Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

डॉक्टरों की लापरवाही से गर्भ में मर गया बच्चा, तीन घंटे बाद में नहीं पहुंचा कोई चिकित्सक, परिजनों ने किया हंगामा

जिला अस्पताल में चिकित्सकों की लापरवाही के चलते गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत हो गई। इससे गुस्साए परिजनों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। जिसके बाद सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस परिजनों को शांत कराया।

डॉक्टरों की लापरवाही से गर्भ में मर गया बच्चा, तीन घंटे बाद में नहीं पहुंचा कोई चिकित्सक, परिजनों ने किया हंगामा

बालाघाट। जिला अस्पताल में चिकित्सकों की लापरवाही के चलते गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत हो गई। इससे गुस्साए परिजनों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। जिसके बाद सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस परिजनों को शांत कराया। शासन प्रशासन की तमाम योजनाओं के बावजूद डॉक्टरों की लापरवाही से शासकीय अस्पतालों में प्रसव सुरक्षित नहीं हो पा रहा है इस आशय का ताजा मामला आज जिला अस्पताल में सामने आया।

मामला लालबर्रा क्षेत्र के नगपुरा है जहां प्रसूति कराने आई भुमेश्वरी कंसरे का बच्चा डॉक्टरों की लापरवाही के कारण गर्भ में ही खत्म हो गया। परिजनों के अनुसार प्रसूता को प्रसव की तिथि के पहले ही अस्पताल में भर्ती होने के बावजूद उसका सुरक्षित प्रसव नहीं कराया गया। जिसकी वजह से अजन्में बच्चे की गर्भ में ही मौत हो गई। घटना के बाद से जिला अस्पताल प्रबंधन भी सकते में है।


वहीं पीड़ित परिजन न्याय की गुहार लगा रहे हैं परिजनों ने आरोप लगाया है कि 24 मई को प्रसव के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जिसकी जांच प्रसूति विशेषज्ञ डॉक्टर गीता बारमाटे के द्वारा की गई थी। दूसरे दिन भी महिला डॉक्टर द्वारा जांच की गई लेकिन कोई समस्या नहीं बताई गई थी। तीसरे दिन भुनेश्वरी ने बताया कि बच्चे की हलचल समझ नहीं आ रही है जिसे डॉक्टर डॉ बारमाटे को बताया गया लेकिन डॉक्टर यह बोलकर पल्ला झाड़ ली कि मेरी ड्यूटी का समय नहीं है और उसने जांच नहीं की।

इसकी जानकारी जब वहां पर नर्स को दी गई तो उन्होंने कहा कि आज रविवार है सोनोग्राफी बंद है। वहीं 3 दिन भर्ती रहने पर भी जच्चा बच्चा की क्या हालत है डॉक्टर द्वारा कुछ नहीं बताया गया। जब निजी अस्पताल में ले जाकर सोनोग्राफी की गई तो वहां पता चला की बच्चे की गर्भ में ही मौत हो चुकी है। इसके परिजनों ने अस्पताल आकर नर्स को दी इसके बाद भी 3 घंटे बीत जाने के बाद भी कोई डॉक्टर प्रसूता को देखने नहीं पहुंचा। जिससे गुस्साए परिजनों ने अस्पताल में हंगामा कर दिया।

Loading...
Share it
Top