Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मध्यप्रदेश चुनाव/ मतदान से ठीक पहले प्रत्याशियों ने घर-घर जाकर मांगे वोट, दिग्गजों ने संभाला मोर्चा

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए मतदान से एक दिन पहले मंगलवार को पूरे दिन प्रत्याशियों ने घर-घर जाकर वोट मांगे। प्रदेशभर की 230 विधानसभा सीटों के लिए सोमवार शाम प्रचार थमने के बाद प्रत्याशियों ने देर रात तक कमरा बैठकें कर चुनावी रणनीति बनाई।

मध्यप्रदेश चुनाव/ मतदान से ठीक पहले प्रत्याशियों ने घर-घर जाकर मांगे वोट, दिग्गजों ने संभाला मोर्चा
X

विधानसभा चुनाव के लिए मतदान से एक दिन पहले मंगलवार को पूरे दिन प्रत्याशियों ने घर-घर जाकर वोट मांगे। प्रदेशभर की 230 विधानसभा सीटों के लिए सोमवार शाम प्रचार थमने के बाद प्रत्याशियों ने देर रात तक कमरा बैठकें कर चुनावी रणनीति बनाई। जबकि भाजपा के दिग्गजों ने अपने-अपने क्षेत्रों में जाकर मोर्चा संभाला।

मप्र की जनता बुधवार को प्रदेश की तकदीर तय करेगी। इसके साथ यह भी तय होगा कि किसे सत्ता की गद्दी मिलेगी और कौन अगले पांच सालों तक फिर इंतजार करेगा। मतदान से ठीक एक दिन पहले आचार संहिता को ध्यान में रखते हुए प्रदेशभर के सभी प्रत्याशियों ने बिना माइक, बिना सभा के गली-मोहल्लों में घर-घर पहुंचकर अपने लिए वोट मांगे।
प्रत्याशियों के एजेंट बुधवार सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक होने जा रहे मतदान के लिए अपने - अपने समर्थकों से अधिक से अधिक संख्या में मतदान के लिए पहुंचाने की रणनीति को लेकर एक दिन पहले पार्टियों ने बंद कमरे में बैठक कर रणनीति की।
इस दौरान हर पोलिंग बूथ के लिए राजनीतिक दलों ने सक्रिय कार्यकर्ताओं को जवाबदारी सौंपी। बूथ कार्यकर्ताओं को अपने पक्ष के ज्यादा से ज्यादा लोगों को वोट डालने के लिए प्रेरित करने के लिए कहा गया।
दिग्गजों ने अपने-अपने क्षेत्राें में संभाला मोर्चा -
भाजपा और कांग्रेस के दिग्गज नेता अपने-अपने क्षेत्रों में मोर्चा संभालने पहुंच गए हैं। बुदनी के कांग्रेस उम्मीदवार और पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण यादव को भी अपना चुनाव प्रचार छोड़कर एक दिन पहले अपने छोटे भाई सचिन यादव के क्षेत्र में चुनावी मैनेजमेंट के लिए जाना पड़ा।
मंगलवार को फिर अरुण यादव वापस बुदनी में सक्रिय रहे। कांग्रेस नेता सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने संसदीय क्षेत्र गुना-अशोकनगर क्षेत्र के अंतर्गत विधानसभाआें में अपने समर्थक प्रत्याशियों की चुनावी रणनीति बनाने में व्यस्त रहे।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने भी छिंदवाड़ा पहुंचकर पार्टी कार्यकर्ताओं को सक्रिय किया। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह अपने भाई लक्ष्मण सिंह की विधानसभा चाचौड़ा और बेटे की विधानसभा राघौगढ़ में सक्रिय रहे। दिग्विजय सिंह ने अपने समर्थकों को फोन लगाकर संपर्क किया। बैठक कर चुनावी रणनीति भी बनाई। मुख्यमंत्री और बुदनी से भाजपा प्रत्याशी शिवराज सिंह चौहान मंगलवार की रात को बुदनी पहुंचे।
मंगलवार रात को अपने खास समर्थकों और चुनाव का काम संभाल रहे बेटे कार्तिकेय के साथ बैठक कर शिवराज सिंह ने पूरी रिपोर्ट ली। बुधवार को शिवराज सिंह बुदनी विस में ही व्यस्त रहेंगे। भाजपा ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को क्षेत्रों की जिम्मेदारी सौंपी है। इसके अनुसार वीडी शर्मा विंध्य अंचल की सीटाें का चुनावी मैनेजमेंट संभाल रहे हैं।
राकेश सिंह ने जबलपुर पहुंचकर पूरे संभाग की सीटाें पर रणनीति बनाई। प्रदेश उपाध्यक्ष विनोद गोंटिया भी जबलपुर, कटनी की सीटों को लेकर भाजपा नेताओं से संवाद करते रहे। नरेन्द्र सिंह तोमर पिछले एक सप्ताह से ग्वालियर - चंबल अंचल में पार्टी प्रत्याशियों के लिए अपना पूरा समय दे रहे हैं।
राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय को आखिर कार अपने बेटे आकाश की सीट संभालने जाना ही पड़ गया, पहले उन्होंने कहा था कि वे आकाश की सीट पर प्रचार करने नहीं जाएंगे। विजयवर्गीय इंदौर की सभी सीटों पर अपना समय दे रहे हैं।
राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा भी मंगलवार को ग्वालियर पहुंच गए। प्रहलाद पटेल दमोह, छतरपुर जिलों की विधानसभाओं में प्रचार करने के बाद सोमवार और मंगलवार को अपने भाई जालम सिंह पटेल के लिए नरसिंहपुर विधानसभा में व्यस्त रहे।
पटेल ने नरसिंहपुर नगर में पैदल घूमकर जालिम सिंह के लिए जनता से आशीर्वाद मांगा। केन्द्रीय राज्यमंत्री वीरेन्द्र कुमार खटीक छतरपुर विधानसभा में व्यस्त रहे।
अपने -अपने क्षेत्रों में करेंगे मतदान -
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने बताया कि वे बुदनी पहुंचकर बुधवार सुबह सबसे पहले मतदान करने की कोशिश करेंगे। उनके अलावा भाजपा कांग्रेस के सभी नेतागण अपने-अपने निवास से संबंधित निर्वाचन क्षेत्रों में पहुंचकर मतदान करेंगे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story