Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शिवराज के बयान पर भड़के दिग्गी, कहा- शर्म आनी चाहिए, पं. नेहरू के पांव की धूल भी नहीं

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को क्रिमिनल कहने के बयान पर जमकर आलोचना हो रही है। कांग्रेस के दिग्गिज नेता दिग्विजय सिंह ने रविवार को कहा कि पलटवार करते हुए कहा, इस तरह के बयान देने पर शिवराज को शर्म आनी चाहिए।

शिवराज के बयान पर भड़के दिग्गी, कहा- शर्म आनी चाहिए, पं. नेहरू के पांव की धूल भी नहीं

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को क्रिमिनल कहने के बयान पर जमकर आलोचना हो रही है। कांग्रेस के दिग्गिज नेता दिग्विजय सिंह ने रविवार को कहा कि पलटवार करते हुए कहा, इस तरह के बयान देने पर शिवराज को शर्म आनी चाहिए। वह जवाहरलाल नेहरू के पैर की धूल भी नहीं है। ऐसा कहकर शिवराज ने स्वयं अपने हाथ आग में झुलसा लिए हैं।

वहीं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्विटर पर लिखा, देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू, जिन्हें आधुनिक भारत का निर्माता कहा जाता है। जिन्होंने आज़ादी के लिए संघर्ष किया, जिनके किए गए कार्य और देशहित में उनका योगदान अविस्मरणीय है। उनको मृत्यु के 55 वर्ष पश्चात आज अपराधी कह कर संबोधित करना बेहद आपत्तिजनक और निंदनीय है।

बता दें दो दिने पहले अनुच्छेद 370 को लेकर भाजपा उपाध्यक्ष शिवराज सिंह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू को अपराधी कहा था। भुवनेश्वर में शिवराज ने कहा कि जब भारतीय फौज कश्मीर से पाकिस्तान कबाइलियों को खदेड़ते हुए आगे बढ़ रही थी, ठीक उसी वक्त नेहरू ने संघर्ष विराम की घोषणा कर दी। इस कारण से जम्मू कश्मीर का एक तिहाई हिस्सा पाकिस्तान के ​कब्जे में रह गया। यदि कुछ दिन और सीजफायर की घोषणा नहीं होती, तो पूरा कश्मीर भारत का होता।

नेहरू जी को अपराधी कहने की दूसरी वजह शिवराज ने जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 लागू करना बताा। भला किसी एक देश में दो निशान, दो विधान (संविधान) और दो प्रधान कैसे अस्तित्व में रह सकते हैं? यह केवल देश के साथ नाइंसाफी नहीं है, बल्कि अपराध भी है।

Next Story
Top