Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मध्य प्रदेश चुनाव: मुख्यमंत्री और ''मामा'' दोनों की भूमिका में नजर आ रहे हैं शिवराज सिंह

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2018 में लगातार चौथी बार सत्ता में आने के लिए प्रयासरत ''मामा'' के नाम से लोकप्रिय मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आजकल प्रदेश के विभिन्न भागों में ताबड़तोड़ चुनाव प्रचार कर रहे हैं।

मध्य प्रदेश चुनाव: मुख्यमंत्री और मामा दोनों की भूमिका में नजर आ रहे हैं शिवराज सिंह
X

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2018 में लगातार चौथी बार सत्ता में आने के लिए प्रयासरत 'मामा' के नाम से लोकप्रिय मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आजकल प्रदेश के विभिन्न भागों में ताबड़तोड़ चुनाव प्रचार कर रहे हैं।

इस दौरान वह हेलीकाप्टर के अंदर ही झपकी लेकर अपनी नींद पूरी करते हैं और अपने घर का बना भोजन ले जाकर खाते हैं, ताकि इस विशाल प्रदेश के हर हिस्से को कवर किया जा सके। रैलियों में प्रदेश के बच्चे-बच्चियों द्वारा 'मामा-मामा' कहे जाने पर उनका जवाब देते हुए चौहान उनसे कहते हैं कि आपके मामा आपका ख्याल रखेंगे।

इसके अलावा, वह अपनी किसी भी रैली में कांग्रेस पर तंज कसने से कभी नहीं चूकते। भाजपा पिछले 15 साल से मध्यप्रदेश में सत्ता में है। 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की ओर से भी सत्ता में वापसी के लिए कड़े प्रयास किए जा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें- कांग्रेस ने सिद्धू के लिए मांगी सीआईएसएफ की सुरक्षा, सुरजेवाला ने गृहमंत्री को लिखा पत्र

दिग्विजय सिंह की अगुवाई में वर्ष 1993 से वर्ष 2003 तक के कांग्रेस नीत 10 साल के शासन की ओर इशारा करते हुए चौहान ने शनिवार को प्रचार अभियान के दौरान बताया कि जब तक रहेगा दिग्गी (मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह) तब तक जलेगी डिब्बी।

उन्होंने आरोप लगाया कि दिग्विजय के शासन के जमाने में प्रदेश की जनता को लगता था कि जब तक दिग्विजय सिंह सत्ता में रहेंगे, तब तक उन्हें (जनता को) अपने घर में रात में उजाला करने के लिए मिट्टी तेल की चिमनियां (ढिबरी) जलानी पड़ेंगी।

भाजपा मध्यप्रदेश में चौथी बार लगातार सत्ता में आने के लिए चौहान की छवि पर काफी हद तक निर्भर है, जबकि कांग्रेस नेता महसूस कर रहे हैं कि चौहान खिलाफ इस बार सत्ता विरोधी लहर है। चौहान मध्यप्रदेश में नवंबर 2005 से मुख्यमंत्री हैं।

इसे भी पढ़ें- तेलंगाना चुनाव के लिए उत्तम कुमार रेड्डी, किशन रेड्डी और ओवैसी ने दाखिल किया नामांकन

नीमच जिले के जावद विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत रतनगढ़ जाते वक्त चौहान ने हेलीकाप्टर में कहा कि कांग्रेस पिछले 15 साल से मध्यप्रदेश में सत्ता से बाहर है और जब उनको लगता है कि मैं चौथी बार लगातार सत्ता में आ रहा हूं, तो कांग्रेस नेताओं को गुस्सा आने लगता है तथा वे मुझ पर एवं मेरे परिवार के सदस्यों पर निराधार आरोप लगाने लगते हैं।

चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने कहा कि यहां तक कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी ऐसा ही कर रहे है और उन्होंने (राहुल) मेरे बेटे तक को नहीं छोड़ा और उसका नाम पनामा पेपर लीक में घसीटा।

मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा द्वारा आज जारी दृष्टिपत्र (घोषणापत्र) पर चौहान ने कहा कि संसाधनों पर समाज के हर वर्ग का हक है और हमारा दृष्टिपत्र हर गरीब को उसकी बुनियादी जरूरतें रोटी, कपड़ा, मकान, बच्चों की पढ़ाई और बीमारों की दवाई उपलब्ध कराने का संकल्प पत्र है।

उन्होंने कहा कि पार्टी के दृष्टिपत्र में गरीबों और किसानों को प्राथमिकता दी गई है। छोटे किसानों (लघु एवं सीमांत) के लिए विशेष प्रावधान किए गए हैं, जो गेम चेंजर (बाजी पलटने वाले) साबित होंगे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story