Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एक किसान का 5 रुपए, दूसरे का 13 रुपए माफ, किसानों ने कहा- इससे ज्यादा पैसों की तो हम ''बीड़ी'' पी जाते हैं

कमलनाथ सरकार ने किसानों के कर्ज माफी की शुरुआत तो कर दी है लेकिन कर्ज माफी के नाम पर किसी किसान के खाते में 5 रुपए तो किसी के 13 रुपए ही आए। वहीं निराश किसानों कहना है इससे ज्यादा पैसों की तो हम बीड़ी पी जाते हैंं। जबकि किसान दो लाख रुपए तक कर्ज माफ होने को इंतजार कर रहे थे।

एक किसान का 5 रुपए, दूसरे का 13 रुपए माफ, किसानों ने कहा- इससे ज्यादा पैसों की तो हम बीड़ी पी जाते हैं
X
भोपाल। कमलनाथ सरकार ने किसानों के कर्ज माफी की शुरुआत तो कर दी है लेकिन कर्ज माफी के नाम पर किसी किसान के खाते में 5 रुपए तो किसी के 13 रुपए ही आए। वहीं निराश किसानों कहना है इससे ज्यादा पैसों की तो हम बीड़ी पी जाते हैंं। जबकि किसान दो लाख रुपए तक कर्ज माफ होने को इंतजार कर रहे थे।
जय किसान ऋण मुक्ति योजना के तहत किसान कर्जमाफी के फॉर्म भरने लगे हैं, लेकिन जो सूची सरकारी दफ्तरों में चिपकाई जा रही है उससे किसान खासे परेशान हैं। किसानों के ऋण माफी की सूची कार्यालयों में लगाई जा रही है, उसमें काफी चौंकाने आकंड़े सामने आ रहे हैं।
इन आंकड़ों के अनुसार किसी किसान के नाम के सामने 5 रुपए, किसी के नाम के सामने 13 रुपए तो किसी के नाम के आगे 30 रुपए व सवा सौ रुपए की ऋण माफी आ रही है। जिसके बाद किसानों की सारी उम्मीदों पर पानी फिर गया है। वहीं किसानों की सबसे बड़ी परेशानी का सबब बना है सरकारी बैंकों में अंग्रेजी में लगी लिस्ट। क्योंकि अधिकांश किसानों को अंग्रेजी पढ़ना नहीं आता।
परेशान हो रहे किसान
किसानों का ऋण माफ करने का वायदा करके सत्ता में आई कांग्रेस की ऋण माफी योजना पर किसान परेशान होते नजर आ रहे हैं। कुछ किसान पासबुक के साथ बैंकों के चक्कर लगा रहे हैं। दो किसान बैंकों के चक्कर लगाते हुए दिखे जिन पर करीब दो लाख से ज्यादा का कर्ज है, लेकिन कर्ज माफी की लिस्ट में एक को 5 रुपए और दूसरे को 13 रुपए माफ किए जा रहे हैं।
शपथ लेते ही फाइल पर किए थे हस्ताक्षर
बात दें कमलनाथ ने शपथ ग्रहण वाले दिन ही चंद मिनटों में वल्लभ भवन पहुंचकर किसानों के कर्ज माफी वाली फाइल पर हस्ताक्षर कर दिए थे। उस समय सीएम के इस फैसले की खूब वाहवाही भी हुई थी।
यह भी है खास
  • कृषि मंत्री के क्षेत्र के किसान भी हैरान हैं। कई किसानों के नाम के सामने 25, 50, 150 और 300 रुपए तक का कर्ज माफी लिखी है।
  • वहीं एक किसान ने कर्ज लिया ही नहीं, लेकिन उनके नाम के सामने 180 रुपए का कर्ज माफ किया गया है। यह हैरानी करने वाली बात है।
  • मुख्यमंत्री कमलनाथ के क्षेत्र छिंदवाड़ा के ही एक किसान पर दस हजार रुपए का कर्ज है, लेकिन ऋण माफी की लिस्ट में उसे सिर्फ 232 रुपए लिखे हैं।
  • आगर मालवा के एक किसान पर भी एक लाख रुपए का कर्ज है, लेकिन उनका नाम दो लाख रुपए की कर्ज वाली लिस्ट में देखने को मिला। इसके अलावा परसुखेड़ी के एक किसान पर 2 लाख 63 हजार रुपए कर्ज है, लेकिन कर्ज माफी वाली किसी लिस्ट से उसका नाम ही गायब है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story