Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

200 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं कमलनाथ, जानें कमलनाथ की जाति, पत्नी और संपत्ति

मध्य प्रदेश के राज नेता कमलनाथ का जन्म 18 नवम्बर 1946 को उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुआ है। एक जानकारी में कमलनाथ की जाति खत्री पंजाबी बताई गई है वह 16 वीं लोकसभा के भारत और सबसे लंबे समय तक सेवारत सदस्य हैं।

200 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं कमलनाथ, जानें कमलनाथ की जाति, पत्नी और संपत्ति
X

मध्य प्रदेश के राज नेता कमलनाथ का जन्म 18 नवम्बर 1946 को उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुआ है। कमलनाथ का जीवन परिचय पर प्रकाश डालें तो उनके माता पिता का नाम लीला नाथ और महेंद्र नाथ है। कमलनाथ का विवाह अलका नाथ से हुआ है और उनके दो बेटे नकुल नाथ व बकुल नाथ हैं। कमलनाथ की पत्नी अलका नाथ समाज सेविका हैं।

कमलनाथ की प्रारंभिक शिक्षा उन्होंने देहरादून के दून स्कूल से हुई है। इसके बाद आगे की पढ़ाई के लिए कमलनाथ ने कोलकाता के सेंट ज़ेवियर कॉलेज चले गए। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ 17 दिसंबर को अपराह्न डेढ बजे भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में मध्यप्रदेश के अगले मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। वह प्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री होंगे।

कमलनाथ शुक्रवार की सुबह करीब 11 बजे राजभवन में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मिलने पहुंचे और उन्होंने प्रदेश में सरकार बनाने का दावा पेश कर शपथ की तारीख और समय पर करीब 50 मिनट उनसे चर्चा की। राज्यपाल से मिलने के बाद बाहर आते वक्त वहां मौजूद मीडिया कर्मियों को प्रफुल्लित कमलनाथ ने बताया कि 17 दिसंबर को डेढ़ बजे शपथ ग्रहण समारोह होगा और लाल परेड ग्राउंड में होगा।

इसके बाद वह सभी का अभिवादन करते हुए वहां से रवाना हो गए। इस दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दीपक वाबरिया, अजय सिंह, विवेक तनखा, अरूण यादव एवं सुरेश पचौरी उनके साथ मौजूद थे। एक नवंबर 1956 को मध्यप्रदेश का गठन होने के बाद से कमलनाथ प्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री होंगे।

11 दिसंबर को आए चुनाव परिणाम में मध्य प्रदेश की कुल 230 विधानसभा सीटों में से कांग्रेस को 114 सीटें मिली हैं। वह बसपा के दो, सपा के एक और चार अन्य निर्दलीय विधायकों के समर्थन से सरकार बना रही है। पार्टी का दावा है कि उसके पास फिलहाल 121 विधायकों का समर्थन हासिल है।

राज्यपाल ने कमलनाथ को पत्र लिखकर मुख्यमंत्री नियुक्त करते हुए उन्हें शुभकामनाएं दीं और कहा कि मध्यप्रदेश विधानसभा के कांग्रेस विधायक दल के निर्वाचित सदस्यों ने सर्व सम्मति से आपको कांग्रेस पार्टी का नेता निर्वाचित किया है। आपको बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों तथा नवनिर्वाचित निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन प्राप्त है।

आनंदीबेन ने आगे लिखा है, ‘‘कांग्रेस विधायीदल को विधानसभा में बसपा, सपा एवं निर्दलीय विधायकों का समर्थन प्राप्त होने से प्रदेश में सबसे बड़े दल के नेता के नाते भारत के संविधान के अनुच्छेद 164 के अंतर्गत आपको (कमलनाथ) मुख्यमंत्री नियुक्त करती हूं तथा मंत्रिमंडल का गठन करने के लिए आमंत्रित करती हूं।

72 वर्षीय कमल नाथ एक भारतीय राजनीतिज्ञ और पूर्व शहरी विकास मंत्री है। वह वर्तमान में 16 वीं लोकसभा के भारत और सबसे लंबे समय तक सेवारत सदस्य हैं। कमलनाथ छिंदवाड़ा से कांग्रेस सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री की गिनती कुशल नेता और अमीर सासंदों में होती रही है।

कमलनाथ के विवाद भी कम नहीं रहे हैं, कभी उनके बेबाक बयान तो कभी चावल के निर्यात पर लगे आरोप कमलनाथ के कार्यकाल से जुड़े हैं। इसलिए आइए जानते हैं कमलनाथ के जीवन से जुड़ी अनसुलझी पहेलियां.....

