Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीहोर में टिड्डी दल ने बोला धावा, राजस्व व वन अमला पहुंचा मौके पर

नसरुल्लागंज के पिपलानी नयापुरा क्षेत्र में पहुंचा टिड्डी दल। पढ़िए पूरी खबर-

सीहोर में टिड्डी दल ने बोला धावा, राजस्व व वन अमला पहुंचा मौके पर

सीहोर। नसरुलागंज क्षेत्र में टिड्डी दल ने दस्तक दी है। नसरुल्लागंज के पिपलानी नयापुरा क्षेत्र में टिड्डी दल पहुंचा है। इसकी सूचना मिलने पर प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंचा है और टिड्डी दल को भगाने की कोशिश में जुट गया है। टिड्डी दल की दफ्तर से किसानों की चिंता बढ़ गई है। नसरुल्लागंज राजस्व व वन अमला मौके पर मौजूद है।

बता दें इसके पहले राजस्थान की सीमा से सटे मध्यप्रदेश के सीमावर्ती कुछ जिलों में टिड्डी दल के आने की सूचना के बाद प्रशासन ने संबंधित क्षेत्रों के किसानों को दिशा-निर्देश जारी किए थे। टिड्डी दल के आने की प्रशासनिक जानकारी के आधार पर बचाव और सतर्कता के लिए निर्देश कृषि विभाग की ओर से दिए गए हैं।

• कृषि विभाग के निर्देश में किसानों को सलाह दी गई है कि वे अपने स्तर पर समूह बनाकर खेतों में रात के समय निगरानी करें। शाम 7 से 9 बजे के बीच टिड्डी दल रात्रि विश्राम के लिए कहीं भी बैठ सकता है, जिसकी पहचान एवं जानकारी के लिए स्थानीय स्तर पर दल का गठन कर सतत निगरानी की जाए।

• टिड्डी दल का प्रकोप होने पर तत्काल स्थानीय प्रशासन और कृषि विभाग से संपर्क कर जानकारी दी जाए। किसान टोली बनाकर विभिन्न तरह के पारंपरिक उपाय जैसे शोर मचाकर, अधिक ध्वनि वाले यंत्रों को बजाकर या पौधों की डालों से अपने खेत से टिड्डी दलों को भगा सकते हैं।

• यदि किसी क्षेत्र में शाम को टिड्डी दल का प्रकोप हो गया हो, तो तड़के 3 से सुबह 6 बजे तक तुरंत अनुशंसित कीटनाशी दवाओं का उचित अनुपात में पानी मिलाकर छिड़काव किया जाए। टिड्डी दल के आक्रमण के समय यदि कीटनाशी दवा उपलब्ध नहीं हो तो, ट्रैक्टर चलित पॉवर-स्प्रे द्वारा तेज बौछार से भी दल को भगाया जा सकता है।

Next Story
Top