Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मध्य प्रदेश चुनाव/ किसान पुत्र-राजपरिवार के सदस्य और डाक्टर भी मैदान में

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव के तहत बुधवार को वोट डाले जाएंगे और मैदान में विभिन्न स्टार उम्मीदवार हैं जिनमें मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से लेकर राजपरिवार के सदस्य, पूर्व नौकरशाह और चिकित्सक भी शामिल हैं।

मध्य प्रदेश चुनाव/ किसान पुत्र-राजपरिवार के सदस्य और डाक्टर भी मैदान में
X

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव के तहत बुधवार को वोट डाले जाएंगे और मैदान में विभिन्न स्टार उम्मीदवार हैं जिनमें मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से लेकर राजपरिवार के सदस्य, पूर्व नौकरशाह और चिकित्सक भी शामिल हैं। चुनाव मैदान में कई आम व्यक्ति और किन्नर भी हैं जो 230 सदस्यीय राज्य विधानसभा के लिए अपना भाग्य आजमा रहे हैं। राज्य में लगातार 15 वर्षों से भाजपा सत्ता में है।

चौहान लगातार चौथी बार भाजपा के मुख्यमंत्री का चेहरा हैं और वह सीहोर जिले की अपनी परंपरागत बुधनी सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। कांग्रेस के कई दिग्गज विधानसभा चुनाव नहीं लड़ रहे हैं जिनमें पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ और गुना से सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें- मध्य प्रदेश/ घर बैठे सक्रिय कार्यकर्ता, गड़बड़ा सकता है भाजपा का बूथ मैनेजमेंट

हालांकि उनके समक्ष यह सुनिश्वित करने की चुनौती है कि उनकी पार्टी उनके गढ़ में जीत दर्ज करे। दिग्विजय सिंह और कुछ अन्य दिग्गजों के मामले में उनके परिवार के सदस्य चुनाव मैदान में हैं।

दो सबसे बड़े स्वयं घोषित ‘‘किसान पुत्र' चौहान और मध्यप्रदेश कांग्रेस के पूर्व प्रमुख अरूण यादव बुधनी सीट पर एक-दूसरे के खिलाफ मैदान में हैं। इस सीट से वर्तमान मुख्यमंत्री चौहान ने 1989-90 में अपना पहला विधानसभा चुनाव लड़ा था। यादव यद्यपि पश्चिमी मध्यप्रदेश के निमार क्षेत्र के खरगौन जिले के रहने वाले हैं लेकिन कांग्रेस ने उन्हें इस बार बुधनी सीट से उम्मीदवार बनाया है ताकि वह चौहान को उनके गृह मैदान में चुनौती दे सकें।

चौहान ने यादव को 'बलि का बकरा' बताया है लेकिन कांग्रेस नेता अपनी जीत के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। यादव ने पीटीआई से कहा, ‘‘चौहान के इस सीट से चार बार निर्वाचित होने के बावजूद बुधनी इलाका सभी क्षेत्रों में पिछड़ा है। भाजपा की एक अन्य दिग्गज नेता एवं मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया चौथी बार शिवपुरी सीट से चुनाव लड़ रही हैं जबकि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजेपयी के भांजे अनूप मिश्रा ग्वालियर जिले के भितरवार से चुनाव लड़ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें- मध्य प्रदेश चुनाव/ 5.50 लाख कर्मचारी व सुरक्षा बल तैनात, पहली बार टेंडर वोट का प्रावधान

जनसम्पर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा (दतिया), पूर्व आईपीएस अधिकारी रूस्तम सिंह (मुरैना), पूर्व विपक्षी नेता चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी (भिंड) अन्य प्रमुख उम्मीदवारों में शामिल हैं। दिग्विजय सिंह के पुत्र जयवर्धन अपने गढ़ राघोगढ़ से लगातार दूसरी बार चुनाव लड़ रहे हैं जबकि उनके भाई लक्ष्मण सिंह चाचौड़ा से अपना भाग्य आजमा रहे हैं।

