Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

स्कूल बस से अगवा मासूम जुड़वा भाईयों का 12 दिन बाद मिला शव, क्षेत्र में तनाव का माहौल, स्थिति से निपटने 1000 पुलिस बल तैनात

जिले के चित्रकूट से पिछले दिनों स्कूल बस से अगवा हुए मासूम जुड़वा भाईयों के शवा मिलने के बाद से क्षेत्र में तनाव का माहौल बन गया है। आक्रोशित लोगों ने जहां एक ओर जहां नारेबाजी करते हुए पत्थरबाजी कर रहे हैं वहीं सड़क जाम कर आगजनी की। दोनों बच्चों के शव मिलने की पुष्टि सतना जिले के एसपी ने की है।

स्कूल बस से अगवा मासूम जुड़वा भाईयों का 12 दिन बाद मिला शव, क्षेत्र में तनाव का माहौल, स्थिति से निपटने 1000 पुलिस बल तैनात
X
मनोज रजक, सतना। जिले के चित्रकूट से पिछले दिनों स्कूल बस से अगवा हुए मासूम जुड़वा भाईयों के शव मिलने के बाद से क्षेत्र में तनाव का माहौल बन गया है। आक्रोशित लोगों ने जहां एक ओर जहां नारेबाजी करते हुए पत्थरबाजी कर रहे हैं वहीं सड़क जाम कर आगजनी की। दोनों बच्चों के शव मिलने की पुष्टि सतना जिले के एसपी ने की है।
नगरवासियों के आक्रोश को दिखते हुए किसी भी अनहोनी घटना से निपटने के लिए पुलिस करीब 1000 पुलिस बल तैनात किया है वहीं लोगों को समझााईश देने के लिए सभी बड़े आला अधिकारी मौके पर मौजूद हैं। इस बीच पुलिस और लोगों के बीच भी जमकर झूमाझटकी हुई।
बता दें रविवार सुबह पुलिस को दोनों मासूम भाईयों प्रियांश और श्रेयांश के शव यूपी के बांदा जिले के बबेरू घाट के किनारे बरामद किए हैं। बताया जा रहा है कि परिवार वालों ने अपहरणकर्ताओं की मांग पर उन्हें 25 लाख रुपए भी दे दिए थे, फिर भी उन्होंने बच्चों को मार दिया।

1 करोड़ मांगी गई थी फिरौती
अपरहणकर्ताओं ने बच्चों के माता पिता से 1 करोड़ रुपए की मांग की थी। जिसके बाद परिजनों ने 25 लाख रुपए भी दे दिए थे। पैसे मिलने के बाद आरोपियों ने अपनी पहचान छुपाने के लिए दोनों बच्चों की हत्या कर दी। हत्या के मामले में पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि गिरफ्तार आरोपियों में पांच यूपी के रहने वाले हैं जबकि एक आरोपी मध्यप्रदेश का रहने वाला है। यूपी और मध्यप्रदेश की पुलिस आरोपिय़ों को पकड़ने के लिए 13 दिनों से कोशिश कर रही थी उसके बाद भी पुलिस के हाथ सफलता नहीं लगी।
ऐसे हुआ था अपहरण
गत 12 फरवरी को यूकेजी के छात्र प्रियांश और श्रेयांश घर जाने के लिए अपनी स्कूल बस (क्रमांक एमपी 19 पी 0973) में बैठे थे। तभी बस को रोककर कुछ बदमाश पिस्टल दिखाते हुए अंदर चढ़े, इस दौरान बस में शिक्षिका, बस चालक, कंडक्टर और 30 बच्चे मौजूद थे।
एक बदमाश ने शिक्षिका को बंदूक दिखाई और दूसरा बदमाश प्रियांश और श्रेयांश को उठा लाया। यह घटना बस में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। बाद में वे बच्चों को बाइक पर बैठाकर स्कूल परिसर से बाहर निकल गए। यहां लगे कैमरों में भी वे कैद हो गए थे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story