Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मध्यप्रदेश में भारी बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त, हजारों एकड़ मेंं लगी सोयाबीन की फसल बर्बाद

मध्यप्रदेश में भारी बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। लगातार हो रही बारिश से जलभराव की स्थिति उत्पन्न हो गई है, नदी - नाले अपने उफान पर हैं। लोगों के घर में पानी घुस गया है।

मध्यप्रदेश में भारी बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त, हजारों एकड़ मेंं लगी सोयाबीन की फसल बर्बादHeavy rains disrupt life in Madhya Pradesh, thousands acres of soybean crop wasted

भोपाल। मध्यप्रदेश में भारी बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। लगातार हो रही बारिश से जलभराव की स्थिति उत्पन्न हो गई है, नदी - नाले अपने उफान पर हैं। लोगों के घर में पानी घुस गया है। बारिश के कारण स्कूल कॉलेज बंद करना पड़ा था। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश कुछ जिलों में अभी भी भारी बारिश के आसार हैं। मौसम विभाग ने प्रदेश के 33 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। जिसमें 14 जिलों में रेड अलर्ट और 19 जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

रेड अलर्ट- धार ,इंदौर ,झाबुआ, खंडवा, खरगोन, अलीराजपुर ,बैतूल ,होशंगाबाद, हरदा, देवास, राजगढ़, सीहोर, विदिशा और सागर।

ऑरेंज अलर्ट- भोपाल, सागर, अनूपपुर, डिंडोरी, अशोकनगर, शिवपुरी ,जबलपुर ,नरसिंहपुर ,मंडला, बालाघाट, सिवनी ,छतरपुर, पन्ना, दमोह, गुना ,रतलाम, शाजापुर, रायसेन और रीवा।


तेज बारिश के चलते सागर-भोपाल मार्ग पर आवाजाही बंद हो गई। भारी बारिश की वजह से सिलवानी में नदी में उफान आ गया है। जिससे उदयपुरा के आसपास के क्षेत्रों से संपर्क टूट गया है। जिला मुख्यालय के निचले क्षेत्रों में पानी भर गया है। सड़कें तालाब में बदल गईं हैं।

सोयाबीन की फसल बर्बाद -

नसरुल्लागंज ब्लाक अंतर्गत आने वाले कौलार डेम के आठ गेट खोलने से कई गांवों में बाढ़ की स्थिति निर्मित हो गई। नसरुल्लागंज क्षेत्र में नर्मदा एवं कोलार नदी के पानी से हजारों एकड़ मेंं लगी सोयाबीन की फसल बर्बाद हो गई।

Next Story
Share it
Top