Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गणेश विर्सजन के दौरान नाव हादसे पर सख्त सरकार, अब तक 11 शव बरामद, CM कमलनाथ ने जताया शोक, मजिस्ट्रियल जांच के आदेश

मध्य प्रदेश के भोपाल शहर में गुरुवार को खटलापुरा घाट पर गणपति विसर्जन के दौरान एक बड़ा हादसा हो गया। नाव हादसे में अब तक 11 लोगों के शव निकाल लिए गए हैं। बताया जा रहा है कि गणपति की मूर्ति विसर्जन के लिए नाव पर 19 लोग सवार थे।

गणेश विर्सजन के दौरान नाव हादसे पर सख्त सरकार, अब तक 11 शव बरामद, CM कमलनाथ ने जताया शोक, मजिस्ट्रियल जांच के आदेश

मध्य प्रदेश के भोपाल शहर में गुरुवार को खटलापुरा घाट पर गणपति विसर्जन के दौरान एक बड़ा हादसा हो गया। नाव हादसे में अब तक 11 लोगों के शव निकाल लिए गए हैं। बताया जा रहा है कि गणपति की मूर्ति विसर्जन के लिए नाव पर 19 लोग सवार थे। मारे गए लोग पिपलानी के 100 क्वार्टर के रहने वाले थे। मौके पर एसडीआरएफ की टीम, गोताखोर और पुलिस की टीम मौजूद है। वहीं सरकार ने मृतकों के परिवार को 11-11 लाख मुआवज़ा देने का एलान किया है।



बताया जाता है कि ये सभी नाव पर सवार थे और भारी बारिश के कारण खटलापुरा तालाब में भी बाढ़ का पानी पूरा भरा हुआ है। यहीं पर गणेश विसर्जन के दौरान संतुलन खो जाने की वजह से ये हादसा हो गया। कुछ लोग नाव पर सवार होकर खटलापुरा के बीचों बीच भगवान गणेश की प्रतिमा विसर्जन करने के लिए गए थे। उसी दौरान नाव पलट गई और ये हादसा हो गया।


नाव पर कुल 19 लोग सवार थे। भगवान गणेश की बड़ी सी प्रतिमा को क्रेन की मदद से तालाब में विसर्जन करने जा रहे थे। नाव पर बैठकर क्रेन के सहारे प्रतिमा को तालाब के बीचों बीच ले जाने के दौरान ही नाव का संतुलन बिगड़ गया और फिर नाव पलट गई।


सीएम ने दिए मजिस्ट्रियल जांच के आदेश

वहीं नाव हादसे प्रदेश सरकार ने सख्त रूख अपना लिया है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भोपाल के खटला पुरा घाट पर गणेश विसर्जन के दौरान हुए नाव हादसे को बेहद दुखद बताते हुए मजिस्ट्रियल जांच के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि दुःख की इस घड़ी में सरकार हर पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है। उनकी हर संभव मदद की जायेगी। प्रत्येक मृतक के परिजनों को सरकार की तरफ़ से 4-4 लाख मुआवजा देने के निर्देश जारी किये हैं। उन्होंने कहा कि घटना की जांच में जिसकी भी लापरवाही सामने आयेगी, उसे बख़्शा नहीं जायेगा।

जांच करेंगे कहा रह गई कमी

जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने खटलापुरा पहुंचे। भोपाल में नाव के पलटने से 11 लोगों की मौत पर मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। जिला कलेक्टर द्वारा मृतकों के परिवारों के लिए 4 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की गई है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। पता किया जाएगा कि घटना कैसे हुई समस्त व्यवस्थाओं के बावजूद कहां कमी रह गई। उन सब तथ्यों का पता लगाया जाएगा और जो भी दोषी पाया जाएगा उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी ताकि भविष्य में इस प्रकार की घटनाओं को रोका जा सकें।। शर्मा ने बताया कि 6 लोगों को रेस्क्यू कर निकाल लिया गया है। राहत एवं बचाव कार्य लगातार जारी है।

पूर्व सीएम शिवराज ने जताया दुख

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी इस हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, इस भीषण दुर्घटना में हताहत हुए लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं और ईश्वर से दिवंगत आत्मा को शांति देने और परिजनों को इस गहन दुःख को सहने की शक्ति देने की प्रार्थना करता हूं।

हादसा का ये था बड़ा कारण

क्षमता से अधिक लोग नाव में सवार

दो नाव एक साथ जोड़कर बैठे थे सभी

किसी ने नही पहनी थी लाइफ जैकेट

सुरक्षा में नहीं तैनात थे गार्ड

मृतकों के नाम व पते:-

1- परवेज़ पिता सईद खान उम्र 15 साल निवासी 100 क्वाटर पिपलानी।

2- रोहित मौर्य पिता नंदू मौर्य उम्र 30 साल निवासी 100 क्वाटर पिपलानी।

3- करण उम्र 16 साल निवासी 100 क्वाटर पिपलानी।

4- हर्ष उम्र 20 साल निवासी 100 क्वाटर पिपलानी।

5-सन्नी ठाकरे पिता नारायण ठाकरे उम्र 22 साल निवासी 100 क्वाटर पिपलानी।

6- राहुल वर्मा पिता मुन्ना वर्मा उम्र 30 साल निवासी 100 क्वाटर पिपलानी।

7- विक्की पिता रामनाथ उम्र 28 साल निवासी 100 क्वाटर पिपलानी।

8-विशाल पिता राजू उम्र 22 साल निवासी 100 क्वाटर पिपलानी।

9-अर्जुन शर्मा पिता उम्र 18 साल निवासी 100 क्वाटर पिपलानी।

10-राहुल मिश्रा पिता उम्र 20 साल निवासी 100 क्वाटर पिपलानी।

11- करण पिता पन्नालाल उम्र 26 साल निवासी 100 क्वाटर पिपलानी।

दो नावों में 23 लोग सवार थे

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, दो नावें आपस में जुड़ी थीं, इन पर 22-23 लोग सवार थे। सभी लोग 27-28 साल उम्र के थे। कोई भी लाइफ जैकेट नहीं पहने हुआ था। एक नाव पलटी तो लोग दूसरी पर कूद गए। इस वजह से संतुलन बिगड़ गया।

Next Story
Share it
Top