Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अनुशासनहीनता पर बोले ​दिग्विजय - कमलनाथ और सोनिया गांधी लें एक्शन, भाजपा से मेरी विचारधारा की लड़ाई Watch Video

मध्यप्रदेश में चल रहे सियासी घमासान के बीच शुक्रवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पत्रकारों के सामने अपनी बात रखी।

अनुशासनहीनता पर बोले ​दिग्विजय - कमलनाथ और सोनिया गांधी लें एक्शन, भाजपा से मेरी विचारधारा की लड़ाई Watch Video
X

मध्यप्रदेश में चल रहे सियासी घमासान के बीच शुक्रवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने पत्रकारों के सामने अपनी बात रखी। अपने ऊपर लगे आरोपों का खुलकर जवाब देते हुए सिंह ने कहा, मेरी भाजपा से राजनीतिक लड़ाई विचारधारा की है। ये वो विचार धारा है जिसने देश की एकता को तोड़ने का काम किया है। मैंने कभी इस मामले में समझौता नही किया और न कभी करूंगा।

इस दौरान दिग्विजय ने पार्टी में चल रहे घमासान पर कहा, हर पार्टी में अनुशासन होना चाहिये और अगर कोई इसे तोड़ता है तो उस पर काईवाई भी होना चाहिए। विपक्षी पार्टी इसी का फायदा उठाना चाहती है उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं से अपील की कि वे अनुशासन न तोड़ें। उन्होंने कहा कि पिछले तीन-चार दिनों में जो कुछ हुआ उसे मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ही कुछ करें। मैं यह मामला उन पर छोड़ता हूं। कमलनाथ जी इतने कमजोर नहीं कि उन्हें किसी की जरूरत पड़े।

दिग्विजय ने अपने ऊपर आरोप लगाने वाले मंत्री उमंग सिंघार की कड़वी चाय पिलाने के जवाब में दिग्विजय ने सिर्फ इतना ही कहा कि मुझे डायबिटीज नहीं है। मैं मीठी चाय पीता हूं। इस बयान से माना जा रहा है कि वह सिंघार से मिलने नहीं जाएंगे। दिग्विजय सिंह ने कहा कि पिछले दिनों मैंने मंत्रियों को पत्र लिखकर सिर्फ यह पूछा था कि मेरे पत्रों पर क्या कार्रवाई हुई। सांसद होने के नाते यह मेरी जिम्मेदारी है। यह पत्र मैंने कार्यकर्ताओं के निवेदन पर लिखे थे।

अपने ऊपर लगे आरोपों पर कहा कि मेरे बारे में जनता जानती है। मैं आरोपों से विचलित नहीं होता, मुझे राजनीति में 50 साल हो गए हैं। मेरे ऊपर ईडी, सीबीआई, मनी लॉन्ड्रिंग जैसा कोई प्रकरण नहीं है तो मैं क्यों परेशान हूं...। मेरे ऊपर आरोप तब लगना शुरू हुए जब मैंने आईएसआई के साथ बीजेपी नेताओं के कनेक्शन को लेकर आवाज़ उठाई, उसके बाद से ये घटनाक्रम चालू हुआ।' अगर आरोप सही होते तो क्या मैं इस तरह से बीजेपी पर आरोप लगा पाता। चिदंबरम मामले पर दिग्विजय बोले मैं उन्हें लंबे समय करीब 1985 से जानता हूं उन्हें जबरदस्ती झूठा फंसाया जा रहा है।


और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story