Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हनी ट्रैप रैकेट : तीन महीने पहले कांग्रेस से हटाए गए अमित सोनी का नाम आया सामने, अब तक 5 महिलाएं एक पुरुष हिरासत में Watch Video

मध्यप्रदेश के हाई प्रोफाइल हनी ट्रैप केस में इंदौर के एक अफसर की शिकायत पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया है। भोपाल में कोई शिकायत ना होने के कारण इंटेलिजेंस पुलिस इसकी अपने स्तर पर जांच कर रही थी।

हनी ट्रैप रैकेट : तीन महीने पहले कांग्रेस से हटाए गए अमित सोनी का नाम आया सामने, अब तक 5 महिलाएं एक पुरुष हिरासत में Watch Video
X

भोपाल। मध्यप्रदेश के हाई प्रोफाइल हनी ट्रैप केस में इंदौर के एक अफसर की शिकायत पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया है। भोपाल में कोई शिकायत ना होने के कारण इंटेलिजेंस पुलिस इसकी अपने स्तर पर जांच कर रही थी। इंदौर पुलिस से इनपुट मिलते ही इनकी गिरफ़्तारी की गई। इस मामले में अब तक 5 महिलाएं और एक ड्राइवर पकड़ा जा चुका है। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार, गिरफ्तार लड़कियों में से दो लड़कियों के नाम श्वेता जैन और आरती दयाल बताया जा रहा है। वहीं, कहा जा रहा है कि इन लड़कियों ने दो पूर्व मंत्री और एक वर्तमान मंत्री को भी ब्लैकमेल करने की कोशिश की थी।

बता दें इंदौर के पलसिया थाने पर तीन दिन पहले इंदौर के नगर निगम के एक इंजीनियर हरभजन सिंह की शिकायत पर बड़ी कार्यवाही हुई हैं। इंजीनियर हरभजन को हनीट्रैप में फंसा कर आरती दयाल, सीमा और बरखा भटनागर तीन करोड़ की मांग कर रही थीं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस रैकेट में तीन महीने पहले कांग्रेस से हटाए गए अमित सोनी का नाम शामिल हो बताया जा रहा है। अमित को कांग्रेस में आईटी सेल में प्रदेश उपाध्यक्ष के पद पर थे।

मंत्री के ओएसडी से मांगे थे 2 करोड़

इन लड़कियों ने एक मंत्री के ओएसडी को निशाने पर लेते हुए उससे 2 करोड़ रुपए की मांग की थी। इस मामले में कई अफसर घेरे में हैं। बताया जा रहा है कि 4 महीने पहले एक अफसर से वसूली के बाद श्वेता के मंत्रालय में प्रवेश पर रोक लगा दी गई थी। इस मामले की जांच इंदौर में एक राजनीतिक मीटिंग के बाद शुरू हुई थी। सूत्रों के मुताबिक एटीएस की पूछताछ में कांग्रेस आईटी सेल का एक नेता भी शामिल और तीसरी महिला का नाम बरखा सोनी है। बताया जा रहा है कि इंदौर के पलासिया थाने में निगम के सिटी इंजीनियर हरभजन सिंह ने दर्ज कराया मामला तीनों महिलाओं के नाम से मामला दर्ज कराया था।


बुधवार की रात इस स्कैंडल को लेकर हड़कंप मचा रहा कि इस बार कौन पकड़ा गया। क्योंकि राजधानी की पुलिस ने तीन अलग.अलग पॉश इलाकों से तीन महिलाओं को उठाया। जिनसे क्राइम ब्रांच समेत एटीएस के अधिकारियों द्वारा पूछताछ की है। इसमें देर रात तक अधिकृत तौर पर नाम तो किसी का नहीं खुलाए लेकिन कुछ.कुछ पकता रहा कि अमुक बड़े अफसर फिर से ट्रैप हुए हैं। वे पहले भी ट्रैप हो चुके हैंए विभाग से हटाए भी जा चुके हैं। हालांकि फिलहाल उनके सेक्स स्कैंडल में हनी ट्रैप होने की आधिकारिक पुष्टि नहीं हैए लेकिन सूत्र बता रहे हैं कि इन महिलाओं में से एक के मोबाइल में कुछ वीडियो क्लिप उनके हैं। इस सबकी जांच के लिए इंदौर की क्राइम ब्रांच पुलिस देर रात भोपाल पहुंचने वाली थीए क्योंकि मामला वहीं से शुरू हुआ था। जिसके आउट पुट पर भोपाल पुलिस ने इन महिलाओं को उठाया। जिन्हें गोविंदपुरा थाने में लाया गया। जहां इनसे पूछताछ जारी रही।

जानकारी के मुताबिक इंदौर में एक केस दर्ज है कि अफसरों को हनी ट्रैप कर उनसे धन वसूली करने वाली महिलाएं भोपाल में रह रही हैं। इस पर भोपाल की गोविंदापुरा पुलिस समेत अयोध्यानगर और कमलानगर थाना पुलिस ने मिलकर रेवेरा टाउनए मिनाल रेसीडेंसी व एक अन्य स्थान से तीन महिलाओं को हिरासत में लिया। रेवेरा टाउन से पकड़ी गई महिला एक विधायक के बंगले में किराए से रह रही बताई जाती है। पुलिस इसे पकड़कर लाई तो रेवेरा टाउन समेत राजनीतिक हलके में खबर बिजली की तरह फैली।

क्या कहती है पुलिस

गोविंदपुरा थाने पर सीएसपी अमित कुमार ने मीडिया को बताया कि इंदौर से क्राइम ब्रांच का आउट पुट आया था। वहां एक मामला दर्ज हुआ है। मामला किसने किसके खिलाफ दर्ज कराया हैए यह नहीं बताया जा सकता। जिसमें कहा गया है कि भोपाल में एक गिरोह चल रहा है जो अधिकारियों को फंसाती हैं। इनमें से एक रेवेरा टाउन में किसी नेता के मकान में किराए से रह रही थी। इन महिलाओं के पास से कुछ इलेक्ट्रॉनिक गेजेट्स मिले हैंए जिनमें वीडियोज हैं। मामले की जांच एटीएस कर रही है। भोपाल पुलिस ने तो बस महिलाओं को पकड़ा है। इंदौर की क्राइम ब्रांच पुलिस भी पूछताछ के लिए आ रही है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story