Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अस्पताल में साथी आरक्षक की मौत पर पुलिकर्मियों की कथित गुंडागर्दी, मामला सुलझाने पहुंचे एडिशनल SP

मध्यप्रदेश के बुरहानपुर में गुरुवार देर रात एक निजी अस्पताल में पुलिसकर्मियों के कथित रूप से गुंडागर्दी का मामला प्रकाश में आया है।

अस्पताल में साथी आरक्षक की मौत पर पुलिकर्मियों की कथित गुंडागर्दी, मामला सुलझाने पहुंचे एडिशनल SP

मध्यप्रदेश के बुरहानपुर में गुरुवार देर रात एक निजी अस्पताल में पुलिसकर्मियों के कथित रूप से गुंडागर्दी का मामला प्रकाश में आया है। पुलिसकर्मियों ने साथी आरक्षक की मौत के लिए अस्पताल कर्मचारियों को जिम्मेदार ठहराते हुए उनके साथ बदसलूकी और मारपीट करने के साथ हत्या का केस दर्ज करने की धमकी तक दे डाली। बताया जा रहा है अस्तपताल में हंगामा करने वाले पुलिसकर्मी सिविल ड्रेस में थे। मामलास बुरहानुपर के लालबाग थाना क्षेत्र के मोहम्मदपुरा गांव स्थित एप्पल अस्तपताल का है।

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को कोतवाली टीआई की बिदाई पार्टी चल रही थी इस दौरान ही जितेंद्र नरवारे की तबीयत अचानक खराब हो गई। आनन-फानन में उन्हें इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। लेकिन अस्पताल के डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस पर पुलिसकर्मियों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए अस्पताल के स्टाफ से मारपीट और बदसलूकी करना शुरू कर दिया। हंगामे की सूचना मिलते ही अस्पताल पहुंचे एडिशनल एसपी ने स्थिति को संभाला और घायलों का मेडिकल कर निष्पक्ष जांच का भरोसा दिया। उन्होंने कहा, दोनों पक्षों को सुनने के बाद ही कोई ठोस कार्रवाई की जाएगी।

पूछताछ में अस्पताल के पीड़ित स्टाफ मधुकर महाजन ने बताया कि मरीज को मृत बताने के बावजूद वे इलाज करने का दबाव बनाने लगे और उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। उन्हें जांच करने तक का मौका नहीं दिया। स्टाफ का कहना है कि पुलिसकर्मियों की संख्या करीब 60-70 थी और उन्होंने शराब भी पी रखी थी।

गुस्साए आरक्षकों ने पुलिसिया अंदाज में सभी स्टाफ के सदस्यों को एक कमरे में ले गए उनकी मोबाइल से फोटो खींची और उनके साथ मारपीट की। वहीं अस्पताल के स्टाफ ने आरोपी पुलिसकर्मियों पर ठोस कार्रवाई नहीं होने तक हड़ताल पर जाने का ऐलान कर दिया है।

Next Story
Top