कमलनाथ की पत्नी अलका नाथ

कमलनाथ की पत्नी अलका नाथ का जन्म 24 नवंबर 1950 में हुआ है। अलका नाथ एक राजनेत्री के शाथ समाज सेविका भी हैं। वह छिंदवाड़ा से भी चुनाव भी जीत चुकी हैं जिसमें उन्होंने अपने पति को ही हरा दिया था। कांग्रेस लीडर अलका का जन्म अमृतसर में हुआ है।

27 जनवरी 1973 में अलका नाथ ने कमलनाथ से शादी की थी। उनके दो बेटे नकुल नाथ और बकुल नाथ हैं। अलका नाथ ने हिमाचल प्रदेश के डलहौजी कॉलेज से आर्ट्स में ग्रेजुएशन किया है। 1996 में वह लोकसभा सदस्य चुनी गई थीं। कमलनाथ की पत्नी और उनकी हार से जुड़ा किस्सा भी काम रोचक नहीं है।

1996 में कमलनाथ हवाला कांड के आरोप में घिरे थे तब उनकी पार्टी कांग्रेस ने छिंदवाड़ा से ही उनकी पत्नी अलकानाथ को चुनाव में उतार दिया था। अकला नाथ ने चुनाव लड़ा और वह जीत गई थीं। पर उपचुनाव में कमलनाथ को सुंदर लाल पटवा ने हराया था। इस तरह कमलनाथ एक बार छिंदवाड़ा से हार गए थे। दरअसल कमलनाथ उपचुनाव हार गए थे तो उन्हें तुगलक लेन पर स्थित अपना बंगला खाली करने का नोटिस मिला था।

बंगला खाली करने की बात को देख कमलनाथ ने सोचा कि यह बंगला पत्नी के नाम हो जाए इसलिए उन्होंने कोशिश की कि बंगला अलका नाथ के नाम अलॉट हो जाए लेकिन नियमों के मुताबिक पहली बार चुनाव जीतने वाले किसी भी नेता को इतना बड़ा बंगला नहीं दिया जाता है। फिर कुछ साल कंलनाथ पर लगे हवाला कांड के आरोपों की बात ठंडी पड़ गई। जिसके बाद कमलनाथ ने पत्नी अलका नाथ का इस्तीफ़ा दिलवा दिया।

कमलनाथ गांधी परिवार से दोस्ती

इमेर्जेंसी के समय कांग्रेस नेता संजय गांधी के साथ कमलनाथ की दोस्ती थी। इसलिए वह लगातार राजनीति में आगे बढ़ते गए। जिसके बाद वह लगातार राजनीति में सक्रिय रहे और 34 साल की उम्र में वो छिंदवाड़ा से जीत कर पहली बार लोकसभा सदस्य बने।

गांधी परिवार से दोस्ती के कारण वह इंदिरा गांधी के बेटे समान हो गए। 1980 में कांग्रेस ने उन्हें मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा से टिकट दिया उनके चुनाव प्रचार में इंदिरा गांधी ने अपने भाषण में कहा था कि मैं चाहती हूं कि आप मेरे तीसरे बेटे कमलनाथ को वोट दें। इसलिए इंदिरा गांधी की हत्या के बाद से लेकर अभी तक कमलनाथ कांग्रेस के लिए हमेशा प्रतिबद्ध रहे हैं।

जब दोस्त संजय गांधी के लिए जेल गए कमलनाथ

दोनों की दोस्ती का एक किस्सा मशहूर है- कमलनाथ और संजय गांधी की दोस्ती इतनी पक्की थी कि जब इमरजेंसी के बाद संजय गांधी गिरफ्तार किए गए तो तो कमलनाथ भी बाहर नहीं रह पाए। अपने दोस्त संजय गांधी को जेल में कोई परेशनी न हो इसलिए कमलनाथ भी जज के साथ बदतमीज़ी करके तिहाड़ जेल पहुंच गए थे।

पश्चिम बंगाल से हैं कमलनाथ

कमलनाथ मध्यप्रदेश से भले राजनीतिक करते हैं लेकिन वह पश्चिम बंगाल के हैं। गांधी परिवार से कमलनाथ की पुरानी दोस्ती रही है। संजय गांधी और कमलनाथ की दोस्ती राजनीतिक गलियारों में बहुत चर्चा में रही है। दोनों की दोस्ती दून स्कूल से शुरू हुई थी। इस दोस्ती के कारण वह गांधी परिवार के बेहद करीब रहे।

