Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मध्यप्रदेश समाचार:हज पर जाने का सुनहरा मौका, चुन लिए गए, खुल गई किस्मत

प्रदेश के 15 हजार 654 आवेदकों में से इस बार 3 हजार 820 लोगों को हज पर जाने का मौका मिला है। जिसमें भोपाल के 439 लोगों को हज पर जाने का मौका मिला है। इस बार से पहले आवेदन करने वालों को प्राथमिकता नहीं दी गई है।

मध्यप्रदेश समाचार:हज पर जाने का सुनहरा मौका, चुन लिए गए, खुल गई किस्मत
X
भोपाल। प्रदेश के 15 हजार 654 आवेदकों में से इस बार 3 हजार 820 लोगों को हज पर जाने का मौका मिला है। जिसमें भोपाल के 439 लोगों को हज पर जाने का मौका मिला है। इस बार से पहले आवेदन करने वालों को प्राथमिकता नहीं दी गई है।
जबकि 70 साल से ऊपर वाले 7 सौ से अधिक सीटें 70 साल से अधिक आयु के हज आवेदकों के लिए आरक्षित श्रेणी में चली गई हैं, जबकि 27 सीटें वगैर मेहरम के हज करने वाली महिलाओं के लिए आरक्षित रखी गई हैं।
शेष रह गए 15 हजार 759 आवेदकों में से करीब 2 हजार 708 सीटों के लिए कुरआ निकाला गया। जिसके तहत मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंगलवार को ताजुल मसाजिद परिसर में कम्प्यूटराइज्ड कुरआ के लिए बटन दबाकर कुरआ निकाला।
इस दौरान जिन हज यात्रियों का कवर नंबर लॉटरी में निकला उनके चेहरों पर खुशी देखी गई, जबकि कई लोग नाम नहीं आने पर मायूस भी नजर आए, लेकिन उन्होंने इसे अल्लाह की मर्जी मानते हुए सब्र किया।
करीब पंद्रह साल बाद बाद प्रदेश के हजयात्रियों के चयन के लिए किए जाने वाले कुरआ में अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आरिफ अकील ने शिरकत की। मुख्यमंत्री ने कंप्यूटर का बटन दबाया और मुंबई में किए गए कुर्रा के नतीजे सामने आने लगे।
जैसे ही हाजियों के नाम अकीदत के सफर के लिए नाम खुलने लगे लोगों के चेहरों पर सुकून और शुक्र की झलक दिखाई देने लगी। इस दौरान पीर शिराज मियां मुजद्दीदी के अलावा शहर काजी मुश्ताक अली नदवी, शहर मुफ्ती अबुल कलाम, इंदौर शहर काजी डॉ. इशरत अली, रायसेन शहर काजी जहीर उद्दीन का मुख्यमंत्री ने शॉल उढ़ाकर इस्तकबाल किया।
कार्यक्रम के आखिर में मुफ्ती अबूल कलाम ने दुआ पढ़ाई। जिन हज आवेदकों का चयन हज के लिए कुरआ से हुआ है उन्हें इसकी जानकारी एसएमएस से भेजी जा रही है। हज यात्री मप्र हज कमेटी की वेबसाइट पर भी इसकी जानकारी ले सकते हैं।
एकता ही हमारी ताकत : कमलनाथ
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने हज आवेदकों को मुबारकबाद देते हुए कहा कि चुने हुए हाजी जब सउदी अरब में जाकर हिन्दुस्तान का परचम लहराएंगे तो वह खुशी का मौका होगा। उन्होंने देश और मप्र की संस्कृति को रेखांकित करते हुए कहा कि पूरी दुनिया में भारत ही एकलौता देश है जहां सभी धर्मों और जातियों के लोग मिलजुलकर रहते हैं।
एक-दूसरे के त्यौहारों और दुख-सुख में शामिल होते हैं। उन्होंने आश्वस्त किया कि कोशिश की जाएगी कि प्रदेश के इंदौर और भोपाल इंबारकेशन पाइंट से फ्लाइट की रवानगी इसी साल शुरू हो जाए। हज कोटा बढ़ाने की बात पर उन्होंने कहा कि जल्दी ही केन्द्र में कांग्रेस की सरकार आने वाली है। इसके आने के बाद देश के हाजियों को अकीदत पूरी करने के लिए कतार लगाकर खड़े नहीं होना पड़ेगा।
मिल जाए सीधी उड़ान : अकील
अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आरिफ अकील ने मुख्यमंत्री के सामने मांग रखी कि जिस तरह यहां से हाजियों को सीधी उड़ान की सुविधा उपलब्ध थी, वैसी कोशिश फिर से की जाए। उन्होंने कहा कि हाजी पैसा खर्च करने को तैयार है, लेकिन केन्द्र सरकार ने लोगों से एक सुविधा छीन ली है।
चुन लिए गए, खुल गई किस्मत
मुंबई में हुए कुरआ के बाद आॅनलाइन सीधा प्रसारण देखने वाले हाजियों के चेहरों के भाव पुकारे जाने वाले नामों के साथ उतरते-चढ़ते दिखाई दे रहे थे। जिन लोगों का नाम हज के लिए चुन लिया गया था, वह अल्लाह का शुक्र अदा करते नजर आ रहे थे, उनके चेहरे खुशी से दमकते नजर आ रहे थे, जबकि जिनके नाम कुरआ में नहीं आ पाए, वे मायूस जरूर दिखे लेकिन उन्होंने इसे अल्लाह की रजा मानते हुए उसके फैसले को कुबूल किया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story