Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मध्यान्ह भोजन खाकर 150 बच्चे बीमार, परिजनों ने लगाया जहर मिलाने को आरोप Watch Video

जिला मुख्यालय से 60 किलोमीटर दूर स्थित नईगढ़ी ब्लाक के रामपुर गांव के शासकीय स्कूल में मध्यान्ह भोजन खाने से 150 से अधिक बच्चों की तबीयत खराब होने का बड़ा मामला सामने आया है।

मध्यान्ह भोजन खाकर 150 बच्चे बीमार, परिजनों ने लगाया जहर मिलाने को आरोप Watch Video
X

रीवा। जिला मुख्यालय से 60 किलोमीटर दूर स्थित नईगढ़ी ब्लाक के रामपुर गांव के शासकीय स्कूल में मध्यान्ह भोजन खाने से 150 से अधिक बच्चों की तबीयत खराब होने का बड़ा मामला सामने आया है। बुधवार दोपहर को मध्यान्ह भोजन में दाल चावल खाने बाद बच्चों को अचानक उल्टी होना शुरू हो गयी थी जिसके बाद सभी को आनन-फानन में इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नईगढी में भर्ती कराया गया। जहां उनका उपचार जारी है। वहीं दूसरी ओर परिजनों ने मध्यान्ह भोजन में जहर मिलाने का आरोप लगाया है।

वहीं घटना की खवर लगते ही नईगढी थाना प्रभारी नागेन्द्र यादव एवं नईगढी तहसीलदार एमएस आर्मो सहित घटना की जांच में जुट गए हैं। ग्रामीणों ने समूह संचालक एवं रसोइयां के बीच चल रहा बिबाद का कारण बताया जा रहा है। फिलहाल सभी बच्चों की हालात सामान्य बनी हुई है।


यह है मामला

नईगढी ब्लाक अंतर्गत शासकीय उधातर माध्यमिक विद्यालय रामपुर परिसर में ही माध्यमिक व प्राथमिक शाला का संचालन होता है। स्कूल में रोज की तरह बच्चों को बुधवार को भी दोपहर में खाना परोसा गया। खाना खाने के बाद कुछ बच्चे बेहोश गए, कुछ को उल्टी दस्त और चक्कर आने लगे। एक साथ इतने सारे बच्चों की तबीयत खराब होने की शिकायत के बाद स्कूल प्रबंधन ने आनन-फानन में इसकी सूचना 100 सहित 108 एंबुलेंस को दी। बच्चों को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नईगढी लाया गया। जहां जांच के दौरान डॉ आदित्य सिंह ने कहा कि बच्चों को फूड प्वाइजनिंग हुई है। जिसके बाद मामला गंभीर हो गया है।

खाने में जहर मिलाने का आरोप

मामले की जानकारी जब परिजनों को मिली तो वे भी पेरशान होकर अस्पताल पहुंचे। इस दौरान परिजनों ने मध्यान्ह भोजन संचालक पर आरोप लगाते हुए कहा है कि खाने में बच्चों को मारने के इरादे से जहर मिलाया गया है। इसी के चलते बच्चों की तबीयत बिगड़ी है। परिजनों का कहना पिछले कई दिनों रसोेईयां और समूह संचालक के बीच झगड़ा चल रहा है जिसका हर्जाना आज उनके बच्चों पर भुगतना पड़ रहा है।

दोषियों पर होगी कार्रवाई

मऊगंज एसडीएम एके झा ने कहा कि प्रारंभिक जांच में पता चला है जिस सहायता समूह को मध्यान्ह भोजन की जवाबदारी दी गई है उसके अध्यक्ष और रसोईया के बीच विगत 1 हफ्ते से ज्यादा समय से बोलचाल बंद है। जिसके कारण इस तरह की अनियमितता सामने आ रही है। अगर जांच में समूह दोषी पाया गया तो उसके विरुद्घ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story