Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मध्य प्रदेश चुनाव/ स्कूल मतदान केंद्र में तब्दील, ऐसे कैसे उज्जवल होगा भविष्य

सरकारी व निजी स्कूलों में विधानसभा चुनाव को लेकर मतदान केन्द्र बनाने की तैयारी चल रही है, इसके साथ ही राजधानी की कई स्कूलों की बसें भी चुनाव आयोग द्वारा अधिग्रहीत कर ली गई हैं। अब ऐसे में बच्चों को स्कूल जाने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

मध्य प्रदेश चुनाव/ स्कूल मतदान केंद्र में तब्दील, ऐसे कैसे उज्जवल होगा भविष्य
X

सरकारी व निजी स्कूलों में विधानसभा चुनाव को लेकर मतदान केन्द्र बनाने की तैयारी चल रही है, इसके साथ ही राजधानी की कई स्कूलों की बसें भी चुनाव आयोग द्वारा अधिग्रहीत कर ली गई हैं। अब ऐसे में बच्चों को स्कूल जाने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जबकि जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा केवल मतदान वाले दिन की ही छुटटी घोषित की गई है।

विधानसभा चुनाव को लेकर स्कूलों में मंगलवार और बुधवार को छुट्टी रहेगी। इस संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) ने स्कूलों को आदेश जारी नहीं किया है। इससे सरकारी स्कूलों के प्राचार्य असमंजस की स्थिति में हैं कि मंगलवार को उन्हें स्कूल बंद करने के लिए डीईओ की ओर से कोई आदेश नहीं मिला है। ऐसे में बच्चों को स्कूल आने के लिए कहा गया है।

इसे भी पढ़ें- मध्य प्रदेश / राजधानी में 12 सौ CCTV कैमरों से रखी जाएगी मतदान केंद्रों पर नजर, 6 हजार पुलिसकर्मी तैनात

वहीं 28 नवंबर को मतदान होने के कारण घोषित छुट्टी है, इसलिए बच्चों के लिए भी स्कूल बंद रहेगा। वहीं निजी स्कूलों की बसें चुनाव में अधिग्रहित होने से मंगलवार व बुधवार की छुट्टी रहेगी, लेकिन सरकारी स्कूल के बच्चे स्कूल पहुंचेंगे और परेशान होंगे। जिन स्कूलों में मतदान केंद्र बनाए गए हैं। वहां पर मतदान दल दोपहर 12 बजे से पहुंच जाएंगे, साथ ही शिक्षकों की ड्यूटी भी लगनेे के कारण पढ़ाई नहीं होगी। लेकिन स्कूलों ने बच्चों को मंगलवार की छुट्टी नहीं दी।

स्कूल मतदान केंद्र के लिए तैयार

जिन स्कूलों में मतदान केंद्र बने हैं। वहां पर सोमवार को मतदान केंद्र के लिए स्कूलों को तैयार कर दिया गया है। वहां के फर्नीचर भी हटा दिए गए हैं। ऐसे में अगर बच्चे स्कूल आते हैं तो उन्हें बैठने की व्यवस्था भी नहीं होगी। प्राचार्यों का कहना है कि स्कूलों को मतदान केंद्र के लिए तैयार कर दिया गया है तो सोमवार को बच्चे कैसे पढ़ाई करेंगे।

इसे भी पढ़ें- तेलंगाना / महाकुटुम्बी उम्मीदवारों के लिए राहुल और नायडू करेंगे रैली

जिले के 92 हजार बच्चों ने जमा किया पत्र

स्कूली बच्चों ने अपने माता-पिता को पत्र लिखकर मतदान करने के लिए प्रेरित किया था। इसके बाद बच्चों को माता-पिता से पत्र पर मतदान करने का वचन लेकर स्कूल में जमा करना था। सोमवार को जिले के 92 हजार बच्चों ने स्कूल में पत्र जमा किए।

छःमाही परीक्षा के मददेनजर नही दी छुटटी

भोपाल के डीईओ धर्मेंन्द्र शर्मा ने कहा कि एक दिसम्बर से सरकारी व निजी स्कूलों में छःमाही परीक्षाओं का आयोजन किया जा रहा है। ऐसे में बच्चों की पढ़ाई बाधित ना हो इसलिए केवल एक दिन की छुटटी घोषित की गई है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story