Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डॉन बनने ग्वालियर से रायपुर आया जवान, लड़की का अपरहण कर फंसा

ग्वालियर जाने के बाद 3 साल पहले बदमाश कपिल ने मोवा की आरती सेन को प्रेमजाल में फंसाया और उसे लेकर दिल्ली फरार हाे गया।

डॉन बनने ग्वालियर से रायपुर आया जवान, लड़की का अपरहण कर फंसा
X

ग्वालियर पुलिस का दबाव बढ़ने पर कुख्यात अनिल तोमर गिरोह के कुख्यात बदमाश कपिल अग्रवाल डॉन बनने रायपुर पहुंचा। लोकल बदमाश को आहिल खान उर्फ साहिल खान व सतना निवासी अंकित द्विवेदी को साथ मिलाकर एक गिरोह बना लिया। हथियार तस्करी तस्करी कर नेटवर्क फैलाने लगा, लेकिन लड़कियों को प्रेमजाल में फंसाकर अगवा करना महंगा पड़ गया।

कुख्यात बदमाश कपिल ने 25 जनवरी को गांधीनगर कॉलोनी से एक नाबालिग लड़की को अगवा दिल्ली फरार हो गया, पर सप्ताहभर बाद वापस राजिम लौटकर किराए के मकान में रहने लगा और रायपुर पुलिस के हत्थे चढ़ गया। अब पुरा गिरोह सेंट्रल जेल की सलाखों के पीछे पहुंच गया है। पुलिस को उनके पास से पल्सर बाइक, 2 देसी कट्टा और 10 कारतूस बरामद किया गया है

यह भी पढ़ेंः छात्रा ने नहीं किया होमवर्क, तो टीचर ने साथी छात्राओं से लगवाए 168 थप्पड़

6 साल पहले आया था रायपुर

पुलिस के मुताबिक, ग्वालियर के थाटीपुर निवासी कपिल के खिलाफ गोल का मंदिर थाने में दर्जनभर केस दर्ज हैं। 6 साल पहले ग्वालियर पुलिस का दबाव बढ़ने पर वह रायपुर आ गया और पंडरी गांधीनगर में किराए के मकान में रहने लगा।

कॉलेज की लड़कियों को प्रेम जाल में फंसाकर उनका शारीरिक शोषण करता था। गांधीनगर निवासी आहिल खान और सिमरन टावर पंडरी निवासी अंकित द्विवेदी की मदद से नाबालिग को अगवा किया था। साथ ही उनकी मदद से हथियार तस्करी करता था। कपिल के शरीर पर कई जगह गोली लगने के निशान हैं।

18 साल की उम्र में जरायम की दुनिया में रखा कदम

पुलिस के मुताबिक बदमाश कपिल नाम बदलने में माहिर है। वह कपिल अग्रवाल उर्फ कपिल शर्मा उर्फ मोनू मास उर्फ प्रशांत उर्फ राज तोमर नाम रख चुका है। महज 18 साल की उम्र में अनिल तोमर के गिरोह में शामिल होकर जरायम की दुनिया में कदम रखा।

इस दौरान हत्या का प्रयास, लूट, जबरन वसूली, हथियार तस्करी, मारपीट और छेड़खानी जैसी दर्जनभर वारदातों को अंजाम दिया। साल 2012 में ग्वालियर से एक लड़की को बहला-फुसला कर अपने साथ रायपुर ले आया।

उसके साथ गांधीनगर में किराए के मकान रहता था और पंडरी कपड़ा मार्केट स्थित एक दुकान पर नौकरी करने लगा। थोड़े दिन बाद दुकान की नौकरी छोड़ ड्राइवरी करने लगा। उसके आपराधिक रिकॉर्ड की जानकारी होने पर युवती कपिल को छोड़कर ग्वालियर लौट गई।

यह भी पढ़ेंः पत्रकारिता की छात्रा ने बनाया मास्टरप्लान, अश्लील वीडियो की धमकी दे कांग्रेस विधायक से मांगे 2 करोड़

दूसरी युवती को लेकर हुआ था फरार

पुलिस के मुताबिक युवती के ग्वालियर जाने के बाद 3 साल पहले बदमाश कपिल ने मोवा की आरती सेन को प्रेमजाल में फंसाया और उसे लेकर दिल्ली फरार हाे गया। 7 महीने तक वहां रहने के बाद लौटा। इस दौरान आरती उसके बच्चे की मां बन गई। सालभर बाद कपिल आरती के साथ गांधीनगर में आकर रहने लगा।

दोबारा शुरू की हथियार तस्करी

पुलिस के मुताबिक दिल्ली से लौटने के बाद पिंटूूूूपारा निवासी रामू तोमर और हरेंद्र से हथियार खरीदकर बेचने का कारोबार फैलाया। इसमें उसने पुराने बदमाश आहिल और सतना के अंकित द्विवेदी को साथ लिया और गिरोह बनाने की राह पर चल पड़ा।

उसने दो कट्टा और 10 कारतूस बेचने के लिए दोनो को दिया। इस बीच गांधीनगर की नाबालिग लड़की को अगवा कर दिल्ली फरार हो गया। वहां एक दिन रुकने के बाद वापस राजिम आया और किराए के मकान में लड़की के साथ रहने लगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story