दिग्विजय सिंह के एक और रिश्तेदार व खिलचीपुर के पूर्व शाही सदस्य, पूर्व विधायक प्रियवर्त सिंह, राजगढ़ जिले की सीट खिलचीपुर से चुनाव मैदान में हैं। इसके अलावा अर्जुन सिंह के पुत्र एवं विपक्ष के नेता अजय सिंह सीधी जिले में स्थित अपनी परंपरागत चुरहट सीट से मैदान में हैं। गोवा के पूर्व राज्यपाल एवं नरसिंहगढ़ के पूर्व राजा दिवंगत भानु प्रताप सिंह के पुत्र एवं पूर्व विधायक राज्यवर्धन सिंह भाजपा के टिकट पर नरसिंहगढ़ से चुनाव लड़ रहे हैं।

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के पुत्र आकाश अपना पहला चुनाव इंदौर..तीन सीट से पूर्व कांग्रेस विधायक अश्विन जोशी के खिलाफ लड़ रहे हैं। यह मुकाबला भाजपा और कांग्रेस दोनों के लिए प्रतिष्ठित बन गया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भुरिया के पुत्र डा विक्रांत भुरिया अपना पहला चुनाव आदिवासी झाबुआ सीट से लड़ रहे हैं जबकि अन्य चिकित्सक डा. हीरालाल अलवा कांग्रेस टिकट पर धार जिले के मनवार सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

प्रमुख महिला उम्मीदवारों में अर्चना चिटनीस बुरहानपुर सीट से, भोपाल की पूर्व मेयर कृष्णा गौर भोपाल जिले की गोविंदपुर सीट से चुनाव मैदान में हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता सुरेश पचौरी को वर्तमान विधायक एवं मंत्री सुरेंद्र पटवा के खिलाफ रायसेन जिले की भोजपुर सीट से उम्मीदवार बनाया गया है।

टिकट नहीं मिलने पर भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल होने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री सरताज सिंह होशंगाबाद सीट से विधानसभा अध्यक्ष डा. सीताशरण शर्मा के खिलाफ चुनाव मैदान में हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के साथ ही प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह की प्रतिष्ठा दांव पर है क्योंकि दोनों महाकौशल क्षेत्र से आते हैं।

राकेश सिंह जबलपुर से लोकसभा सीट से सांसद हैं जबकि कमलनाथ छिंदवाड़ा से संसद के निचले सदन के लंबे समय से सदस्य हैं। पूर्व स्वास्थ्य निदेशक डा के एल साहू हाल में गठित सपाक्स समाज पार्टी से भोपाल दक्षिण पश्चिम सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। आप प्रदेश प्रमुख आलोक अग्रवाल भोपाल दक्षिण पश्चिम सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

आलोक मध्यप्रदेश में आप के मुख्यमंत्री का चेहरा भी हैं। चुनाव लड़ रहे छह किन्नरों में प्रमुख पूर्व विधायक शबनम मौसी अनूपपुर जिले की कोटमा सीट से और नेहा किन्नर मुरैना जिले की अंबाब सीट से चुनाव लड़ रही है। चुनाव आयोग के आंकडे़ के अनुसार 230 विधानसभा सीटों से कुल 2,907 उम्मीदवार मैदान में हैं।

सबसे अधिक 34 उम्मीदवार भिंड जिले के मेहगांव विधानसभा सीट पर मैदान में हैं। वहीं सबसे कम चार उम्मीदवार पन्ना जिले के गुन्नोर सीट से चुनाव मैदान में हैं। मुख्य मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच है, बसपा ने 227 उम्मीदवार उतारे हैं जबकि सपा 51 सीटों पर चुनाव लड़ रही हैं। आप ने 208 उम्मीदवार उतारे हैं।

मतदाता सूची के अनुसार राज्य में 5,04,95,251 मतदाता हैं जिसमें 2,63,01,300 पुरूष, 2,41,30,390 महिला और 1,389 तीसरे लिंग के मतदाता हैं। इसके साथ ही 62,172 डाक मतदाता हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 165 सीटों पर जीत दर्ज की थी, कांग्रेस ने 58, बसपा ने चार सीटें जीती थीं जबकि निर्दलीय तीन सीटों पर विजयी रहे थे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story