी किचन मे काम कर रही थी, जबकि हर्षिता मेरे घर के सामने सीढ़ियों पर खेल रही थी। हर्षिता को मैंने बिस्कुट दिखाकर बुलाया था और बिस्कुट खिलाकर उसका गला दबा दिया। इसके बाद उसे नारायण नगर की तरफ झाड़ियों में ले गई। वहां पानी से भरे गड्ढे में डुबो दिया। जब हर्षिता के शरीर में कोई हलचल नहीं हुई तो उसका शव पास ही कचरे की पन्नी से छिपाकर रख दिया। पुलिस ने हर्षिता का शव आरोपी के बताए ठिकाने से जब्त कर पीएम के लिए भेज दिया है।

आरोपी के घर चलती है संदिग्ध गतिविधियां

कॉलोनी के लोगों ने पुलिस को बताया कि अनुषा पाल पति प्रताप पाल (40) पीसी नगर हबीबगंज अपने दस साल के बच्चे के साथ यहां पति से अलग रही रहती है और उसके घर संदिग्धों का आना-जाना रहता है। इस बात का आसपास के लोग विरोध करते हैं। हर्षिता की मां मोहनी ने भी इस बात का विरोध करते हुए अनुषा पाल को कमेंट्स किए थे। पुलिस का कहना है कि आरोपी अनुषा ने बताया था कि वह बंगलों में काम करती है, लेकिन जब पूछा गया कि किस बंगलों में काम करती है तो वह नहीं बता सकी।

Next Story
Share it
Top