Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दो फीट नीचे जमीने से पहले आई मदर कॉल, फिर बाहर आए 232 शावक घड़ियाल

देवरी के राष्ट्रीय चंबल घड़ियाल सेंचुरी में इस समय खुशी का माहौल है क्योंकि यहां नदी से लाए गए घड़ियालों के 260 अंडों में से 232 अंडों में से नन्हें शावक घड़ियालों का जन्म हो चुका है। हैचिंग के बाद यह नन्हें शावक अंडों को तोड़कर बाहर निकलने शुरू हो गए हैं।

दो फीट नीचे जमीने से पहले आई मदर कॉल, फिर बाहर आए 232 शावक घड़ियाल
X

मुरैना। देवरी के राष्ट्रीय चंबल घड़ियाल सेंचुरी में इस समय खुशी का माहौल है क्योंकि यहां नदी से लाए गए घड़ियालों के 260 अंडों में से 232 अंडों में से नन्हें शावक घड़ियालों का जन्म हो चुका है। हैचिंग के बाद यह नन्हें शावक अंडों को तोड़कर बाहर निकलने शुरू हो गए हैं। सेंचुरी के डॉक्टरों की माने तो सभी शावक स्वस्थ्य हैं। ईको सेंटर पर पहली हैचिंग 23 मई को हुई थी और तब से अब तक छह हैचिंग हो चुकी है। इसके बाद अब 28 बच्चों का अंडों से बाहर आने का इंतजार है।

यह हैचिंग भी आने वाले तीन से चार दिन में पूरी हो जाएगी। इन्हें तीन वर्षों तक सेंचुरी में ही रखा जाएगा। 1.20 मीटर लंबे होने के बाद इन्हें चंबल नदी में छोड़ दिया जाएगा। बता दें हर साल चंबल नदी से करीब 200 घड़ियालों के अंडों को लाया जाता है और हैचिंग कराई जाती है। आंकड़ों की माने तो अभी चंबल नहीं में करीब 1265 घड़ियाल मौजूद है। मुरैना के देवरी गांव में घड़ियाल का संरक्षण एवं संवर्धन सेंटर है।


मदर कॉल के बाद अंडे से बाहर आते हैं शावक

सबसे पहले इन अंडों को रेत के कृत्रिम घोसले बनाकर रखा जमीन में करीब दो फीट नीेचे दबाकर रखा जाता है। विशेषज्ञ इन घोसलों में थर्मामीअर लगाकर रखते हैंं और लगातार इनका तापमान लेते रहते हैं। जन्म से पहले घड़ियाल अंडों में से ही एक विशेष प्रकार की आवाज निकालते हैं, जो असानी से सुनी जा सकती है। इस आवाज को मदर कॉल कहा जाता है। जिसे सुनकर विशेषज्ञ समझ जाते हैं कि बच्चों के बाहर निकाले जाने का समय हो चुका है। इसके बाद घोसले को खोदकर अंडे बाहर रख दिए जाते हैं और एक-एक करके बच्चे बाहर आने लगते हैं।

इस तरह बाहर आए

- घड़ियालों के 260 अंडे चंबल से लाकर देवरी ईको सेंटर पर सुरक्षति रखे गए थे।

- रविवार 23 मई को अंडों से पहली बार 19 घड़ियाल बाहर आए।

- इसके बाद 27 मई, 29 मई, 30 मई, 3 मई को हुई हैचिंग में 225 बच्चे बाहर आए।

- 4 जून को 07 अंडों से बच्चे बाहर आए हैं।

- अब 28 अंडों से बच्चों का बाहर निकलना शेष है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story