Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लोकसभा चुनाव 2019 मध्यप्रदेश: कमलनाथ का आग्रह, किसी अ​भेद्य सीट जहां 30 साल से कभी नहीं जीत पाई कांग्रेस वहां से चुनाव लड़ें दिग्विजय

दिल्ली से छिंदवाड़ा पहुंचे मुख्मयंत्री कमलनाथ के रुख से शनिवार को साफ हो यगा कि पार्टी दिग्विजय सिंह को किसी ऐसी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ाना चाहती है जहां से कांग्रेस लगातरचनुाव हार रही है।

लोकसभा चुनाव 2019 मध्यप्रदेश: कमलनाथ का आग्रह, किसी अ​भेद्य सीट जहां 30 साल से कभी नहीं जीत पाई कांग्रेस वहां से चुनाव लड़ें दिग्विजय
X

भोपाल। दिल्ली से छिंदवाड़ा पहुंचे मुख्मयंत्री कमलनाथ के रुख से शनिवार को साफ हो यगा कि पार्टी दिग्विजय सिंह को किसी ऐसी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ाना चाहती है जहां से कांग्रेस लगातरचनुाव हार रही है।

पत्रकारों के सवाल के जवाब में कमलनाथ ने कहा कि मैंने दिग्विजय सिंह से आग्रह किया है कि वे किसी ऐसी अभेद्य सीट से चुनाव लड़ें जहां से कांग्रेस लंबे समय से हार रही है। उन्होंने कहा कि ऐसी 3-4 सीटें हैं, जिनमें से एक को खुद दिग्विजय सिंह चुन सकते हैं। कमलनाथ ने कहा कि दिग्विजय सिंह में वह क्षमता है कि वे प्रदेश की किसी भी सीट से चुनाव जीत सकते हैं।
3-4 दिन में शुरू होगा टिकट वितरण
दो दिवसीय दौर पर छिंदवाड़ा पहुंचे कमलनाथ ने कहा कि 3-4 दिन में लोकसभा चुनाव के लिए टिकट वितरण काम शुरू हो जागएा। छिंदवाड़ा दौर पर आए कमलनाथ दे दिन में 11 चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे। कमलनाथ इस बार छिंदवाड़ा सीट से विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे जबकि छिंदवाड़ा लोकसभा सीट से उनके बेटे नकुलनाथ के चनुाव लड़ने की संभाववना है।
इनमें से कोई सीट चुन लें दिग्विजय
प्रदेश की भोपाल, इंदौर, जबलपुर के विदिशा ऐसी लोकसभा सीटें है। जो कांग्रेस के लिए अभेद्य हो गई है। कांग्रेस का कोई प्रत्यासशी इन्हें 1990 से नहीं जीत पा रहा है। दिग्विजय पर भोपाल तथा इंदौर में से किसी सीट से लड़ने का दबाव है।
इसलिए भी क्यों कि यहां दिग्विजय सिंह का लगातर संपर्क बना हुआ है। हालांकि जबलपुर कमलनाथ के प्रभाव वाली सीट है और विदिशा दिग्विजय सिंह के गृह क्षेत्र से सटा है। यहां से दिग्विजय के भाई लक्ष्मण सिंह लोकसभा का चुनाव लड़ चुके हैं।
दिग्विजय के लिए राजगढ़ सबसे आसान
कांग्रेस के लिए अ​भेद्य सीटें दिग्विजय के लिए भी आसन नहीं है। दिग्विजय ने भले कहा है कि पार्टी जहां से आदेश करेगी, वे चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं। पर सच यह है कि उनके लिए सबसे आसान उनके गृह क्षेत्र की राजगढ़ लोकसभा सीट ही है।
यहां से वे पहले भी सांसद रह चुके हैं। खबर है कि वे खुद भी राजगढ़ से ही चुनाव लड़ना चाहते हैं। दिग्विजय के एक खास समर्थक का कहना था कि जब हर नेता अपने असर वाली सीट से चुनाव लड़ता है तो दिग्विजय सिंह पर ही क्यों बाहर जाकर कठिन सीट से चुनाव लड़ने के दबाव डाला जा रहा हैै।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story