Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मंदसौर रेप केसः दूसरे आरोपी को भी पुलिस में भेजा रिमांड पर, मामले की जांच के लिए हुआ SIT का गठन

मंदसौर गैंगरेप को लेकर एसआईटी का गठन कर दिया गया है। पुलिस ने कहा कि इस मामले के दूसरे आरोपी को भी पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है। इसके साथ ही पुलिस का दावा है कि हम दोषियों को सजा दिलाने के लिए हर संभव प्रयास भी कर रहे है। जिसके वह हकदार हैं।

मंदसौर रेप केसः दूसरे आरोपी को भी पुलिस में भेजा रिमांड पर, मामले की जांच के लिए हुआ SIT का गठन

मध्य प्रदेश के मंनसौर में तीसरी कक्षा में पढ़ने वाली 8 साल की नाबालिग बच्ची से गैंगरेप मामले में पुलिस ने जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया है। पुलिस के मुताबिक वह इस मामले की प्रमुखता से जांच कर रहे है।

पुलिस ने SIT का किया गठन

जिसके लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है। पुलिस ने अपने बयान में कहा कि इस मामले के दूसरे आरोपी को भी पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है। इसके साथ ही पुलिस का दावा है कि हम दोषियों को सजा दिलाने के लिए हर संभव प्रयास भी कर रहे है। जिसके वह हकदार हैं।

पीड़िता की सेहत में हुआ सुधार

मंदसौर गैंगरेप नाबालिग पीड़िता की सेहत को लेकर अस्पताल प्रशासन ने बुलेटन जारी किया है। अस्पताल प्रशासन के मुताबिक पहले के मुकाबले पीड़िता की सेहत में अब तेजी से सुधार हो रहा है।

अस्पताल प्रशासन ने बताया कि जिस समय उस बच्ची को यहां लाया गया था। उसकी हालत बेहद खराब थी। अस्पताल के मुताबिक पीड़िता को अब खाने के लिए हल्का-फुल्का दिया जाना शुरु कर दिया गया है और वह अब थोड़ा बहुत बोलने भी लगी है।

हम उसकी सेहत पर निरंतर नजर बनाए हुए है। यही नहीं हमने उसके अच्छे स्वास्थ्य के लिए बाहर से भी डाक्टरों को बुलाया है जो उसकी सेहत की जांच कर रहे हैं।

सीएम शिवराज सिंह ने आरोपियों के खिलाफ फांसी की रखी मांग

मध्य प्रदेश के मंदसौर गैंगरेप मामले में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए इस घटना की कड़ी निंदा की हैं। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मंदसौर में हुए नाबालिग बच्ची के साथ हुए गैंगरेप ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है।

यही नहीं सीएम शिवराज सिंह चौहान इस शर्मनाक हरकत के लिए कहा कि हम सभी चाहते है कि जो लोग भी इस तरह की अमानवीय घटनाओं को अंजाम देते है उनको फांसी की सजा दी जानी चाहिए

सीएम ने मंदसौर गैंग रेप हादसे की आलोचना करते हुए कहा कि मानव अधिकार केवल मनुष्य के लिए होते है, वैहशियों के लिए समाज में किसी भी तरह के मानव अधिकार नहीं होने चाहिए।

ये भी पढ़ेःकश्मीर में रहने वाले इस परिवार को डीसीपी भेजती हैं अपनी सैलरी का एक हिस्सा, जानिए क्या है रिश्ता

इसके साथ ही सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इस मामले की फास्ट ट्रैक जांच कराने की भी मांग की है। आपको बता दे कि शिवराज से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी मंदसौर गैंगरेप की आलोचना कर चुके है। यही नहीं मध्य प्रदेश से आने वाले कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंदसौर गैंगरेप की सीबीआई जांच की मांग की है।

ये है पूरा मामला

इसी महीने की 27 तारीख को मध्य प्रदेश के मंदसौर एक स्कूल के बाहर से आठ साल की बच्ची को अगवा कर उसके साथ दुर्व्यवहार किया गया। बच्ची के साथ दुर्ष्कम करने का आरोप आसिफ और इरफान नामक दो युवकों पर लगा हैं।

उनपर आरोप है कि उन दोनों ने पहले तो बच्ची को चॉकलेट और बिस्किट का लालच देकर उसको स्कूल के बाहर से अगवा किया। जिसके बाद दोनों युवकों ने एक सुनसान जगह पर बच्ची के साथ 2 घंटों तक उसके साथ गैंगरेप किया। बताया जा रहा है कि दोनों ही आरोपी युवक शराब के आदि है। और उन्होंने शराब के नशे में ही इस वारदात को अंजाम दिया।

Next Story
Top