Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

 मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ के निवेदन को मेधा पाटकर ने ठुकराया, कहा - कमलनाथ किसी न किसी कारण तो दबाव में हैं

नर्मदा बचाओ आंदोलन की प्रर्वतक मेधा पाटकर (Medha Patkar) ने अनशन समाप्त करने से इंकार कर दिया है। दूसरी बार मुख्यमंत्री कमलनाथ से चर्चा के बाद भी मेधा पाटकर अपनी मांग पर अड़ी हैं।

 मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ के निवेदन को मेधा पाटकर ने ठुकराया, कहा - कमलनाथ किसी न किसी कारण तो दबाव में हैं
X

बड़वानी। नर्मदा बचाओ आंदोलन की प्रर्वतक मेधा पाटकर (Medha Patkar) ने अनशन समाप्त करने से इंकार कर दिया है। दूसरी बार मुख्यमंत्री कमलनाथ से चर्चा के बाद भी मेधा पाटकर अपनी मांग पर अड़ी हैं। गृहमंत्री के बाद प्रभारी मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ Dr. Vijayalakshmi Sadho) उन्हें मनाने पहुंची थी, उन्होंने सीएम कमलनाथ से फोन पर बात भी करवाया, लेकिन मेधा पाटकर ने अनशन समाप्त करने से इंकार कर दिया।

किसी न किसी कारण तो दबाव में हैं सीएम

मेधा पाटकर ने कहा है कि पूर्व सरकार ने तो हमारी हत्या कर दी, अब आप अंतिम संस्कार कर रहे हैं। मेधा ने यह भी कहा कि समझ में यह नहीं आ रहा है कि कमलनाथ मैसेज कन्वे क्यों नहीं करना चाह रहे हैं। मैं समझ रही हूं कमलनाथ किसी न किसी कारण तो दबाव में हैं।

34 वर्षों से विस्थापित हुए लोगों के अधिकारों के लिए लड़ रही है पाटकर


बता दें कि पाटकर बीते 34 वर्षों से नर्मदा बचाओ आंदोलन के बैनर तले सरदार सरोवर बांध की वजह से विस्थापित हुए लोगों के अधिकारों के लिए लड़ रही हैं। विस्थापित हुए लोगों के समर्थन में 25 मेधा अगस्त से अनिश्चिकालीन भूख हड़ताल पर हैं। उनका कहना है कि किसी भी हालत में सरदार सरोवर में 122 मीटर के ऊपर पानी नहीं रहना चाहिए। अनिश्चितकालीन उपवास की वजह से मेधा पाटकर के स्वास्थ्य में लगातार गिरावट हो रही है।

इधर जिले की प्रभारी मंत्री ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि सरदार सरोवर का जलस्तर कम करना गुजरात सरकार के हाथ में है। मध्य प्रदेश सरकार ने गुजरात सरकार से पुनर्वास होने तक जल स्तर कम करने की बात की थी। लेकिन अब तक कुछ नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि एक बार फिर गुजरात सरकार को पत्र लिखकर जलस्तर कम करने को लेकर बात की जाएगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story