Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मैनिट के फाइनल ईयर स्टूडेंट ने हॉस्टल में फांसी लगाकर किया आत्महत्या का प्रयास, दोस्तों ने बताया प्रेम प्रसंग का मामला

मौलाना आजाद इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (Maulana Azad National Institute of Technology) (मैनिट) के इलेक्ट्रिकल फाइनल ईयर के स्टूडेंट ने गुरुवार सुबह 11.30 बजे फांसी लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया।

मैनिट के फाइनल ईयर स्टूडेंट ने हॉस्टल में फांसी लगाकर किया आत्महत्या का प्रयासMANIT's final year student attempted suicide by hanging in hostel

भोपाल। मौलाना आजाद इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (Maulana Azad National Institute of Technology) (मैनिट) के इलेक्ट्रिकल फाइनल ईयर के स्टूडेंट ने गुरुवार सुबह 11.30 बजे फांसी लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया। घटना के बाद उसे माता मंदिर चौराहा स्थित एक प्राइवेट हास्पिटल में वेंटीलेटर पर रखा गया है। डॉक्टरों के अनुसार अब वह खतरे से बाहर है। स्टूडेंट सिंगरौली का रहने वाला है। परिवार को घटना की जानकारी दे दी गई है, आज सुबह तक वह भोपाल पहुंच जाएंगे। स्टूडेंट के पास किसी प्रकार का सुसाइड नोट नहीं मिलने से अभी आत्महत्या के प्रयास के कारण का खुलासा नहीं हो सका है, लेकिन साथ रहने वाले दोस्तों ने बताया कि यह मामला प्रेम-प्रसंग से जुड़ा हुआ है। वह कुछ दिनों से खामोश रह रहा था और बैचेन लग रहा था।

साथी स्टूडेंट ने खिड़की से देखकर मचाया शोर

जानकारी के अनुसार सिंगरौली निवासी एक स्टूडेंट मैनिट के हॉस्टल-10 के ब्लाक-बी में रहकर इलेक्ट्रिकल ब्रांच में पढ़ाई कर रहा था। इस वर्ष उसका फाइनल ईयर चल रहा है। गुरुवार सुबह वह कमरे में अकेला था, लगभग साढ़े 11 बजे उसने कमरे के पंखे में फांसी लगाकर जान देने का प्रयास किया। पास के कमरों में रहने वाले स्टूडेंट्स ने जब खिड़की से अंदर का नजारा देखा तो शोर मचाया। इसकी सूचना वार्डन को दी गई। देखते-देखते हॉस्टल के समक्ष स्टूडेंट्स का हुजूम इकट्ठा हो गया। छात्र को फंदे से उतारकर माता मंदिर स्थित प्राइवेट हॉस्पिटल पहुंचाया गया। यहां छात्र की स्थिति नाजुक होने के कारण उसे वेंटीलेटर में रखा गया है। देर रात तक छात्र की स्थिति में सुधार होने के सूचना मिली है।

अधिकारियों की अस्पताल में लगाई शिफ्ट वाइज ड्यूटी

मामले की गंभीरता को देखते हुए डायरेक्टर ने अधिकारियों की दो-दो घंटे की अस्पताल में ड्यूटी लगाई है। हालांकि इस संबंध में जब डायरेक्टर नरेन्द्र सिंह रघुवंशी से बात की गई तो उन्होंने घटना की पुष्टी की, साथ ही कहा कि पुलिस इस मामले की जांच कर रही है, इसलिए वह ही आपको इस मामले में कुछ बता या कह पाएगी।

Next Story
Share it
Top