Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नोटिस के बाद भी 4 मंत्रियों और 15 पूर्व विधायकों ने खाली नहीं किया सरकारी बंगला

मप्र की 15 वीं विधानसभा में चुनाव जीतकर आए 4 मंत्रियों व करीब 15 पूर्व विधायकों ने अभी तक विधानसभा पूल का पिछले कार्यकाल में आवंटित बंगला खाली नहीं किया है। इस वजह से नए विधायकों को बंगला आवंटित नहीं किया जा सका है।

नोटिस के बाद भी 4 मंत्रियों और 15 पूर्व विधायकों ने खाली नहीं किया सरकारी बंगला
X

भोपाल। मप्र की 15 वीं विधानसभा में चुनाव जीतकर आए 4 मंत्रियों व करीब 15 पूर्व विधायकों ने अभी तक विधानसभा पूल का पिछले कार्यकाल में आवंटित बंगला खाली नहीं किया है। इस वजह से नए विधायकों को बंगला आवंटित नहीं किया जा सका है।

इन मंत्रियों को तीन दिन में बंगला खाली करने का नोटिस दिया जा रहा है। इसके बाद भी यदि वे अपना बंगला खाली नहीं करते तो अध्यक्ष से अनुमति लेने के बाद बंगला खाली करा लिया जाएगा। 14 वीं विधानसभा में चुनकर आए कांग्रेस व भाजपा के 19 विधायकों को विधायक विश्राम गृह में बंगला आवंटित किया गया था।

उनमें से 4 विधायक इस बार मंत्री भी बने हैं। जबकि 15 विधायक चुनाव जीत नहीं पाए थे। नियमों के अनुसार इन सभी को विधानसभा पूल का आवास बंगला खाली कर देना चाहिए। किंतु अभी तक इन्होंने अपना बंगला खाली नहीं किया। इससे सबसे बड़ी समस्या नए विधायकों को आ रही है। उन्हें विधानसभा की तरफ से आवास आवंटित नहीं किया जा सका है।

वे विधानसभा सचिवालय का आए दिन चक्कर लगा रहे हैं। जबकि इन विधायकों को कई-कई बार नोटिस जारी किया जा चुका है। अब चूंकि विधानसभा सत्र शुरू होने जा रहा है, ऐसे में निर्वाचित विधायकों का दबाव और बढ़ गया है। इसे देखते हुए विधानसभा सचिवालय उन्हें अंतिम नोटिस जारी करने की तैयारी में है। अभी हालांकि उनसे तीन दिनों के भ्ाीतर बंगला खाली करने के लिए कहा गया है, इसके बाद भी यदि वे आवास खाली नहीं करते तो उन सभी का आवास जबरिया खाली कराया जाएगा।

इन मंत्रियों व विधायकों ने खाली नहीं किया बंगला-

मप्र सरकार में मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, इमरती बाई, प्रदीप जायसवाल, हर्ष यादव ने नोटिस के जवाब में बार-बार समय मांग रहे हैं। बताते हैं इन सभी को सरकार ने बंगला आवंटित कर दिया है, पर अभी वहां काम चल रहा है, इसलिए विधानसभा का बंगला खाली नहीं किया है। इसके साथ ही पूर्व विधायक यादवेंद्र सिंह, सुखेंद्र सिंह बन्ना, विजय सिंह सोलंकी, रमेश पटेल, संजीव उइके, आरके दोगने, सुंदरलाल तिवारी, निशंक जैन, मोती कश्यप, रणजीत सिंह गुणवान, भंवर सिंह शेखावत, महेंद्र सिंह यादव, चंदा गौर, उषा चौधरी ने भी आवास खाली नहीं किया। इसके अलावा पूर्व विधायक रजनीश सिंह, नरेंद्र सिंह कुशवाह, सरताज सिंह, रामनिवास रावत, मधु भगत के पास अध्यक्षीय पूल के आवास हैं, जो बंगले के रूप में हैं, पर खाली नहीं किया है।

अंतिम नोटिस जारी करने की तैयारी

विधानसभा सत्र को देखते हुए जिन पूर्व व वर्तमान सदस्यों ने आवास खाली नहीं किया है, उन्हें अंतिम नोटिस जारी करने की तैयारी है। अध्यक्ष की अनुमति के बाद उन सभी को नोटिस जारी किया जाएगा। नए विधायक चूंकि आवास के लिए दबाव बनाए हुए हैं, ऐसे में समस्या खड़ी हो गई है। - अवधेश प्रताप सिंह,प्रमुख सचिव,मप्र विधानसभा

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story