Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

खराब हो रही फसलों पर बोले शिवराज, किसानों के हक के लिए अंतिम सांस तक लड़ना और उनका हक दिलवाना है

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने ट्वीट कर किसानों को ढांढस बंधाते हुए कमलनाथ सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, सही कहा गौरव जी, आज हमारा अन्नदाता खुद को अकेला महसूस कर रहा है।

खराब हो रही फसलों पर बोले शिवराज, किसानों के हक के लिए अंतिम सांस तक लड़ना और उनका हक दिलवाना है
X

मध्यप्रदेश में पिछले दिनों हुई लगातार झमाझम बारिश के कारण खेतों में भरे पानी के बीच खड़ी फसलों के खराब होने के साथ ही किसानों की उम्मीदें भी धुल रही हैं। कई किसानों के खेतों में फसलें पानी में तैर रही हैं तो कहीं पूरी तरह खराब हो गई है। अब किसान शासन की ओर मुआवजे के लिए आाश भरी निगाहों से ताक रहा है। लेकिन अभी तक कोई अधिकारी खेतों में सर्वे करने नहीं पहुंचा है।

ऐसे में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने ट्वीट कर किसानों को ढांढस बंधाते हुए कमलनाथ सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, सही कहा गौरव जी, आज हमारा अन्नदाता खुद को अकेला महसूस कर रहा है। कमलनाथ सरकार पर किसान को भरोसा नहीं। न कर्ज़ माफी की आस, न मुआवजा मिलने का भरोसा; हमें उनके हक के लिए अंतिम साँस तक लड़ना है और उनका हक दिलवाना है।

बता दें कुछ दिन पहले भी शिवराज चौहान ने कहा था सीहोर और आष्ठा में खराब हो गई सोयाबीन की फसल का सरकार सर्वे कराए और किसानों को मुआवजा दे। असल में, गुरुवार को सीहोर और आष्टा के किसानों ने शिवराज के काफिले को रोककर बारिश में खराब हो गई सोयाबीन की खड़ी फसल दिखाई। साथ ही मदद की गुहार लगाई। शिवराज भोपाल से इंदौर जा रहे थे।

इस संबंध में शिवाराज ने ट्वीट कर कहा था "सरकार से मेरी पहली लड़ाई यही है कि किसानों का कर्जा माफ करो। मुआवजा दो, फसल बीमा की राशि दो। मैं किसानों के साथ हूं, जब तक सांस चलेगी, चिंता मत करना। आपके हक की लड़ाई लड़ता रहूंगा।" सीहोर के जावर जोड़ के किसान सोयाबीन की फसलें लेकर पूर्व मुख्यमंत्री के पास आ गए। शिवराज ने किसानों को आश्वस्त किया है कि किसानों को नष्ट हुई फसलों का मुआवजा दिलाएंगे और उनके हक की लड़ाई में साथ खड़े रहेंगे।



और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story