logo
Breaking

सूदखोरों की धमकी से परेशान युवा व्यवसाई ने लगाई फांसी, ये लिख छोड़ा सुसाइड नोट

मध्यप्रदेश के छतरपुर में सूदखोरों की धमकी से परेशान होकर कोरियर (डाक) व्यवसाय करने बाले युवा ने फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। मरने के पहले अपने मम्मी और पापा के लिए एक सुसाइट नोट भी छोड़ गया।

सूदखोरों की धमकी से परेशान युवा व्यवसाई ने लगाई फांसी, ये लिख छोड़ा सुसाइड नोट
भोपाल। मध्यप्रदेश के chhat में सूदखोरों की धमकी से परेशान होकर कोरियर (डाक) व्यवसाय करने बाले युवा ने फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। मरने के पहले अपने मम्मी और पापा के लिए एक सुसाइट नोट भी छोड़ गया।
जिसमें युवा व्यापारी विकास गुप्ता ने जिक्र किया कि ''मुझे रवि गुप्ता जान से मारने की धमकी देते हैं और दादा हरस्वरूप दुबे मुझसे 1 लाख 11 हजार रुपये मांग रहे हैंं। जो मेरे पास नहीं है मैं पापा बहुत परेशान हूं सो फांसी लगा रहा हूं। आप और मम्मी मेरी बीवी शिम्पी और बच्चों तान्या व तनुज का ख्याल रखना और खुश रहना। सो सॉरी बाय विकास।''
मृतक विकास ने यह सुसाइट नोट लिखकर अपनी पेंट की जेब में डाल लिया था जो पुलिस को प्रथम जांच के दौरान मिला। वहीं थाना सिटी कोतवाली की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के सा​थ ही मामले की जांच शुरू कर दी है।
वहीं मृतक विकास गुप्ता के मामा मनीष गुप्ता का कहना है कि विकास को रवि गुप्ता के पैसे देने थे जिसकी जानकारी हमें थी और हम कुछ दिन पहले आये थे और विकास एवं उन लोगों को समझाकर चले गए थे।
इसके बाद भी रवि गुप्ता एवं बगल बाले दादा हरस्वरूप दुबे विकास को टॉचर करना नहीं छोड़े थे और जान से मारने की धमकी देते थे। हमारे जीजा ने 25—30 लाख रुपये चूका भी दिए थे मगर फिर भी विकास से पैसे मांगते थे। इसलिए परेशान होकर विकास ने आत्महत्या कर ली।
गौरतलब है कि छतरपुर के हटवारा मोहल्ले में रहने चाले युवा व्यापारी विकास गुप्ता रिलायंस कंपनी के कोरियर की सप्लाई का काम करता था। वह पिछले कुछ दिनों से पैसे के लेनदेन को लेकर परेशान था और उसने अपनी पत्नी शिम्पी गुप्ता को बहाने से मायके भेज दिया था। पत्नी के मायके जाने के बाद विकास ने आत्महत्या करने का प्लान बनाया और पंखे में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली।
Share it
Top