Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

लकड़ी टाल में लगी भीषण आग, 3 घंटे मशक्कत के बाद पाया काबू, 70 लाख की इमारती लकड़ी जलकर राख Watch Video

घनी आबादी वाले मंडी क्षेत्र स्थित एक इमारती लकड़ियों के टाल में शुक्रवार देर रात भीषण आग लग गई। तेज हवा के चलते आग ने विकराल रूप लेकर तांडव मचा दिया।

लकड़ी टाल में लगी भीषण आग, 3 घंटे मशक्कत के बाद पाया काबू, 70 लाख की इमारती लकड़ी जलकर राख Watch Video

सीहोर। घनी आबादी वाले मंडी क्षेत्र स्थित एक इमारती लकड़ियों के टाल में शुक्रवार देर रात भीषण आग लग गई। तेज हवा के चलते आग ने विकराल रूप लेकर तांडव मचा दिया। जिसकी वजह से आसपास के इलाके भी इसकी चपेत में आने से नहीं बचे। वहीं प्रशासन की बड़ी लापरवाही के चलते करीब 70 लाख की इमारती लकड़ियां जलकर राख के ढेर में तब्दील हो गई।

डेढ़ घंटे के बाद भोपाल से आई लगभग आधा दर्जन फायर ब्रिगेड की गाड़ियों ने कड़ी मशक्कत के बाद लगभग 2 घंटे में इस आग पर काबू पाया। घटना की सूचना मिलने के बाद हाल ही में भोपाल से सांसद बनीं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने घटना स्थल का निरीक्षण किया और पीड़ित परिवार को ढाढस बंधाया।


सीहोर की घनी आबादी वाले मंडी क्षेत्र में सुरेश राठौर के इमारती लकड़ियों के टाल में शुक्रवार की देर रात अज्ञात कारणों से लगी आग में कोई जनहानि तो नहीं हुई मगर इमारती लकड़ियों के टाल को पूरी तरह जलाकर राख के ढेर में तब्दील जरुर कर दिया। घटना के बाद इस इलाके में अफरा तफरी मच गई।

मगर प्रशासन की लापरवाही के चलते सीहोर की दो छोटी छोटी फायर ब्रिगेड इस भीषण आग पर काबू पाने की कोशिश करती रही लेकिन यह आग लगातार बढ़ती रही। डेढ़ घंटे के बाद भोपाल से आई लगभग आधा दर्जन फायर ब्रिगेड पहुंची तब कहीं जाकर इस आग का रेस्क्यू शुरू हुआ।


घटना की सूचना के बाद भोपाल से सांसद बनी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने घटना स्थल का निरीक्षण किया और पीढ़ित परिवार को ढाढस बंधाया। उन्होंने मीडिया से चर्चा में कहा, काफी दुखद हादसा है। पीढ़ित परिवार की सरकारी स्तर पर पूरी मदद की जाएगी।

इस हादसे की सूचना के बाद घटना स्थल पर भरी पुलिस बल तैनात किया गया। हालांकि प्रशासन का कोई बड़ा अधिकारी मौके पर नही पहुंचा। इस अग्नि हादसे को लेकर पुलिस प्रशासन ने बताया की इस अग्नि कांड के रेस्क्यू में पूरी मदद की गई। भोपाल से फायर ब्रिगेड भी बुलाई गई। इस अग्नि हादसे में कोई जनहानि तो नहीं हुई लेकिन सम्पति का काफी नुकसान हुआ है।


इस अग्नि हादसे के बाद पीढ़ित परिवार का रो रो कर बुरा हाल हो गया। उनकी ही सम्पत्ति ही आंखों के सामने धू धू कर जलती रही लेकिन समय पर उसे बुझाने का प्रबंध नहीं हो पाया। परिजनों का मानना रहा की अगर समय पर फायर ब्रिगेड आ गई होती तो यह गंभीर हादसा नियंत्रण में आ सकता था।

परिवार के लोग जरुर मकान से निकलने में कामयाब हुए लेकिन उनकी पूरी सम्पत्ति जलकर स्वाह हो गई है। परिजनों का मानना है की इस भीषण अग्नि दुर्घटना का कारण टाल के पास से निकली एक बारात के फटाको की चिंगारी हो सकती है। जिसके कारण सम्भवतः यह अग्निकांड घटित हुआ है।


Loading...
Share it
Top