Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अव्यवस्थाओं के भेंट चढ़ी मुख्यमंत्री कन्यादान योजना, भोजन की जगह नाश्ता, टेंकर के पानी से बुझाई प्यास

मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ गई। योजना के तहत विवाह में शिरकत करने आए परिजनों को खाना दिया जाना था लेकिन उन्हें नाश्ता देकर ही निपटा दिया गया।

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना
X
Chief Minister Kanyadan Yojana

मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ गई। योजना के तहत विवाह में शिरकत करने आए परिजनों को खाना दिया जाना था लेकिन उन्हें नाश्ता देकर ही निपटा दिया गया। यहां तक कि टेंकर का पानी पीकर प्यास बुझानी पड़ी। इतने बड़े आयोजन के लिए जनपद पंचायत ने विवाह सम्मेलन में आए लोगों के लिए पंडाल तक की भी व्यवस्था तक नहीं की। बिना पंडाल के पेड़ों की छांव में परिजनों समय बिताना पड़ा।

राजगढ़ जिले में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत 24 जोड़ों का पंजीयन हुआ था लेकिन सम्मेलन में 22 जोड़े ही पहुंचे थे। मुख्यमंत्री कन्यादान सामूहिक विवाह सम्मेलन खिलचीपुर जनपद पंचायत द्वारा गायत्री मन्दिर परिसर में आयोजित किया गया था।

खिलचीपुर जनपद पंचायत अधिकारी द्वारा विवाह सम्मेलन में आये जोड़ों और उनके परिजनों के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई। मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत विवाह सम्मेलन में शिरकत करने वाले जोड़ों और उनके परिजनों के लिए भोजन की व्यवस्था की जाना चाहिए थी लेकिन जिम्मेदारों ने भोजन की कोई व्यवस्था नहीं की और नाश्ता देकर काम चला दिया।

इतने बड़े आयोजन के लिए जनपद पंचायत ने विवाह सम्मेलन में आए लोगों के लिए पंडाल की भी व्यवस्था तक नहीं की। हां लेकिन जनपद के अधिकारियों के बैठने के लिए जरूर एक टेंट लगवाया गया। लेकिन दूल्हा दुल्हन व उनके परिजनों के लिए शादी करवाने आये लोगो के लिए टेंट के नाम पर कोई व्यवस्था नहीं थी। ऐसे में विवाह सम्मेलन में आए परिजनों ने वहां मौजूद पेड़ों की छाया में अपना समय व्यतीत करते हुए आयोजकों को कोसा।

जनपद पंचायत ने पीने के पानी के लिए एक टेंकर बुलवाया। एक टेंकर होने से उसमें पानी खत्म होने पर लोगों ने टेंकर से गिर रही एक एक बूंद से अपनी प्यास बुझाई। जीवन में शादी के समय हर दूल्हा दुल्हन को बड़ी उम्मीदें रहती हैं, आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण ये सामूहिक विवाह सम्मेलन में सरकारी मदद से विवाह के बंधन में बंधते हैं लेकिन जवाबदारों ने यहां भी हद कर दी। 24 जोड़ों के लिए केवल एक तोरण लाया गया, एक तोरण होने से दूल्हे अपनी बारी आने का इंतजार करते रहे।

मीडिया के कैमरे पर भड़के जनपद सीईओ

खिलचीपुर में हुए मुख्यमंत्री कन्यादान सामूहिक विवाह सम्मेलन की अव्यवस्थाओं को लेकर जब जनपद पंचायत खिलचीपुर के सीईओ रणजीत सिंह रधुवंशी से मीडिया ने सवाल किया कि सम्मेलन में काफी व्यवस्थाएं थी तो सीओ साहब भड़क गए उठे और कैमरे पर कहा कि आप स्वतंत्र हैं व्यवस्थाएं थी आप को जैसा लगे वैसा आप छाप सकते हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story