Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिग्गी के भाई का कांग्रेस आलाकमान पर तंज, बोले- एमपी में 5 अध्यक्ष बनाने से कांग्रेस होगी मजबूत

लक्ष्मण सिंह ने कहा कि यदि प्रदेश में 5 अध्यक्ष बनने से पार्टी मजबूत होती है तो हमें अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी एआईसीसी में कुछ और अध्यक्ष बना देने चाहिए।

दिग्गी के भाई का कांग्रेस आलाकमान पर तंज, बोले- एमपी में 5 अध्यक्ष बनाने से कांग्रेस होगी मजबूत
X

मध्यप्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को बदलने पर कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह के छोटे भाई लक्ष्मण सिंह ने पार्टी आलाकमान पर तंज कसते हुए कहा है कि यदि प्रदेश में पांच अध्यक्ष बनने से पार्टी मजबूत होती है तो हमें अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) में कुछ और अध्यक्ष बना देने चाहिए।

यह तंज लक्ष्मण सिंह कथित ट्विटर हैंडल के जरिये किये गये ट्वीट में किया है। गौरतलब है कि 26 अप्रैल को कांग्रेस आलाकमान ने अरुण यादव की जगह पर पार्टी के दिग्गज नेता एवं छिंदवाडा सांसद कमलनाथ (71) को मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनाया था।

कमलनाथ नौ बार मध्यप्रदेश के छिंदवाडा से सांसद निर्वाचित हुए हैं। इसके अलावा कांग्रेस आलाकमान ने मध्यप्रदेश कांग्रेस के चार कार्यकारी अध्यक्ष भी बनाये हैं।

इसे भी पढ़ें- 'लालकिला' पर पर्यटन मंत्रालय की सफाई, डालमिया के साथ MOU केवल रखरखाव के लिए

इसे लेकर केन्द्रीय नेतृत्व पर हमला बोलते हुए कांग्रेस नेता एवं पूर्व सांसद लक्ष्मण सिंह के कथित ट्विटर हैंडल से 26 अप्रैल को किये गये ट्वीट में कहा गया कि यदि मध्यप्रदेश में पांच अध्यक्ष (एक अध्यक्ष एवं चार कार्यकारी अध्यक्ष) बनने से कांग्रेस मजबूत होती है तो हमें अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी में तुरंत कुछ और अध्यक्ष बना देने चाहिए।

लक्ष्मण सिंह ने कहा कि इससे कांग्रेस देश में और मजबूत हो जाएगी और केन्द्र की नरेंद्र मोदी सरकार को चुनाव में हरा सके। लक्ष्मण के करीबी सूत्रों के अनुसार कमलनाथ को मध्यप्रदेश कांग्रेस की कमान सौंपे जाने से वह नाखुश हैं। लक्ष्मण राघौगढ़ के रहने वाले हैं।

इसे भी पढ़ें- उना दलित हिंसा: गौ रक्षकों द्वारा पिटाई के विरोध में आज 300 दलित अपनाएंगे बौद्ध धर्म

कमलनाथ के प्रदेश अध्यक्ष बनने के कुछ दिन पहले लक्ष्मण ने कमलनाथ द्वारा मध्यप्रदेश चुनाव अभियान की कमान संभालने पर अपने कथित ट्विटर हैंडल में यह भी लिखा था कि कमलनाथ द्वारा मध्य प्रदेश चुनाव की कमाना संभालना ब्लूटूथ टेक्नोलोजी के युग में पुराने जमाने का एचएमवी रिकॉर्ड बजाने जैसा है।

लक्ष्मण के इसी हैंडल से किये गये एक अन्य ट्वीट में हाल में कहा गया था कि चुनाव कार्यकर्ता जिताता है, नेता नहीं। अगर कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं पर अधिक ध्यान देगी तो जीत निश्वित है। वर्तमान में लक्ष्मण कांग्रेस में हैं। वह राजगढ़ सीट से पहले भाजपा सांसद रह चुके हैं।

लक्ष्मण दो बार कांग्रेस की टिकट पर राघौगढ़ से विधायक भी रहे हैं। वह वर्ष 2004 में भाजपा में गये थे और वर्ष 2010 में फिर कांग्रेस में वापस लौट आए।

जब लक्ष्मण के भतीजे एवं दिग्विजय के बेटे जयवर्धन से इस पर प्रतिक्रिया के लिए संपर्क किया गया, तो उन्होंने कहा कि कमलनाथ बहुत बड़े एवं योग्य नेता हैं। उनकी आयु उनके काम में बाधा नहीं बनेगी। वह जनता के मसीहा हैं।

इनपुट- भाषा

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story