कमलनाथ की जाति क्या है

मध्य प्रदेश चुनाव के बाद से लगातार गूगल पर नेताओं को सर्च किया जा रहा है। इसमें कमलनाथ भी शामिल हैं। इसके अलावा लोग गूगल पर कमलनाथ की जाति जानना चाह रहे हैं। तो हम आपको बता दें कि एक जानकारी में कमलनाथ की जाति खत्री पंजाबी बताई गई है।

कमलनाथ की जीवनी

कमलनाथ के माता पिता का नाम लीला नाथ और महेंद्र नाथ है। वहीं कमलनाथ की पत्नी का नाम अलका नाथ है और उनके दो बेटे नकुल नाथ व बकुल नाथ हैं। पत्नी और पुत्र भी बिजनेस को संभालते हैं। कमलनाथ के दोनों बेटे उनकी कंपनियों का काम देखते हैं।

कमलनाथ की संपत्ति

कमलनाथ 23 कंपनियों के मालिक हैं, जो उनके दोनों बेटे चलाते हैं। वो चुनाव अभियानों के लिए हेलीकॉप्टरों और सैटेलाइट फोन इस्तेमाल करने वाले शुरूआती नेताओं में से एक रहे हैं। कमलनाथ की गिनती शुरु से ही अमीर सांसदों में होती रही है।

वह वर्तमान में देश के पांच सबसे अमीर सांसदों में शुमार हैं। कमलनाथ मूलत: कारोबारी हैं। सितंबर 2011 में कमलनाथ को भारत में सबसे अमीर कैबिनेट मंत्री घोषित किया गया था। जिसमें 2.73 अरब रुपये (INR 2,730,000,000 या यूएस $ 59 मिलियन) की संपत्ति थी। कमलनाथ 23 कंपनियों के मालिक हैं और उनके पास करीब 200 करोड़ की संपत्ति है।

कमलनाथ ने करीब 10 एकड़ में कोठी बनाई है जिसमें एक फार्म हाउस और कोठी भी शामिल है। इसमें से दो एकड़ में पेड़-पौधे लगे हुए हैं। कमलनाथ ने अपने बेटों की बेहद मंहगी शादिया की थीं जिसकी चर्चा देश भर में रहीं। शादी में लोगों को महंगे से मंहगे गिफ्ट दिए गए थे।

कमलनाथ सिख दंगे विवाद

1984 में सिख विरोधी दंगों में कमलनाथ का नाम भी आया था लेकिन उन पर आरोप साबित नहीं हो पाए थे। कमलनाथ पर आरोप है कि वे 1 नवंबर 1984 को नई दिल्ली के गुरुद्वारा रकाबगंज में उस वक्त मौजूद थे जब भीड़ ने दो सिखों को जिंदा जला दिया था।

अपने ऊपर लगे आरोपों को इनकार करते हुए कमलनाथ ने दंगे में शामिल होने से मना कर दिया लेकिन कमलनाथ ने हादसे के वक्त वहां अपनी मौजूदगी को स्वीकार किया था। कमलनाथ ने कहा कि वह वहां मौजूद जरूर थे लेकिन लोगों को हमला करने से रोक रहे थे।

कमलनाथ के विवाद

कमलनाथ से बहुत से विवाद भी जुड़े हुए हैं। हवाला कांड में कमलनाथ का नाम शामिल है। हवाला कांड में नाम आने के कारण कमलनाथ 1996 में आम चुनाव नहीं लड़ थे। उनका नाम साल 1984 के पंजाबी दंगों में आया था पर आरोप साबित नहीं हुए। कमलनाथ ने एक विवादित बयान दिया था जिसकी काफी आलोचना हुई थी।

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान महिलाओं को कम टिकट देने के सवाल पर बोलते हुए कमलनाथ ने कहा है कि कोटा या सजावट के आधार पर नाम फाइनल न‍हीं किया जाता है। इसे शिवराज सिंह चौहान ने महिलाओं का अपमान बताया था।

वहीं साल 2017 में विधान सभा चुनावों के बाद छिंदवाड़ा हवाई पट्टी कमलनाथ पर उन पर एक गार्ड ने बंदूक तान दी। 2007 में कमल नाथ के कार्यकाल में गैर-बासमती चावल के निर्यात का आरोप लगाया था।

सागर जिले के खुरई विधानसभा क्षेत्र में रैली को संबोधित करते हुए कमलनाथ ने कहा, ' कर्मचारी याद रखें कमलनाथ की चक्की देर से चलती है पर बहुत बारीक पीसती है। इसे कर्मचारियों को चक्की में पीसने की धमकी के तौर पर देखा गया था।'

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story