Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मध्यप्रदेश में मंत्री पद के लिए दावेदारों में रार, समर्थकों को लेकर राहुल गांधी के दरबार में पहुंचे कंसाना

मध्यप्रदेश में मंत्री पद मिलने से चूके मंत्री पद के दावेदारों में अब भी रार बरकरार है। मुरैना जिले के सुमावली विधायक एदल सिंह कंसाना, पिछोर से वरिष्ठ विधायक एवं पूर्व मंत्री केपी सिंह कक्का जू, अनूपपुर के विधायक बिसाहूलाल सिंह, सुवासरा विधायक हरदीप सिंह डंग, तेंदूखेड़ा विधायक संजय शर्मा मंत्रिमंडल में शामिल न किए जाने से नाराज बताए जा रहे हैं।

मध्यप्रदेश में मंत्री पद के लिए दावेदारों में रार, समर्थकों को लेकर राहुल गांधी के दरबार में पहुंचे कंसाना
X

मध्यप्रदेश में मंत्री पद मिलने से चूके मंत्री पद के दावेदारों में अब भी रार बरकरार है। मुरैना जिले के सुमावली विधायक एदल सिंह कंसाना, पिछोर से वरिष्ठ विधायक एवं पूर्व मंत्री केपी सिंह कक्का जू, अनूपपुर के विधायक बिसाहूलाल सिंह, सुवासरा विधायक हरदीप सिंह डंग, तेंदूखेड़ा विधायक संजय शर्मा मंत्रिमंडल में शामिल न किए जाने से नाराज बताए जा रहे हैं।

नाराज विधायक दिल्ली कूच कर राहुल दरबार में अपना पक्ष रखने की तैयारी में हैं। इसी बीच कंसाना समर्थकों ने मंत्री पद न मिलने से नाराज होकर अपने समर्थकों को लेकर दिल्ली में डेरा डाल दिया है।

कंसाना दिल्ली में राहुल गांधी से मिलकर मंत्री पद के लिए अपनी बात रखने वाले हैं। इसी बीच एक दूसरे दावेदार और वरिष्ठ विधायक केपी सिंह के समर्थक ने सिंधिया के बारे में आपत्तिजनक कमेंट लिखकर कक्का जू की नाराजगी की तरफ संकेत दिया है।
केपी सिंह समर्थकाें का मानना है कि सिंधिया की वजह से ही उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया है। कंसाना ने कहा कि मुरैना-श्योपुर लोकसभा क्षेत्र की आठ में से सात सीटें कांग्रेस ने जीती हैं, फिर भी मंत्रिमंडल में जगह न मिलना चिंताजनक है।
उन्होंने कहा कि गुर्जर समाज को मंत्रिमंडल में प्रतिनिधित्व मिलना चाहिए। हम अपनी बात कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के सामने रखेंगे। इसी बीच कंसाना समर्थक सुमावली ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष मदन शर्मा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। मदन शर्मा ने मंत्रिमंडल में मुरैना जिले की उपेक्षा के आरोप लगाए हैं। मंत्रिमंडल में शामिल न होने वाले दावेदारों के समर्थकों की तरफ से यह पहला इस्तीफा है। कंसाना समर्थकाें की ओर से और भी इस्तीफा हो सकते हैं।
केपी समर्थक ने दी सिंधिया को धमकी
एक अन्य दावेदार वरिष्ठ कांग्रेस विधायक केपी सिंह के समर्थक ने सोशल मीडिया पर ज्योतिरादित्य सिंधिया के लिए धमकी भरा मैसेज वायरल किया है। इस मैसेज में सिंधिया को पिछोर विधानसभा क्षेत्र से न गुजरने की नसीहत दी गई है। साथ ही लिखा है कौन महाराज, केपी सिंह जिंदाबाद। मैसेज के साथ युवक ने रिवाल्वर हाथ में लेकर अपना फोटो भी फेसबुक पेज पर अपलोड किया है। इस मैसेज को सिंधिया के खिलाफ पूर्व मंत्री केपी सिंह की नाराजगी के रूप में देखा जा रहा है।
संसदीय सचिव का पद नहीं लूंगा
मंत्रिमंडल में जगह न मिलने पर नाराज चल रहे और तेंदूखेड़ा विधानसभा से तीसरी बार चुनाव जीते विधायक संजय शर्मा ने कहा कि उन्हें मंत्री बनाने का आश्वासन देकर ही कांग्रेस ने अपने टिकट पर चुनाव लड़ाया था। अब संसदीय सचिव का लॉलीपाप देने की बात सुन रहा हूं।
संजय शर्मा ने स्पष्ट रूप से कहा कि मैं किसी भी हाल में संसदीय सचिव नहीं बनूंगा। हालांकि उन्होंने नाराजगी के बाद आगे क्या कदम होगा, इसकी स्थिति अभी स्पष्ट नहीं की है। असंतुष्ट चल रहे एक अन्य विधायक हरदीप सिंह डंग ने भी वरिष्ठ नेताओं से चर्चा कर अपनी बात पार्टी फोरम पर रखने की जानकारी दी है।
सपा ने कहा भरोसा तोड़ा
समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता यश यादव ने कहा कि कांग्रेस ने मंत्रिमंडल में सपा विधायक को शामिल किए जाने का भरोसा दिया था, लेकिन बाद में सपा के विधायक को मंत्रिमंडल में जगह नहीं दी गई। उन्होंने कहा कांग्रेस ने इतनी जल्दी ही भरोसा तोड़ दिया।
गुटबाजी का शिकार हुआ
कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक बिसाहूलाल सिंह ने कहा कि मैं गुटबाजी का शिकार हो गया हूं। पहले मुझे कहा मंत्री बनाने का आश्वासन दिया था, लेकिन बाद में गुटबाजी के फेर में मेरा नाम कट गया। उन्होंने कहा पार्टी अध्यक्ष को इस पर ध्यान देना चाहिए।
भाजपा की असंतुष्टों पर नजर
कांग्रेस सरकार में मंत्री पद को लेकर मची खींचतान के बीच भाजपा वेट एंड वॉच की स्थिति में है। पार्टी जल्द बाजी में कोई कदम नहीं उठाना चाहती। पार्टी इंतजार कर रही है कि मंत्रिपद न मिलने से नाराज विधायकों को किसी तरह अपने पक्ष में करके विधानसभा अध्यक्ष का पद हासिल किया जाए। इसके बाद पार्टी नई रणनीति पर आगे बढ़ेगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story