Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

MP Assembly Election: चुनाव आयोग ने मतदाता सूची को लेकर जारी किए निर्देश, झूठी खबर पर होगा आपराधिक केस दर्ज

भारत निवार्चन आयोग के मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा कि कई लोग मतदाता सूची की झूठी शिकायतें कर रहे हैं। ऐसे में साफ कर दिया गया है कि यदि कोई झूठी शिकायतें करता है तो ऐसे व्यक्ति के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया जाएगा।

MP Assembly Election: चुनाव आयोग ने मतदाता सूची को लेकर जारी किए निर्देश, झूठी खबर पर होगा आपराधिक केस दर्ज
X
भारत निवार्चन आयोग के मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा कि कई लोग मतदाता सूची की झूठी शिकायतें कर रहे हैं। ऐसे में साफ कर दिया गया है कि यदि कोई झूठी शिकायतें करता है तो ऐसे व्यक्ति के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया जाएगा।
उन्होंने कलेक्टरों को भी कई तरह की हिदायतें दी है। कुछ कलेक्टरों को व्यवस्था दुरूस्त नहीं होने पर फटकार भी लगाई। मुख्य चुनाव आयुक्त रावत के साथ आयोग का फुल बेंच मप्र के दो दिनी दौरे पर आया हुआ था।
बुधवार को रावत ने फुल बेंच के साथ प्रेस कांफ्रेंस की। उन्होंने राजनैतिक दलों की चिंताओं पर कहा कि तैयारियों की समीक्षा की गई है। उस पर संतोष जताया गया है। राजनैतिक पार्टियों के सुझाव के साथ ही उन्होंने कहा कि मतदाता सूचियों की शिकायतें लगातार की जाती है।
जब भी उसकी जांच होती है तो उसमें कुछ नहीं मिलता। उन्होंने कलेक्टरों व पुलिस अधिकारियों की बैठक में कहा कि यदि इस तरह की शिकायतें आती हैं और जांच में वह झूठी पाई जाती है तो तत्काल ऐसे व्यक्ति पर आपराधिक मामला दर्ज कर कार्रवाई करें।

यह भी पढ़ें- मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2018: 230 विधानसभाओं में 538 उम्मीदवारों ने नामांकन फार्म लिए वापस

इसमें किसी भी तरह की कोताही नहीं करें। रावत ने कहा कि यह भी देखने में आ रहा है कि कई लोग निर्वाचक नामावली की झूठी शिकायत कर देते हैं। बाद में वह झूठी निकलती है। इससे आयोग का समय बेवजह जाया होता है। इससे कई जरूरी कार्य पिछड़ जाते हैं।

कुछ कलेक्टरों के कार्यों पर नाराजगी

समीक्षा बैठक के दौरान कुछ कलेक्टरों के कार्य संतोषजनक नहीं पाए गए। वे जवाब भी ठीक से नहीं दिए। इस पर रावत ने कलेक्टरों को जमकर फटकार लगाई। उनसे कहा कि दो तीन दिन में सभी तैयारी दुरूस्त कर लें।
सी-विजिल के प्रचार-प्रसार में हीलाहवाली पर कहा कि यह ठीक नहीं है। आयोग ने भरपूर पैसा दिया है। कई राज्यों में सी-विजिल पर काफी शिकायतें आती है। इससे समस्याएं कम हो जाती है। पर यहां तो जैसे इस बारे में मतदाता को पता ही नहीं है।

यह भी पढ़ें- मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2018: राजनीतिक दलों की ढेरों शिकायतें, देखें लिस्ट

मप्र में सी-विजिल एप पर शिकायतों का परफारमेंस काफी खराब है। इसे हर हाल में सुधारे, ताकि मतदाता इसका पूरा उपयोग कर सकें।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story