Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पिता पुत्र ने जेल में बना डाला वाहन चोरों का गिरोह, पेट्रोल पम्प लूटने की कर रहे थे प्लानिंग

खजराना इलाके में पुलिस ने शातिर वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश किया है। इस गैंग को बाप बेटे मिलकर चलते थे। जिन्होंने इंदौर और उसके आसपास के इलाकों में तीन दर्जन यानि 36 गाड़ियां चोरी करना कबूल की है।

पिता पुत्र ने जेल में बना डाला वाहन चोरों का गिरोह, पेट्रोल पम्प लूटने की कर रहे थे प्लानिंग
X

महेश मिश्रा, इंदौर। खजराना इलाके में पुलिस ने शातिर वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश किया है। इस गैंग को बाप बेटे मिलकर चलते थे। जिन्होंने इंदौर और उसके आसपास के इलाकों में तीन दर्जन यानि 36 गाड़ियां चोरी करना कबूल की है। बदमाशों से पुलिस ने 15 चोरी के वाहन जब्त किए हैं। वहीं आरोपियों ने बताया उनके गिरोह 7 बदमाश ओर शामिल हैं जो घटना को अंजाम देने में उनकी मदद करते थे।

पुलिस ने वाहन चोरी में शामिल सभी सातों आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने चोर गिरोह का इलाके में जुलूस भी निकाला ताकि लोग इन शातिर चोरों की शिनाख्त कर सके और आसपास के इलाके में घूमने पर पुलिस को इसकी जानकारी दे सकें।
एएसपी शैलेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि गिरोह का सरगना इकबाल उर्फ इक्कू उर्फ श्यामराव (36) पिता अब्दुल वदूर निवासी ममता कॉलोनी (खजराना) और उसका लड़का साहिल उर्फ अभिषेक है। गैंग में शामिल बाकी आरोपी जावेद (18), अरबाज (18), विक्की उर्फ यशराज (22), आवेश (19) और अब्दुल सलीम (32) है।
दोपहर और शाम को चुराते थे वाहन
बदमाश दोपहर और शाम को सुनसान इलाकों में घरों के बाहर खड़े वाहन की रेकी करने के बाद वाहन उठाकर निकल जाते थे। चोरी के वाहनों को घटना के बाद आसपास इलाके में छो़ड़कर पैदल घूमने लगते थे। बाद में वाहन आराम से उठाकर अपने ठिकाने तक ले जाते थे। यहां तक आरोपियों के पास जब कहीं जाने के लिए पैसे नहीं होते थे तो सड़क चलता वाहन चोरी कर अपने मुकाम पर पहुंच जाते थे।
बदमाशों ने ज्यादातर वाहन उन घरों के सामने से चुराए हैं, जहां उन्हें कैमरे लगे नहीं दिखे। जिन घरों में उन्हें सीसीटीवी कैमरे लगे दिख जाते थे, वहां चोरी नहीं करते थे। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 15 वाहन जप्त किए हैं। पुलिस को आशंका है कि इनके कब्जे से और भी गाड़ियां जप्त हो सकती हैं। लिहाजा पुलिस इस बारे में पूछताछ में जुटी है।

ऐसे बना चोरों का गिरोह
आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि जेल में चोरी की सजा काटने के दौरान पिता-पुत्र की बाकी बदमाशों से मुलाकात हुई थी। जहां दोनों ने मिलकर एक गैंग तैयार कर ली थी। चोरी के वाहनों को यह लोग सस्ते दामों में बेच देते थे और इन रुपयों से अपने शौक पूरा किया करते थे। गिरोह में शामिल बदमाश पेट्रोल पंप की लूटने की योजना में भी गिरफ्तार हो चुके हैं। गिरोह का सरगना और उसके बेटे ने पुलिस से बचने के लिए अपना ठिकाना भी बदल लिया था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story