logo
Breaking

कम्प्यूटर बाबा ने चुनाव आयोग को दी चुनौती, कहा- हिम्मत है तो प्रज्ञा पर राष्ट्रद्रोह का केस दर्ज करके बताएं Watch Video

कम्प्यूटर बाबा ने चुनाव आयोग को चुनौती देते हुए कहा, यदि चुनाव आयोग में हिम्मत है तो वह साध्वी प्रज्ञा पर राष्ट्रद्रोह का प्रकरण दर्ज करके बताएं। लेकिन ऐसा होगा नहीं क्योंकि चुनाव आयोग प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इशारों पर काम कर रहा है।

कम्प्यूटर बाबा ने चुनाव आयोग को दी चुनौती, कहा- हिम्मत है तो प्रज्ञा पर राष्ट्रद्रोह का केस दर्ज करके बताएं Watch Video

इंदौर। शुक्रवार को इंदौर पहुंचे कम्प्यूटर बाबा ने चुनाव आयोग को चुनौती देते हुए कहा, यदि चुनाव आयोग में हिम्मत है तो वह साध्वी प्रज्ञा पर राष्ट्रद्रोह का प्रकरण दर्ज करके बताएं। लेकिन ऐसा होगा नहीं क्योंकि चुनाव आयोग प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इशारों पर काम कर रहा है। मीडिया से बातचीत दौरान बाबा ने कहा, यदि चुनाव आयोग द्वारा उन पर दर्ज प्रकरण वापस नहीं लिए गए तो वे लाखों संतों के साथ दिल्ली में आंदोलन करेंगे।

उन्होंने कहा, साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के महात्मा गांधी जी के हत्यारे गोडसे को देशभक्त बताने वाले बयान से भाजपा सिर्फ चुनाव को देखते हुए किनारा कर रही है। यदि चुनाव बाकी ना होते तो इस समय पूरी भाजपा साध्वी के गोडसे को देशभक्त और शहीद हेमंत करकरे को लेकर दिये बयान पर उनके साथ खड़ी होती। क्योंकि यही भाजपा की भी सोच है।

बाबा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी और चुनाव आयोग की आपस मे जुगलबंदी है। इसके कारण मुझ पर और मेरे वकील चन्द्र शेखर रायकवार पर प्रकरण दर्ज हुआ। आयोग प्रधानमंत्री के इशारे पर काम कर रहा है।

उन्होंने कहा, मैं भाजपा और चुनाव आयोग की निंदा करता हूं। जिस तरह आयोग ने मुझ पर एफआईआर दर्ज कर की। वहीं, काम आयोग को प्रज्ञा ठाकुर पर करना चाहिए, क्योंकि प्रज्ञा सिंह ने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को शहीद का दर्जा दिया जो कि देशद्रोह है। इसके अलावा शहीद हेमंत करकरे को भी अपमानित किया। दोनों ही मामलों में प्रज्ञा पर प्रकरण दर्ज होना चाहिए।

ममता बनर्जी को सवा सेर करार देते हुए कम्प्यूटर बाबा ने कहा, पीएम मोदी को ममता बेनर्जी जैसी सवा सेर ही चुनौती दे सकती हैं। देश के हर राज्य में ममता चाहिए जो भाजपा को सबक सिखाए। देश के हर राज्य में ममता बनर्जी चाहिए जो भाजपा को सबक़ सिखाए। मोदी और शाह तानाशाही से देश चला रहे हैं।


Share it
Top