Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

फिर राजधानी शर्मसार, नाले में मिला बच्ची का शव, दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका, पुलिस अलर्ट हो जाती तो बच सकती थी मासूम की जान Watch Video

रविवार सुबह नेहरू नगर आईएफएम मांडवा बस्ती में पास नाले में 10 साल की बच्ची का शव मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई है। बच्ची शनिवार रात 8 बजे से लापता थी। आशंका जताई जा रही आरोपियों ने बच्ची से बलात्कार के बाद उसकी हत्या कर लाश को नाले में फेंक दिया।

फिर राजधानी शर्मसार, नाले में मिला बच्ची का शव, दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका, पुलिस अलर्ट हो जाती तो बच सकती थी मासूम की जान  Watch Video
X

भोपाल। राजधानी भोपाल एक बार फिर शर्मसार हो गई है। जहां रविवार सुबह नेहरू नगर IIFM मंडवा बस्ती में पास नाले में 10 साल की बच्ची का शव मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई है। बच्ची शनिवार रात 8 बजे से लापता थी। आशंका जताई जा रही आरोपियों ने बच्ची से बलात्कार के बाद उसकी हत्या कर लाश को नाले में फेंक दिया।

मिली जानकारी के अनुसार नेहरू नगर के मंडवा झुग्गी बस्ती से शनिवार रात 8 बजे 10 साल की एक बच्ची लापता हो गई। काफी देर तक जब बच्ची नहीं दिखी तो परिजनों ने उसकी तलाश शुरू कर दी। लेकिन कहीं से भी जब बच्ची का पता नहीं चला तो परिजन बच्ची की लापता की शिकायत करने थाने पहुंचे। परिजनों का आरोप है लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हुई और पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया।

इसके बाद परिजन एक बार फिर स्थानीय पार्षद को लेकर रात 11 बजे थाने पहुंचे इसके बाद भी पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया और फिर आज रविवार सुबह नाले में बच्ची की लाश मिली। जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को नाले से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, जिसके बाद ही सच सामने आ पाएगा। इस मामले में पुलिस पर लापरवाही का आरोप लग रहे हैं, समय रहते अगर उसकी तलाश शुरू की जाती तो वह मिल जाती। लेकिन पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया।

IG योगेश देशमुख इस मामले में कहा है कि मासूम नाबालिग बच्ची की हत्या का मामला है। लापरवाही बरतने पर कमला नगर थाने के एक पुलिस कर्मी को सस्पेंड कर दिया है। प्राथमिक जांच में लग रहा है कि बच्ची के साथ कुछ गलत हुआ है लेकिन पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ स्पष्ट हो पायेगा। पुलिस घटना स्थल पर भी जांच कर रही है।

वहीं नाराज परिजनों ने पुलिस पर अभद्रता का आरोप लगाया है। उनका कहना है रात में पुलिस ने बच्ची को ढूंढने में कोई मदद नहीं की। वहीं हमीदिया अस्तपाल पहुंचे जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने घटना को दुर्भाग्य पूर्ण बताया। परिजन के पुलिस पर आरोप लगाने उन्होंने कहा, दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाही के DIG को निर्देश दिए हैंं। पुलिस का इस तरह का व्यवहार निंदनीय है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story