Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

PM मोदी की नाराजगी सामने आने के बाद, दिग्विजय ने ट्वीट कर कहा- 'शाह अपने प्रिय मित्र के बेटे को कोई नुकसान नहीं पहुंचने देंगे'

दिग्विजय ने ट्वीट कर कहा कि 'अगर ऐसा होता है तो मोदी जी आपको बधाई। यदि नहीं होता है तो यही कहेंगे आपकी कथनी और करनी में बहुत अंतर है और आपकी नियत साफ़ नहीं है।

विधायक आकाश विजयवर्गीय
X
digvijaya singh statement on akash vijayvargiya controversy

इंदौर। विधायक आकाश विजयवर्गीय द्वारा नगर निगम अधिकारियों की बुरी तरह से पिटाई का मामला कम होने की जगह तूल पकड़ता जा रहा है। भले आकाश को जमानत मिल गई है लेकिन मंगलवार को इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नाराजगी सामने आने के बाद अब भाजपा नेता भी खुलकर इसकी निंदा कर रहे हैं। वहीं हमेशा की तरह पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आकाश के बहाने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पर निशाना साधने से नहीं चुके।

दिग्विजय ने ट्वीट कर कहा कि 'अगर ऐसा होता है तो मोदी जी आपको बधाई। यदि नहीं होता है तो यही कहेंगे आपकी कथनी और करनी में बहुत अंतर है और आपकी नियत साफ़ नहीं है। मुझे नहीं लगता अमित शाह जी अपने प्रिय मित्र कैलाश विजयवर्गीय के बेटे का कोई नुकसान नहीं होने देंगे। देखते हैं।'


वहीं आकाश विजयवर्गी मामले को लेकर बोले गृहमंत्री बाला बच्चने ने कहा, दोनों पिता पुत्र को गुरूर था अब प्रधानमंत्री जी ने जो कहा है उसका जवाब दें। भाजपा के आकाश विजयवर्गी का यह कारनामा बीजेपी नेता की गुंडागर्दी पार्टी के चरित्र और चेहरे को उजागर करती है।

जो भी कानून को हाथ में लेने का काम करेगा कानून अपना बखूबी काम करेगी। फिर चाहे वह भारतीय जनता पार्टी को कोई नेता हो या कांग्रेस। कानून को हाथ में लेने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।

प्रधानमंत्री ने जताई थी नाराजगी

मंगलवार को भाजपा संसदीय दल की बैठक में आकाश का नाम लिए बिना प्रधानमंत्री ने सख्त टिप्पणी करते हुए कहा, 'ऐसा घमंड और दुर्व्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। ऐसा करने वालाें के खिलाफ सख्त कार्रवाई हाेनी चाहिए। उन्होंने कहा 'यह क्या हो रहा है? जिसके मन में जो आ रहा है, कर रहा है।

फिर उसका समर्थन भी किया जा रहा है। वह काेई भी हाे, किसी का भी बेटा हो। मनमानी नहीं चलेगी। कहा जा रहा है पहले निवेदन, फिर आवेदन फिर दनादन, यह कैसी भाषा है?' जेल से छूटने के बाद आकाश काे सम्मानित किए जाने पर भी प्रधानमंत्री ने नाराजगी जताई। उन्हाेंने कहा,'क्या होगा अगर एक विधायक कम हो जाएगा? वह इकाई भंग कर देनी चाहिए, जो स्वागत-सत्कार कर रही है। अगर काेई गलती करता है ताे उसमें खेद का भाव हाेना चाहिए।'

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story